Gehlot's target on Sangh, 'Don't do politics by staying behind the curtain, let it merge with BJP'
जयपुर राजस्थान

संघ पर गहलोत का निशाना, ‘पर्दे के पीछे रहकर राजनीति नहीं करें बीजेपी में मर्ज हो जाए’

जयपुर।मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक बार फिर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ आरक्षण पर निशाना साधा है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि आरएसएस को पर्दे के पीछे रहकर राजनीति बंद करनी चाहिए और उसे बीजेपी में मर्ज हो जाना चाहिए।

मुख्यमंत्री गहलोत ने आज उदयपुर में कांग्रेस सेवा दल की गौरव यात्रा के दौरान मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि संघ को एक राजनीतिक पार्टी बन जाना चाहिए क्योंकि पर्दे के पीछे रहकर आरएसएस बीजेपी को चुनाव जिताने में मदद मदद करती है और फिर हिंदुत्व के नाम पर देश में माहौल खराब करने का काम करते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि ध्रुवीकरण से अगर चुनाव जीतने लगेंगे तो देश कमजोर हो गया मजबूत होगा यह देशवासियों को सोचना चाहिए।

सीएम गहलोत ने कहा कि आज जो कुछ हो रहा है उससे कुछ लोग खुश हो सकते हैं लेकिन आने वाले वक्त में उनके लिए भी अच्छा नहीं होगा। मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि कांग्रेस में विचारधारा के आधार पर दमखम है, आज भी कांग्रेस सत्ता में नहीं है कोई बात नहीं है लेकिन कांग्रेस की जो विचारधारा है वह महात्मा गांधी की विचारधारा है और इसी विचारधारा के आधार पर देश का संविधान बना।

मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि यह लोग ना महात्मा गांधी को मानते हैं ना डॉक्टर अंबेडकर को मानते हो ना ही सरदार पटेल को मानते हैं बल्कि यह केवल इनके नाम का उपयोग अपने फायदे के लिए करते हैं। जबकि सरदार पटेल ने तो आरएसएस पर प्रतिबंध लगाया था और आरएसएस ने लिखित में दिया था कि हम जिंदगी में कभी राजनीति में भाग नहीं लेंगे हम सिर्फ सांस्कृतिक कार्यक्रम करेंगे समाज के काम करेंगे।

आरएसएस को चाहिए अगर वास्तव में यह हिंदू की बात करते हैं तो आज हिंदू भी संकट के अंदर है आज दलित के साथ छुआछूत हो रहा है घोड़ी से उतार दिया जाता है जिन्हें घोड़ी से उतारा जाता है वह भी हिंदू हैं और जो घोड़ी से उतार रहे हैं वह भी हिंदू हैं। इसके लिए आर एस एस के कार्यकर्ताओं को घर घर जाकर प्रेम सद्भावना और अहिंसा का संदेश सभी जातियों को देना चाहिए।

सभी के साथ से बनेगा अखंड भारत

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के अखंड भारत के बयान पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि अखंड भारत तब बनेगा, जब इस देश में रहने वाला हर जाति हर वर्ग हर धर्म का व्यक्ति हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई, पारसी, जैन जो भी है यहूदी वह सब इस देश के नागरिक हैं और हमें उन सब को मजबूती देनी है प्रेम और भाईचारा सिखाना है यह काम होगा तब देश अखंड भारत बनेगा।

बुलडोजर पर यूपी और मध्य प्रदेश में कंपटीशन

मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि बुलडोजर को लेकर उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के बीच कंपटीशन चल रहा है। यूपी में चुनाव जीतने के बाद इनमें घमंड आ गया है और हर जगह बुलडोजर का संदेश दे रहे हैं, निर्दोष लोगों के घरों को बुलडोजर से तोड़ा जा रहा है। यह अधिकार तो किसी के पास नहीं है यह अधिकार केवल कोर्ट के पास फिर कोर्ट के आदेश पर ही बुलडोजर चला सकता है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि जब कोई दंगा होता है तो बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण होता है उसकी निंदा होनी चाहिए,अगर कोई दंगे का दोषी है तो जरूर नहीं उसके घर पर बुलडोजर चलाया जाए।

5 साल से प्रधानमंत्री के मुंह पर ताला

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि देश में आज अशांति और तनाव का माहौल है। हिंसा का माहौल है, प्रधानमंत्री को चाहिए कि वह राष्ट्र के नाम संदेश जारी करें और जो लोग हिंसा कर रहे हैं उनकी निंदा करें चाहे वह किसी भी धर्म और मजहब के हो। प्रधानमंत्री ने एक बार लिंचिंग को लेकर कहा था कि यह सोशल एलिमेंट है लेकिन उसके बाद पूरे 5 साल हो गए प्रधानमंत्री के मुंह पर ताला लगा हुआ है अगर प्रधानमंत्री बोलेंगे तो हिंसा रुकेगी लेकिन लगता है कि प्रधानमंत्री पर भी दबाव बना हुआ है इसलिए उन्होंने इस पर बोलना बंद कर दिया है लेकिन मैं फिर से प्रधानमंत्री से अपील करता हूं कि वह राष्ट्र के लोगों को आह्वान करें कि हिंसा बर्दाश्त नहीं की जाएगी।कानून का राज रहेगा, जहां हिंसा होगी उसकी निंदा करेंगे और सख्त कार्रवाई करेंगे।

Sameer Ur Rehman
Editor - Dainik Reporters http://www.dainikreporters.com/