Gehlot said on Maharashtra political crisis BJP is promoting horse trading, inauspicious sign for democracy
जयपुर राजस्थान

महाराष्ट्र सियासी संकट पर बोले गहलोत: हॉर्स ट्रेडिंग को बढ़ावा दे रही है बीजेपी, लोकतंत्र के लिए अशुभ संकेत

जयपुर। महाराष्ट्र में चल रहे सियासी संकट पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का बड़ा बयान सामने आया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने महाराष्ट्र में चल रहे सियासी संकट के लिए बीजेपी को जिम्मेदार ठहराया है। सीएम गहलोत ने कहा कि बीजेपी देश में हॉर्स ट्रेडिंग को बढ़ावा दे रही है, सीएम गहलोत ने आज सीकर के लक्ष्मणगढ़ में मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि बीजेपी ने पहले मध्य प्रदेश, राजस्थान और महाराष्ट्र में हॉर्स ट्रेडिंग करके सरकार गिराने का प्रयास किया है। यह शुभ संकेत नहीं है बल्कि लोकतंत्र के लिए एक अशुभ संकेत है। सीएम गहलोत ने कहा कि देश की जनता को समझना चाहिए क्योंकि जनता ही लोकतंत्र में सरकार बनाती और बिगाड़ती है।

सीएम गहलोत ने कहा कि आज देश में बीजेपी हिंदुत्व के नाम पर राजनीति कर रही है और हिंदुत्व के नाम पर लोग उसे सपोर्ट भी कर रहे हैं लेकिन यह भी देश के लिए शुभ संकेत नहीं है। आज बेरोजगारी और अर्थव्यवस्था जैसे बड़े मुद्दे हैं, अर्थव्यवस्था गर्त में जा रही है लेकिन बीजेपी हिंदू-मुस्लिम करके देश में मुख्य मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाने का काम कर रही है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आरोप लगाया कि केंद्र की बीजेपी सरकार ईडी, सीबीआई और इनकम टैक्स जैसी एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है और विपक्ष के नेताओं की आवाज दबाने का काम कर रही है।

अग्निपथ पर होनी चाहिए संसद में बहस

सीएम गहलोत ने कहा कि बीजेपी सेना के नाम पर भी राजनीति कर रही है। सेना भर्ती में केंद्र की मोदी सरकार ने बिना किसी से बात किए अग्निपथ स्कीम ले आई। न तो इसमें पूर्व सेना के अधिकारियों से बात की गई और ना ही विशेषज्ञों से बात की गई जबकि अग्निपथ स्कीम को लेकर संसद में बहस होनी चाहिए थी। सबसे राय मशवरा लेकर ही स्कीम को लाना चाहिए था और उसके बाद इसे लागू करना चाहिए था।
कई सेना विशेषज्ञों ने भी इस स्कीम को लेकर सवाल खड़े किए हैं।

ईआरसीपी को लेकर लोगों में आक्रोश

सीएम गहलोत ने कहा कि ईस्टर्न कैनाल परियोजना को लेकर केंद्रीय जल संसाधन मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत लगातार झूठ बोल रहे हैं,जिससे इस परियोजना के तहत आने वाले 13 जिलों के लोगों में खासा आक्रोश है। 13 जिलों के लोग चुनाव में बीजेपी को साफ कर देंगे। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा था कि अगर प्रधानमंत्री ने इआरसीपी के मुद्दे पर एक भी शब्द कहा हो तो वह अपनी राजनीति छोड़ देंगे, सीएम गहलोत ने कहा कि जनता इंतजार कर रही है कि गजेंद्र सिंह शेखावत राजनीति कब छोड़ेंगे? सीएम गहलोत ने कहा कि ईआरसीबी एक बड़ी महत्वकांक्षी योजना है।यह हमारे समय की नहीं बल्कि वसुंधरा राजे के समय की योजना थी, लेकिन हमने इस योजना को बंद नहीं किया बल्कि आगे बढ़ाया, जबकि हमारे समय की कई योजनाओं को वसुंधरा सरकार ने बंद कर दिया था। उन्होंने कहा कि केंद्र के सहयोग के नहीं मिलने के बावजूद हमने ईआरसीपी के लिए 9000 करोड़ स्टेट फंड में रखे हैं।

गजेंद्र सिंह शेखावत को वॉइस सैंपल देने में क्या तकलीफ

केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत को एसीबी की ओर से वॉइस सैंपल देने के लिए नोटिस तामिल करने के सवाल पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि कानून अपना काम कर रहा है। गजेंद्र सिंह शेखावत को वॉइस सैंपल देने में तकलीफ क्या है।
वह खुद दिल्ली की कोर्ट में स्वीकार कर चुके हैं कि वॉइस उनकी है और इससे यह भी साबित हो चुका है कि गजेंद्र सिंह शेखावत सरकार गिराने की साजिश में मुख्य सूत्रधार थे। सीएम गहलोत ने कहा कि गजेंद्र सिंह शेखावत ने अभी हाल ही में सचिन पायलट का नाम लिखकर कहा है कि उन्होंने चूक कर दी, इससे यह साबित हो गया की शेखावत सरकार गिराने की साजिश में शामिल थे।

Sameer Ur Rehman
Editor - Dainik Reporters http://www.dainikreporters.com/