जयपुर राजस्थान

राजीव गांधी खेल रत्न बंद करने पर भड़के गहलोत, कहा- ‘खेलों में राजनीति नहीं होनी चाहिए’

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजीव गांधी खेल रत्न अवार्ड बंद करने को लेकर केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है।मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राजीव गांधी खेल रत्न अवॉर्ड बंद करना समझ से परे है। पता नहीं केंद्र सरकार ने क्या सोचकर यह फैसला लिया है,साथ ही सीएम ने यह भी कहा कि राजस्थान में राजीव गांधी खेल रत्न अवॉर्ड फिर से शुरू किया जाएगा।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज एसएमएम स्टेडियम में खिलाड़ियों के लिए कई सौगातें और सम्मान कार्यक्रम के दौरान संबोधित करते हुए कहा कि राजीव गांधी मैं हमेशा खेलों को बढ़ावा दिया था। वह देश के प्रधानमंत्री और भारत रत्न रहे हैं अगर उनके नाम पर शुरू की गई किसी योजना को बंद किया जाता है तो यह दुर्भाग्यपूर्ण है।

सरकार बदलते ही हमारी योजनाओं को बंद कर देती है बीजेपी सरकार

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राजस्थान में हमने कभी भी बीजेपी सरकार के समय की योजनाओं को बंद नहीं किया,क्योंकि इसमें समय खराब होता है। काम आगे बढ़ना चाहिए लेकिन जैसे ही हमारी सरकार जाती है और बीजेपी की सरकार आती है तो फिर हमारी सरकार की योजनाओं को बंद कर दिया जाता है।

यह परंपराएं ठीक नहीं है,अगर बीजेपी सरकार के समय की योजनाओं को हम बंद करें और हमारे समय की योजनाओं को बीजेपी बंद करें तो इस तरह की परंपरा का राजनीति में ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि बाड़मेर में रिफाइनरी का प्रोजेक्ट हमारे समय में लगाया गया लेकिन जैसे ही सरकार बदली बीजेपी ने 5 साल के लिए इस प्रोजेक्ट को बंद कर दिया।हमारे समय में रिफाइनरी का प्रोजेक्ट 40 हज़ार करोड़ रुपए का था जो 5 साल के बाद 70 हजार करोड़ का हो गया।

खिलाड़ियों को भी देंगे पेंशन

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने खिलाड़ियों के भविष्य पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि कई खिलाड़ियों को अपने भविष्य को लेकर चिंता है और सरकार को भी इसकी चिंता है।।इसीलिए हम खिलाड़ियों को भी पेंशन देने पर विचार कर रहे हैं। हालांकि सबको तो पेंशन देना संभव नहीं है लेकिन क्राइटेरिया बनाएंगे और उसके आधार पर तय करेंगे।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि हमने पैरा ओलंपिक खिलाड़ियों को भी कैबिनेट की बैठक में इंदिरा गांधी नहर क्षेत्र में 25 बीघा खेती की जमीन देने का फैसला लिया है।

ग्रामीण ओलंपिक का आयोजन करने वाला राजस्थान देश का पहला राज्य

गहलोत ने कहा कि ग्रामीण ओलंपिक का आयोजन करने वाला राजस्थान देश का पहला राज्य है जिसमें लाखों लोग गांव- कस्बों ढाणियों कबड्डी, खो-खो, वॉलीबॉल और कई तरह के खेल खेलेंगे। इससे एक अच्छा संदेश खेलों के प्रति जाएगा। लोगों को खेल के प्रति प्रोत्साहन भी मिलेगा।सीएम गहलोत ने कहा कि हमारी सरकार की ओर से प्रयास किए गए है कि हर ब्लॉक स्तर पर खेलों के मैदान बनाए जाए।विधायकों की तरफ से भी इस तरह के प्रस्ताव आ रहे हैं। खेलों के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर मजबूत होगा।

खिलाडियों से मुख्यमंत्री ने किया संवाद
इससे पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कार्यक्रम के दौरान खिलाड़ियों से संवाद किया। और उनसे खेलो और उनके भविष्य को लेकर भी सवाल जवाब किए।

खिलाडियों को दी गई सौगातें

वही मुख्यमंत्री सोडियम में खिलाड़ियों को एसएमएस स्टेडियम में खिलाड़ियों को कई सौगाते दी। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बैडमिंटन हॉल, हाई परफॉर्मेंस स्पोर्ट्स एंड ट्रेनिंग सेंटर का भी लोकार्पण और उद्घाटन किया।

Sameer Ur Rehman
Editor - Dainik Reporters http://www.dainikreporters.com/