Education Department - Quality education, focus on timely recruitment, laxity in work and complaints are not tolerated - Director Aggarwal
बीकानेर राजस्थान

शिक्षा विभाग – निदेशक गौरव अग्रवाल ने दिए अधिकारियों को यह सख्त दिशा निर्देश,दैनिक रिपोर्टर्स डॉट कॉम की खबर का असर

बीकानेर/ राजस्थान माध्यमिक शिक्षा निदेशालय के निदेशक गौरव अग्रवाल ने आज प्रदेश के सभी शिक्षा अधिकारियों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रदेश में बालिकाओं के विद्यालयों से ड्रॉपआउट को गंभीर स्थिति मांगते हुए उसे अगले शैक्षणिक सत्र से रोकने तथा शाला सबंलन मैं कोताही को भी गंभीर माना साथ ही कार्यालय में 3 वर्ष से अधिक एक ही प्रभार में लगे कार्मिकों का प्रभार परिवर्तन करने और अन्य कार्य में प्रतिनियुक्ति पर लगे विभाग के कर्मचारियों को तत्काल कार्यमुक्त कर मूल विभाग में कार्य ग्रहण कराने सहित कई बिंदुओं पर चर्चा करते हुए सत्य दिशा निर्देश जारी करके पालना करने को कहा।

निदेशक गौरव अग्रवाल आईएएस में आज प्रदेश के सभी जिला शिक्षा अधिकारियों जिसमें संयुक्त निदेशक संभाग सभी मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी तथा डीयू मुख्यालय माध्यमिक एवं प्रारंभिक के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करते हुए बैठक ली इस बैठक के बाद निदेशक अग्रवाल ने सभी संभाग के संयुक्त निदेशक स्कूल शिक्षा और मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी को 11 बिंदुओं पर दिशा निर्देश जारी करते हैं उसे तत्काल पालना करने की हिदायत दी।

1– 5000 से अधिक आबादी वाले गांव कस्बों में शेष है महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यमिक विद्यालय के प्रस्ताव 5 दिन में निदेशालय भेजने तथा इसी प्रकार से शहरि UCEEO क्षेत्रों में मुक्त विद्यालय को खोलने के प्रस्ताव भी भेजें तथा दोपहरी विद्यालय संचालित हो ना हो तो उसके प्रस्ताव भेजने के निर्देश दिए।
2– प्रदेश मैं 1000 बाल वाटिका खोली जानी है जिले को आवंटित बाल वाटिका ओं का कि चिन्हीकरण कर सूचना निदेशालय को भेजने के निर्देश ।
3– महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यमिक विद्यालयों में रिक्त पदों पर साक्षात्कार 19 मई से 25 मई के मध्य आयोजित करने के निर्देश निदेशालय द्वारा जारी हो जाएंगे।
4– विद्यालयों में अतिरिक्त विषय संचालित करने के प्रस्ताव प्रत्येक जिले से 15 -15 प्रस्ताव 5 दिन में निदेशालय को भेजें
5– शिक्षा विभाग के कर्मचारी जो अन्य विभागों में कार्य व्यवस्था अर्थ चुनाव कार्यों को छोड़कर लगे हैं तथा जिनका वेतन शिक्षा विभाग से आहरित किया जा रहा है उन्हें तत्काल उस विभाग से कार्यमुक्त करवा कर कार्य ग्रहण कराएं।
6– कार्यालयों में 3 वर्ष से अधिक एक ही प्रभार में लगे कार्मिकों का प्रभार परिवर्तन कर पालना रिपोर्ट तत्काल निदेशालय को भेजें

7– विद्यार्थियों के जनाधार सत्यापन का कार्य पूर्ण है जिसे इस माह के अंत तक अनिवार्य रूप से पूर्ण करें

8– आगामी सत्र 2022-2023 हेतु प्रवेशोत्सव दो चरणों में आयोजित करना है जिसमें नामांकन बढ़ाने के साथ-साथ बालिका प्रवेश पर मुख्य रूप से प्रयास करें विद्यालय से बालिकाओं का ड्रॉपआउट अधिक है इस ड्रॉपआउट को रोकना ऐसी बालिकाओं के प्रवेश के लिए सार्थक प्रयास करें।
9- हर जिले में बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालयों के क्रमोन्नति प्रस्ताव 5 दिन में निदेशालय को भेजें।
10–पीईईओ स्तर पर शाला सबंलन का कार्य लक्ष्य से काफी कम है सत्र के प्रारंभ से ही पी ई ई ओ लक्ष्य की प्राप्ति माहवार गुणवत्ता पूर्ण करें।
11– मुख्यमंत्री हमारी बेटी योजना के आवेदन प्रक्रिया सक्षम स्तर से पूर्ण करवा कर भेजें।

विदित है कि कार्यालयों में 3 साल से अधिक एक ही प्रभार में लगे कार्मिकों अधिकारियों का प्रभार परिवर्तन करने को लेकर एसीएस शिक्षा पवन गोयल द्वारा 11 अप्रैल को आदेश जारी किए गए थे इसी को लेकर कल दैनिक रिपोर्टर डॉट कॉम ने इस संबंध में एक विस्तृत खबर प्रसारित की थी जिसको आज गंभीरता से लेते हुए शिक्षा निदेशक गौरव अग्रवाल ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए स्पष्ट निर्देश दिए।

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम