शिक्षा विभाग – व्याख्याता और प्रिंसिपल के तबादले 25 बाद , कवायद शुरू, शिविर 20 से ?

Dr. CHETAN THATHERA

जयपुर/ बीकानेर/ राजस्थान में जालौर सरकार द्वारा तबादलों से रोक हटाने के बाद अब प्रदेश में तबादलों का दौर शुरू होने वाला है इन तबादलों को दूर में सर्वाधिक तबादले शिक्षा विभाग और चिकित्सा विभाग में होंगे शिक्षा विभाग में तबादलों की पहली सूची 25 जून के बाद आने की संभावना है।

सरकार द्वारा शिक्षा विभाग में तबादला नीति के अनुसार ही तबादले करनी थी घोषणा पूर्व शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा तथा वर्तमान शिक्षा मंत्री डॉक्टर बी डी कल्ला ने की थी और इस तबादला नीति के लिए कमेटी भी बनाई जा कर नीचे की तैयार की जा चुकी है लेकिन उसे अभी तक अंतिम रूप दिया गया है दूसरी ओर राज्यसभा के चुनाव से पहले ही विधायकों और मंत्रियों का शिक्षकों के तबादले करने का दबाव बनाया गया था और सूत्रों के मुताबिक बाड़े बंदी के दौरान ही इस पर मंथन किया जाकर फिलहाल तबादले तबादला नीति के अनुसार नहीं किए जा कर सरकार के निर्देश पर तबादले किए जाने की संभावना अधिक पड़ गई है।

तबादलों के लिए हर बार की तरह सरकार द्वारा जयपुर में एक शिविर लगाया जाएगा इस बार यह शिविर राज्य पाठ्य पुस्तक मंडल परिसर में नहीं लगाया जाता अन्य जगह लगाने की कवायद चल रही है और इसी के साथ 20 जून से पहले शिक्षा निदेशालय बीकानेर से सेक्शन अर्थात शाखाओं से अधिकारियों और कार्मिकों को जयपुर के लिए रवाना किया जा सकता है और 20 जून से यह शिविर शुरू हो सकते हैं। सूत्रों के अनुसार बादलों पर शिविर मैं मंथन के साथ ही पूर्व परिपाटी की तरह शिक्षा मंत्री डॉ बिल्ली काला कि एक निजी टीम भी तबादलों की प्रक्रिया में शामिल होगी शिक्षा मंत्री डॉक्टर कला की एक टीम तबादलों के मार्गदर्शन की कवायद में लग गई है।

विभाग के विश्वस्त सूत्रों के अनुसार विभाग का प्रयास है कि 1 जुलाई से शुरू होने वाले नए शैक्षिक सत्र से पहले तबादले की प्रक्रिया शुरू हो जाए और संभावनाएं जताई जा रही है कि तबादलों की पहली सूची 25 जून के बाद व्याख्याता और प्रिंसिपल की आ सकती है हालांकि जुलाई माह का पूरा महीना तबादलों मैं ही बीतेगा ।

तबादलो मे यह गाइडलाइन हो सकती ?

कैंसर सहित असाध्य और अत्यंत गंभीर बीमारी से पीड़ित शिक्षकों को शहरी क्षेत्र में तबादला किया जाएगा। एकल महिला या विधवा /परित्यक्ता को शहर में तबादला जा सकता है ? एक समय सीमा तय की जाएगी कि कितने वर्ष की ग्रामीण सेवा होने पर तबादला किया जा सकता है प्रतिबंधित जिलों से बाहर तबादले के लिए अलग से नियम हो सकते हैं प्रतिबंधित जिलों से बाहर किसी का भी तबादला नहीं होगा सिर्फ रिक्त पदों पर ही तबादले हो सकते हैं अन्यथा अदला-बदली करते हुए एक दूसरे की जगह तबादला किया जा सकता है लंबे समय से शहर में बर्फ की तरह जमीन शिक्षकों को इस बार तबादलों में गांव की ओर रुख करना पड़ सकता है किसे भी महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम विद्यालय में बिना साक्षात्कार के तबादले नहीं होंगे

Share This Article
Follow:
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम