देश को तरक्की की राह पर ले जाने के लिए बेटियों को शिक्षित करना जरूरी:के.के शर्मा

tonk
नगर परिषद सभागार में महिला सशक्तिकरण कार्यक्रम को संबोधित करते
Tonk News : राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के उपलक्ष्य में गांधी सप्ताह (Gandhi week) की श्रृंखला में गुरूवार को नगर परिषद सभागार में महिला सशक्तिकरण(women empowerment) के तहत कई कार्यक्रम हुए। महिला अधिकारिता विभाग एवं राजीविका स्वयं सहायता समूह की ओर से वन ब्लॉक वन प्रोडक्ट की प्रदर्शनी एवं केस स्टडी के माध्यम इससे जुडी महिलाओं ने अपने जीवन में आए बदलाव को लेकर सफलता की कहानी सुनाई।
इस अवसर पर जिला कलेक्टर के.के.शर्मा(District Collector KK Sharma) ने कहा कि स्वयं सहायता समूह से जुडी महिलाओं के जीवन में आए बदलाव निश्चित रूप से प्रेरणादायी है। देश को तरक्की की राह पर ले जाने के लिए बेटियों को षिक्षित करना जरूरी है। तभी आने वाली पीढियों का समग्र विकास हो पाएगा। जिला कलेक्टर ने कहा कि वन ब्लॉक वन प्रोडक्ट का कॉनसेप्ट स्वयं सहायता समूह के लिए बेहतर है,परन्तु इसमें निर्मित प्रोडक्ट की मार्केटिंग होना बेहद जरूरी है। इसके लिए उन्होंने कार्य योजना तैयार करने के मुख्य कार्यकारी अधिकारी नवनीत कुमार को निर्देश दिए। साथ ही महिला अधिकारिता विभाग एवं राजीविका को महिलाओं से जुडी योजनाओं की बेहतर क्रियान्विति कर जिले को पहले पायदान पर लाने के प्रयास करने के निर्देश दिये। मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने राजीवीका के कार्यो की संक्षिप्त जानकारी दी।
उन्होंने कहा कि स्वयं सहायता समूह का गठन छोटी-छोटी बचत के सिद्धांत पर कार्य करता है। ग्रामीण क्षेत्र के विद्यालयों में बच्चों के ड्रॉप आउट केस न हो इसके लिए हमे सभी को प्रयास करने की जरूरत है। महात्मा गांधी जीवन दर्षन समिति के संयोजक अनुराग गौतम ने दो पंक्तियों के साथ नारी षक्ति को नमन करते हुए कहा कि नारी कल भी भारी थी,आज भी भारी है,समस्त समाज आपका आभारी है। कलन्दर समाज की रूखसाना ने अपने जीवन के संघर्षो के बारे में बताते हुए कहा कि मैंने अपने समाज की महिलाओं को जोडकर स्वयं सहायता समूह बनाए है। जिससे आज समाज की कई महिलाओं का सशक्तिकरण हो पाया है।
इसी तरह निवाई में क्लस्टर मैनेजर के रूप में कार्य कर रही निर्मला जोशी ने अपनी जुबानी स्वयं सहायता समूह में कार्य करने के बाद उसके जीवन में आए बदलाव के अनुभव शेयर किए। करेडा बुजुर्ग की डीआरसी मैनेजर सीमा जांगीड ने बताया कि विपरित परिस्थितियों से लडते हुए वह आज आर्थिक रूप से खुद भी सशक्त है और दूसरी महिलाओं को भी स्वयं सहायता समूह से जोडकर सशक्त बना रही है। एक्षन एड-यूनिसेफ के जिला समन्वयक जहीर आलम ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जीवन से संबंधित पीपीटी प्रस्तुत की साथ ही मंच संचालन किया।
इससे पूर्व महिला अधिकारिता विभाग के उप निदेशक रामावतार शर्मा ने आगन्तुक अतिथियों का सम्मान किया और स्वागत भाषण के माध्यम से कार्यक्रम की रूपरेखा प्रस्तुत की। महिला पर्यवेक्षक शगुफ्ता खान ने विभाग की योजनाओ को लेकर क्विज प्रतियोगिता की। कार्यक्रम के अन्त में उपखण्ड अधिकारी सी.एल.शर्मा ने आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम में जिला उद्योग केन्द्र के महाप्रबन्धक शैलेन्द्र शर्मा,सीडीपीओ ओम प्रकाश सैनी सहित आंगनबाडी कार्यकर्ता एवं राजीविका के स्वयं सहायता समूह से जुडी महिलाऐं मौजूद थी।