bisalpur_today
टोंक राजस्थान

बीसलपुर बांध में पानी की आवक त्रिवेणी का गेज कम होने के कारण गेट खुलने पर संशय ,कब खुलेंगे

टोंक । बीसलपुर बांध में लगातार पानी की आवक बनी हुई, परन्तु त्रिवेणी का गेज कम होने के कारण बांध में पानी की आवक धीमी होने से भराव क्षमता 315.50 आरएलमीटर को पार करने की स्थिति धीरे-धीरे आगे बढ़ रही है। बांध के जलग्रहण क्षेत्र में बारिश का दौर नही चलने के कारण बीसलपुर बांध के गेज 315.50 आरएलमीटर पानी की आवक होने के बाद ही खोले जाएंगे। 

बीसलपुर बांध में पानी की आवक त्रिवेणी का गेज कम होने के कारण बुधवार को शाम 6 बजे 315.14 आरएलमीटर के बाद रात्रि 8 बजे 315.08, रात्रि 10 बजे 315.22, गुरुवार को सुुबह 6 बजे 315.32, दोपहर 12 बजे 315.38, दोपहर 2 बजे 315.40 आरएलमीटर पहुुंच गया। दोपहर 2 बजे त्रिवेणी 3.90 चल रही थी।दोपहर 4 बजे 315.41 आरएलमीटर पहुुंच गया। दोपहर 4 बजे त्रिवेणी 3.90 चल रही थी।

जयपुर,अजमेर ओर टोंक जिले की लगभग एक करोड़ की आबादी को पेयजल उपलब्ध कराने वाले बीसलपुर बांध पर इस बार 52 दिन से खुशियों का मानसून छाया हुआ है।

सोमवार सुबह बांध का जल स्तर 313 आरएल मीटर को पार कर गया। बांध का जल स्तर अब 313.2 आरएल मीटर हो गया है। बांध को भरने वाली त्रिवेणी नदी का जल स्तर भी लगातार बढ़ रहा है और बांध का जल स्तर भी लगातार बढ़ रहा है। अब जल संसाधन विभाग के अधिकारी बांध के छलकने का इंतजार कर रहे हैं।

प्रदेश में 1 जुलाई को जब मानसून सक्रिय हुआ तब बांध का जल स्तर 309.05 आरएल मीटर था। मानसून ने जैसे जैसे रफ्तार पकड़ी वैसे ही बांध में पानी आना शुरू हो गया। बांंध में एक मीटर तक का जल भराव कैचमैंट एरिया में पूरे जुलाई माह में हुई बारिश से ही आ गया।

इसके बाद त्रिवेणी नदी से पानी की आवक शुरू हुई और बांध में पानी की आवक ने रफ्तार पकड़ी। अब बांध में अब तक तीन मीटर पानी आ गया है। जल संसाधन विभाग के अधिकारियों के अनुसार यह 15 टीएमसी पानी के बराबर है।

जल संसाधन विभाग के अधिकारियों के अनुसार त्रिवेणी नदी बीते दो सप्ताह से लगातार बह रही है। इससे बांध के जल स्तर में लगातार इजाफा हो रहा है। बांध पर तैनात अधिकारियों के अनुसार अब अगर भीलवाड़ा में झमाझम बारिश होती है तो बांध में पानी की आवक फिर से शुरू हो जाएगी और बांध के तीन वर्ष बाद फिर छलकने की उम्मीद बन जाएगी।

बीसलपुर बांध की कुल भराव क्षमता के अब तक बांध में 3 मीटर पानी आ गया है। इस बार टोंक जिले के किसानों को सिचाई के लिए भी पर्याप्त पानी मिलेगा।

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम