District Collector Alok Ranjan submitted a memorandum to the Chief Minister regarding the demand of women's housing
भरतपुर राजस्थान

महिलाएं आवास की मांग को लेकर जिला कलक्टर आलोक रंजन को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौपा

भरतपुर / राजेन्द्र शर्मा जती। भरतपुर में आज आवासहीन जन संघर्ष समिति भरतपुर के कामरेट नत्थीलाल जिला संयोजक के नेतृत्व में भारी  संख्या में महिलाएं आवास की मांग को लेकर जिला कलक्टेªट में पहुची जहां जिला कलक्टर आलोक रंजन को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौपा।

इस अवसर पर आई महिलाओं का दर्ज छलक उठा और मीडिया को बताते हुए कहा कि मुख्यमंत्री गहलोत द्वारा हाल ही में सभी महिलाओं को मोबाईल देने की घोषणा की है लेकिन हमें मोबाईल नही चाहिए हम कई वर्षो से किराए के मकान में रह रहे है। इस मंहगाई के जमाने में कम पैसों में गुजारा करना कठिन हो रहा है दो वक्त की रोजी रोटी का इंतजाम बेमुस्किल से हो पाता है।हमें मोबाईल नही चाहिए हमें हमारे लिए मकान दिए जाए।

आनंद नगर निवासी महिला लजना ने बताया पिछले 40 साल से हम किराए के मकान में रह रहे है हमपर रहने को घर नही है ढंग का रोजगार नही है बेलदार करने जाते है पेंशन भी नही है । किसी तरह से गुजर बसर कर रहे है लेकिन इस महंगाई के जमाने में गुजर बसर नही हो पाता है । आनंद नगर निवासी बबीता ने बताया कि मकान के लिए आए है हम 20 साल हो गए हम किराए के मकान  में रहते रहते पिछले साल भी अशोक गहलोत द्वारा कहा गया था मकान देने के लिए 2022 में सभी को मकान उपलब्ध कराए जाएंगे हमें मकान चाहिए मोबाईल नही ।  

इस अवसर पर आवासहीन जन संघर्ष समिति संयोजक नत्थी सिंह कोमरेड ने बताया कि पिछले दिनों आवासहीन जन संघर्ष समिति भरतपुर द्वारा गरीबों सहित आमजन की ज्वलंत समस्याओं के समाधान के लिए 13 जुलाई, 26 जुलाई और 12 अगस्त 2021 के पत्रों के द्वारा प्रदर्शन कर लिखित कार्रवाई की जाती रही है लेकिन अभी तक  हमारी समस्या का समाधान नही हो पाया।  दूसरी ओर इस मंहगाई के दौर में आमजन भारी परेशानी के दौर से गुजर रहा है । इस मामले में सभी लोगो में असंतोष बढ़ता जा रहा है। आज 9 मई को इस मामले में सरकार से हमारी समस्याओं पर ध्यान देकर समाधान करें । हमारी मांगे  जिसमें मुख्यमंत्री आवास योजना एवं प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत नगर सुधार न्यास के आवंटन में प्राथमिकता से आवासहीन जन को आवास की व्यवस्था की जावे।

वृद्धों, विधवाओं, विकलांगों आदि सभी की 3000/- रू. तीन हजार रूपये पेंशन की जावे, सभी गरीबों को 10 किलो गेहूँ प्रति यूनिट हर माह फी दिये जायें, बिजली, पानी, घरेलू गैस सहित सभी दैनिक उपभोग की चीजों के भाव कम किये जावें, भरतपुर के मिट्टी के परकोटे पर बसे लोगों को निशुल्क पट्टे दिये जावें। भरतपुर जिले भर में मच्छर, डांस सहित विभिन्न मौसमी कीटों से निजात दिलाने के लिये तुरन्त स्प्रे आदि शुरू किया जावे,  आवारा गाय, सांड, बंदर, कुत्ते आदि को तुरन्त नियंत्रण में लेकर जनता को परेशानी से बचाया जावे, किले के चारों ओर बनी सुजानगंगा नहर जो सैप्टिक टेंक बन गया है जिससे महामारी फैलने  आशंका बनी रहती है। इसे तुरंत साफ करवाकर इसमें चंबल का पानी डाला जाए।

भरतपुर में आम सडकों की माली हालत खराब है जिससे यहां आए दिन लोग दुर्घटनाग्रस्त होते रहते है इसे ठीक कराया जाए। बिजली और पानी की पर भी राहत दी जाए। दो साल से कोरोना के कारण लोगो को रोजगार छिन गया इस बंढती महंगाई में लोग किस तरह अपना जीवन वसर कर रहे है इसके लिए सरकार आमजन को इस मांगों को मानकर कुछ राहत प्रदान करें जिससे आमजन को हो रही परेशानियों से निजात मिल सके। सरकार की चल रही योजनाएं चल रही है वह धरातल पर दिखती नही है इसके लिए आमजन को इन योजनाओं को शीध्र राहत प्रदान करें।

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम