अलवर राजस्थान

दाढ़ी को लेकर अलवर एसपी विवादों में,दाढ़ी नहीं रखने के आदेश लिए वापस

Alwar News / Dainik reporter : अलवर पुलिस अधीक्षक परिस देशमुख की ओर से 9 पुलिसकर्मियों को दाढ़ी रखने की दी गई अनुमति को गुरुवार को निरस्त करने पर उपजे  विवाद के बाद आखिर आदेश शुक्रवार को वापस ले लिए हैं। इस बारे में विशेष समुदाय ने एसपी के आदेश को गलत बताया था और इस आदेश को तुरन्त वापस लेने की मांग की थी। साथ ही इस बारे में सरकार से मांग कर आंदोलन की चेतावनी दी थी।

एसपी के अनुसार अलवर पुलिस जिले में 32 पुलिसकर्मियों को दाढ़ी रखने की अनुमति दी गई थी,लेकिन पिछले दिनों 9 पुलिसकर्मियों को दी गई परमिशन वापस ले ली गई थी। किसी पुलिसकर्मी की ओर से वापस मांग की जाएगी तो उन्हें कंसीडर कर लिया जाएगा।

जिले में कानून-व्यवस्था बनाए रखने और भेदभाव तथा निष्पक्षता को लेकर यह आदेश दिए गए थे। राज्य सरकार के आदेश में विभागाध्यक्ष को आदेश करने के नियम हैं, इसमें व्यथित होने वाली कोई बात नहीं है। अगर इसमें कोई आपत्ति है तो उनकी सुनवाई होगी, जो भी निर्णय होगा, किया जाएगा।

इधर 9 पुलिसकर्मियों को दाढ़ी रखने की अनुमति निरस्त किए जाने के बाद कांस्टेबल छोटे खां ने कहा कि राज्य सरकार जैसा आदेश देगी उसके आधार पर काम करूंगा। उसकी ओर से हज पर जाने के बाद से दाढ़ी रखना शुरू कर दिया था। एसपी से पूर्व में उसने अनुमति लेकर ही दाढ़ी रखना शुरू किया था।

अगर एसपी अनुमति नहीं देंगे तो वह दाढ़ी कटवा लेगा। राज्य सरकार के नियम में प्रावधान है कि एसपी के आदेश लेकर ही दाढ़ी रख सकते हैं। इस बारे में मेव पंचायत के सदर शेर मोहम्मद ने कहा कि एसपी को ये आदेश वापस लेने चाहिए। उन्होंने एसपी के इस फैसले को एक छोटी सोच का बताया।

उधर इस मामले में विवाद उठने के बाद जिला पुलिस अधीक्षक की ओर से शुक्रवार को जारी विज्ञप्ति में बताया गया है कि आदेश क्रमांक 4921 एक प्रशासनिक प्रक्रिया के तहत जारी किया गया था। जिसका उद्देश्य केवल और केवल प्रशासनिक था। उन्होंने बताया कि जिले में कुल 32 पुलिसकर्मियों को स्वीकृति जारी की गई थी, जिसमें से 9 आवेदनों की स्वीकृति प्रशासकीय कारण से निरस्त की गई थी।

liyaquat Ali
Sub Editor @dainikreporters.com, Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.