प्रदेश की तरक्की में निवेश का बड़ा योगदान: मुख्यमंत्री

जयपुर। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा कि किसी भी प्रदेश की तरक्की में निवेश का बड़ा योगदान होता है। जहां जितना अधिक निवेश होता है, वहां रोजगार के उतने ही नए अवसर पैदा होते हैं और उतना ही अधिक विकास होता है। राज्य सरकार ने प्रदेश में निवेश के लिए सकारात्मक माहौल बनाने का हरसम्भव प्रयास किया है, इसी का नतीजा है कि साढे़ चार साल में करीब 13 लाख 50 हजार लोगों को रोजगार के अवसर उपलब्ध हुए हैं। राजे बुधवार को महिंद्रा सेज स्थित जेसीबी की उत्पादन इकाई में 3000वीं मशीन के उत्पादन अवसर पर आयोजित समारोह को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि निवेश आने से न केवल प्रत्यक्ष बल्कि अप्रत्यक्ष रूप से भी रोजगार के बडे़ अवसर पैदा होते हैं। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार विकास में सबकी भागीदारी सुनिश्चित करने में विश्वास करती है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज महिलाएं भी देश की प्रगति और विकास में बराबर की साझीदार हैं। खेल, वित्त, निर्माण, स्वास्थ्य एवं शिक्षा सहित सभी क्षेत्रों में महिलाओं ने अपनी प्रतिभा साबित की है। उनकी उपलब्धियों पर हमें गर्व होना चाहिए। उन्होंने जेसीबी में एक चौथाई महिला कार्मिक होने पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि ऐसे प्रयासों से ही महिलाओं का वास्तविक रूप में सशक्तीकरण हो सकता है। उन्होंने महिला कार्मिकों से मुलाकात की और उनके साथ फोटो भी खिंचवाई। राजे ने कहा कि मुझे यह जानकर खुशी हुई कि जेसीबी ‘मेड इन राजस्थान‘ में अपनी प्रभावी भूमिका निभा रही है। कम्पनी 44 एकड़ भूमि में 250 करोड़ रूपए के अतिरिक्त निवेश से प्लांट का विस्तार करने जा रही है। इससे प्रदेश में रोजगार के और अवसर बढ़ेंगे।

जेसीबी ग्रुप के चेयरमैन लॉर्ड बैम्फोर्ड ने कहा कि मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे के दूरदर्शी विजन और कुशल नेतृत्व से राजस्थान विकास के पथ पर तेजी से बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि जेसीबी भारतीय भाषाओं में साहित्य को बढ़ावा देने के लिए साहित्य पुरस्कारों की शुरूआत करेगा और इसे जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल से भी जोड़ा जाएगा।

इस अवसर पर उद्योग मंत्री राजपाल सिंह शेखावत, सांसद रामचरण बोहरा, विधायक कैलाश वर्मा, अतिरिक्त मुख्य सचिव उद्योग राजीव स्वरूप, आयुक्त उद्योग कुंजीलाल मीणा, जेसीबी के ग्रुप सीईओ ग्रेम मेकडोनाल्ड तथा जेसीबी इण्डिया के सीईओ विपिन सोंधी सहित अन्य जनप्रतिनिधि, अधिकारीगण, जेसीबी कम्पनी के प्रतिनिधि एवं कर्मचारी उपस्थित थे।