Big decision of Gehlot government
जयपुर राजस्थान

सीएम गहलोत का बयानः मोदी सरकार का 8 साल का कार्यकाल काला अध्याय, इतिहास में होगा दर्ज

जयपुर। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से ईडी की पूछताछ आज का आज तीसरा दिन है। इस मामले को लेकर देश भर के कांग्रेस नेता केंद्र की मोदी सरकार और भाजपा पर हमलावर हैं। वहीं आज केंद्र की मोदी सरकार को लेकर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक बार फिर बड़ा बयान दिया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार के 8 साल का कार्यकाल इतिहास में काला अध्याय के रूप में दर्ज किया जाएगा। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज एआईसीसी मुख्यालय में मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि जो कुछ भी आज देश में हो रहा है। मैंने अपने 40 साल के राजनीतिक जीवन में ऐसा कभी नहीं देखा। उन्होंने कहा कांग्रेस शासन का 70 साल का इतिहास हमारा स्वर्णिम काल रहा है लेकिन बीजेपी का 8 साल का कार्यकाल इतिहास में काला अध्याय के रूप में लिखा जाएगा।

संविधान और लोकतंत्र खतरे में

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि आज देश में संविधान और लोकतंत्र खतरे में है। संविधान और लोकतंत्र की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। पूरे देश में हिंदू और मुसलमानों के बीच तनाव पैदा कर दिया गया है, गली-गली में तनाव का माहौल है, छोटे-छोटे गांवों में भी लोग एक दूसरे के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं। ऐसा माहौल पूरे देश में बन चुका है। इसलिए राहुल गांधी ने जो लंदन में कहा था कि पूरे देश में पेट्रोल छिड़क दिया गया है, उसके मायने हम सब को समझना चाहिए कि आज देश में क्या स्थिति हो रही है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि रामनवमी के मौके पर 7 राज्यों में दंगे भड़के और अब जुमे की नमाज के बाद दंगे भड़क रहे हैं। ऐसा माहौल बीजेपी और केंद्र की मोदी सरकार ने देश में कर दिया है।

बीजेपी और संघ के लोग भ्रष्टाचार में लिप्त

सीएम गहलोत ने कहा कि आज देश में भ्रष्टाचार कई गुना बढ़ गया है। बीजेपी और संघ के लोग भ्रष्टाचार में लिप्त हैं। हालांकि मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि संघ के कई लोग इमानदार भी हैं लेकिन देश में भ्रष्टाचार की सारी हदें पार हो चुकी हैं और इन बातों से ध्यान हटाने के लिए ही विपक्ष के नेताओं को टारगेट किया जा रहा है। अकेले राहुल गांधी ही देश में एकमात्र ऐसे नेता हैं जो बीजेपी और संघ की विचारधारा से लड़ाई लड़ रहे हैं और उन्हें अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह टारगेट कर रहे हैं।

नेशनल हेराल्ड में कोई प्रॉफिट नहीं

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि 1937 में पंडित नेहरू ने नेशनल हेराल्ड अखबार को शुरू किया था। उस दौरान 5000 फ्रीडम फाइटर ने भी इस अखबार को शुरू किया था। तब अंग्रेजों ने इस अखबार पर पाबंदी भी लगाई थी। नेशनल हेराल्ड का अपना खुद का इतिहास है, इसीलिए हम लोग लगातार सोनिया गांधी से मांग कर रहे थे कि इस अखबार को फिर से खड़ा किया जाए और इस अखबार के लिए जो कानून बनाया गया है उसमें किसी को भी एक रुपए का लाभ नहीं मिलने वाला तो फिर इसमें मनी लॉन्ड्रिंग कहां से आ गई।

कांग्रेस कार्यकर्ताओं को नहीं आने दिया जा रहा है कांग्रेस मुख्यालय

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि देश में ऐसा पहली बार हो रहा है, जब कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं को ही उन्हीं के दफ्तर नहीं आने दिया जा रहा। कांग्रेस के कार्यकर्ताओं और नेताओं को अरेस्ट किया जा रहा है। सीएम गहलोत ने कहा कि दिल्ली में जाम की स्थिति तो दिल्ली पुलिस और केंद्र सरकार ने की है और आरोप कांग्रेस पार्टी पर लगा रहे हैं।

राहुल गांधी को तंग करने के लिए दिया नोटिस

सीएम गहलोत ने कहा कि राहुल गांधी को नोटिस देने का कोई कारण नहीं बनता था लेकिन उन्हें सिर्फ तंग करने के लिए नोटिस दिया गया है और पूरे देश की जनता यह सब देख रही है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि मोरारजी देसाई की जनता पार्टी की सरकार में भी इस तरीके से इंदिरा गांधी को तंग करके जेल में डाला गया था, लेकिन उसके बाद क्या हुआ वो सभी को पता है। उस वक्त भी बीजेपी के लोग जनता पार्टी की सरकार में सहयोगी थे।

बुलडोजर की राजनीति सही नहीं

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि आज देश में बुलडोजर की राजनीति हो रही है, लोगों के घर तोड़े जा रहे हैं। बुलडोजर तो किसी के भी घर पर चल सकता है, लेकिन इस तरह की कार्रवाई लोकतंत्र में सही नहीं है। देश में कानून का राज स्थापित होना चाहिए, तभी देश की जनता और लोग सुरक्षित रहेंगे। चूंकि यह देश कानून और संविधान से चलता है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि हम लगातार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मांग कर रहे हैं कि देश में आज जो नफरत और हिंसा का माहौल बना हुआ है उसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को राष्ट्र के नाम संबोधन देना चाहिए और ऐसी घटनाओं को अंजाम देने वाले लोगों की निंदा करते हुए उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए। 13 राजनीतिक दलों के नेताओं ने प्रधानमंत्री से इस मामले में मांग की थी लेकिन प्रधानमंत्री इस पूरे मामले पर चुप्पी साधे हुए हैं।

जांच एजेंसियों के चीफ नहीं दे रहे मिलने का समय

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि उन्होंने इनकम टैक्स, ईडी के प्रमुखों से मिलने का समय मांगा लेकिन किसी ने भी मिलने का समय नहीं दिया। दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने भी मिलने तक का समय नहीं दिया, जबकि हमारे शासनकाल में बीजेपी के लोग कभी भी किसी भी अधिकारी से जाकर मिल सकते थे, लेकिन इस सरकार में किसी की भी सुनवाई नहीं हो रही है।

Sameer Ur Rehman
Editor - Dainik Reporters http://www.dainikreporters.com/