ashok gehlot
जयपुर राजस्थान

राजस्थान में CM गहलोत ने किन्नरों के लिए शुरू की कई योजनाएं,बना देश का पहला राज्य,20 नवंबर को ट्रांसजेंडर दिवस

जयपुर/ राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्रांसजेंडर्स के लिए कई योजनाएं लागू करते हुए तोहफा और राहत दी है और इसके साथ ही प्रदेश में आगामी 20 नवंबर को ट्रांसजेंडर दिवस मनाने का निर्णय लिया है और इसके लिए सरकार ने अलग से बजट भी पारित कर दिया है ।

थर्ड जेंडर यानी कि ट्रांसजेंडर को समाज में अच्छी नजरों से नहीं देखा जाता था लेकिन समय परिवर्तन और सरकार द्वारा समय-समय पर ट्रांसजेंडरों के लिए राहत और योजनाएं तथा उन्हें अधिकार देकर समाज में एक सम्मान जनक स्थिति में ला दिया है और अब इसी कड़ी में राजस्थान सरकार ने एक कदम और आगे बढ़ाते हुए ट्रांसजेंडर किस सर्जरी के लिए आर्थिक अनुदान देने की घोषणा के साथ ही विभिन्न योजनाएं और लागू की हैं ।

किन्नर महोत्सव

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेश में आगामी 20 नवंबर को ट्रांसजेंडर दिवस मनाने का निर्णय लिया है इसके तेज प्रदेश स्तर से लेकर जिला स्तर तक किन्नर महोत्सव पर किन्नर आर्ट एंड कल्चर फेस्टिवल कराए जाएंगे इसके तहत विभिन्न कार्यक्रम होंगे और इन कार्यक्रमों के लिए सरकार ने प्रत्येक जिला स्तरीय कार्यक्रम के लिए एक-एक लाख रुपए की राशि निर्धारित करते हुए दी जाएगी और राज्यस्तरीय कार्यक्रम के लिए ₹1000000 का बजट पारित किया है प्रदेश में यह पहला अवसर है जब किन्नर महोत्सव सरकारी स्तर पर सरकार द्वारा मनाया जा रहा है।

सर्जरी के लिए..

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग को इसका जिम्मा सौंपते हुए ट्रांसजेंडर ओं के लिए ₹100000000 का एक उत्थान को उस बनाया है किसको से ट्रांसजेंडरों को लिंग परिवर्तन सर्जरी( सेक्स रिअसाइनमेंट सर्जरी/SRS) के लिए आर्थिक मदद देगी हालाकी प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में इस सर्जरी की सुविधा निशुल्क है लेकिन निजी अस्पतालों में ट्रांसजेंडरों द्वारा निजी अस्पतालों में इस तरह की सर्जरी कराए जाने पर करीब 2 से 3 लाख तक का खर्च आता है सरकार ढाई लाख रुपए तक का भुगतान वहन करेगी।

इसके अलावा गहलोत सरकार ने ट्रांसजेंडर के लिए और भी कई योजनाएं लागू की है इनमें प्रमुख रूप से हर ट्रांसजेंडर का एक पहचान पत्र सामाजिक न्याय अधिकारिता विभाग द्वारा हर जिले में बनाया जाएगा ताकि उनको सरकारी योजनाओं का लाभ मिल सके ।

ट्रांसजेंडर बच्चों उच्च शिक्षा का पूरा खर्च सरकार उठाएगी और तकनीकी तथा प्रोफेशनल कोर्स की पूरी फीस भी सरकार झुक आएगी पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप भी साथ में मिल सकेगी

स्कॉलरशिप लेने वालों को रहने का खर्च भी सरकार द्वारा दिया जाएगा स्कॉलरशिप ले रहे ट्रांसजेंडर के बच्चे अगर घर से बाहर रहकर पढ़ाई करेंगे तो उनके मकान का किराया भी सरकार देगी इसके लिए ₹72000 तक देने का प्रावधान है।

ट्रांसजेंडर को स्किल डेवलपमेंट की ट्रेनिंग निशुल्क दी जाएगी स्किल डेवलपमेंट की पूरी फीस का भुगतान सरकार करेगी और ट्रांसजेंडर्स द्वारा खुद का व्यवसाय करने के लिए उसकी लागत की 25 फ़ीसदी सब्सिडी देगी सब्सिडी में ₹50000 तक की समय सीमा निर्धारित की गई है ।।राजस्थान मे करीब 20 हजार से अधिक किन्नर है । इस तरह ट्रांसजेंडर की सर्जरी से लेकर और यह सुविधाएं देने तथा ट्रांसजेंडर अर्थात किन्नर दिवस मनाने की घोषणा के साथ ही राजस्थान देश का पहला राज्य बन गया है जो किन्नरों के उत्थान के लिए इस तरह की योजनाएं लागू कर रहा है

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम