पत्नी का फोटो देखने पर गुस्से में हत्या ,पुलिस ने मर्डर का राज खोला , पांच गिरफ्तार

चित्तौड़गढ़। जिले के निम्बाहेड़ा सदर थाना क्षेत्र में गत 6 दिन पूर्व मिले शव का पुलिस ने खुलासा करते हुए पांच आरोपितों को गिरफ्तार किया है। मृतक के मोबाइल में अपनी पत्नी का फोटो देखने पर गुस्साए आरोपी ने हत्या कर दी।अतिरिक्त जिला पुलिस अधीक्षक हिम्मतसिंह देवल ने बताया कि 4 मार्च को गांव ढोरिया से लसड़ावन की तरफ जाने वाले रोड के पास एक शव पड़ा मिला था। मौके पर पहुंची सदर थानाधिकारी फूलचन्द मय जाप्ता ने शव के फोटो सोशल मीडिया में प्रसारित किया। मौके पर उपस्थित व्यक्तियों में से एक व्यक्ति ने शव की पहचान अपने भाई घटेरा, थाना कोतवाली निम्बाहेडा निवासी बबलु उर्फ उदयसिंह पुत्र नाथुसिंह रावत के रूप में की। पुलिस ने मौके पर मोर्बाइल एफएसएल, एमओबी एंव डॉग स्कवायर्ड टीम के द्वारा निरीक्षण करवाया।

पुलिस ने मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू की। जिला पुलिस अधीक्षक दीपक भार्गव के निर्देशन पर आरोपियों की तलाश के लिए अलग-अलग टीम गठित किए गए। इस दौरान पता चला कि घटेरा, थाना कोतवाली निम्बाहेडा हाल अमराना थाना शम्भुपुरा निवासी फतेहसिंह पुत्र कानीराम उर्फ कानसिंह रावत तीन पत्नियां है जिसमें से सुन्दर बाई का मृतक बबलु उर्फ उदयसिंह रावत से सम्पर्क था। सुन्दर बाई कुछ समय पूर्व फतेहसिंह रावत से झगडा करके कही चली गयी थी। पुलिस द्वारा गहनता से जांच करने पर पता चला कि 3 मार्च को मृतक बबलु अपने गांव घटेरा से हथकड शराब लेकर रेल का अमराना गया, जहां पर फतेहसिह से मिला तथा मृतक बबलु व फतेहसिह एंव फतेहसिंह के रिश्तेदार एवं दोस्तो ने मिलकर एक झोपड़ी में बैठकर शराब पी।

इसके बाद पुलिस ने कालुसिंह पुत्र शान्तिलाल रावत निवासी रेल का अमराना, थाना शम्भुपूरा, बबलु पुत्र शान्तिलाल जाति निवासी रेल का अमराना, थाना शम्भुपूरा, गोपालसिंह पुत्र नारायणसिंह रावत निवासी रेल का अमरानां, थाना शम्भुपूरा, तेजसिंह पुत्र मानसिंह राजपुत निवासी बिनोता हाल पायरी, थाना सदर निम्बाहेडा, अर्जुनसिंह पुत्र लक्ष्मणसिंह रावत निवासी घटेरा, थाना कोतवाली निम्बाहेडा को गिरफ्तार कर पूछताछ की।

पूछताछ पर आरोपियों ने बताया कि 3 मार्च को शराब पीने के दौरान फतेहसिंह रावत ने मृतक बबलु के मोबाईल मे फतेहसिंह की पत्नि सुन्दर बाई के फोटो देख लिये जिससे फतेहसिंह नाराज होकर बबलु को बांध दिया। फतेहसिंह ने अपने साथियो के साथ मे मिलकर मृतक बबलु के साथ मे मारपीट की। इसी दौरान खेत मालिक के आ जाने से फतेहसिंह व उसके साथी मृतक को मोटरसाइकिल पर लेकर फतेहसिंह के खेत पालडी के जंगल में लेकर गये। जहां पर मृतक बबलु की मृत्यु हो गयी। मृतक बबलु की लाश को फतेहसिह व साथी तेजसिंह दोनों मोटरसाइकिल पर मृतक के क्षेत्र में डालने जा रहे थे कि सरहद डोरिया चौरायो से पहले मोटरसाईकिल में पेट्रोल खत्म होने से फतेहसिंह व तेजसिंह दोनो ने मृतक बबलु को वही डालकर भाग गये। आरोपी फतेहसिंह रावत फरार चल रहा है जिसकी तलाश जारी है।