जयपुर राजस्थान

मंत्री अशोक चांदना के बयान पर बोले मुख्यमंत्री गहलोत,’ उनके पास बड़ी जिम्मेदारी है इसलिए तनाव में कर दिया ट्वीट

जयपुर। ब्यूरोक्रेसी से नाराज होकर मंत्री पद से हटाने के अशोक चांदना के ट्वीट पर अब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का भी बयान सामने आया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि अशोक चांदना के पास बड़ी जिम्मेदारी है इसलिए वह तनाव में आ गए होंगे और तनाव में उन्होंने ऐसा ट्वीट कर दिया होगा। सीएम गहलोत ने कहा कि मेरी अभी उनसे बात नहीं हुई है उनको बुला कर बात करेंगे और उन्हें मना लेंगे।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की पुण्यतिथि पर रामनिवास बाग में आयोजित पुष्पांजलि कार्यक्रम के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि अशोक चांदना ने पहले भी स्टेट लेवल पर ग्रामीण खेलों का आयोजन किया था और अब बजट घोषणा के अनुसार भी वह बड़े स्तर पर खेलों का आयोजन करने जा रहे हैं जिसमें इतिहास बनेगा कि गांव के 30 लाख लोग उस खेल में शामिल होंगे, जिनमें कबड्डी- हॉकी और कई सारे खेल हैं।

ऐसे में अशोक चांदना के पास बड़ी जिम्मेदारी है और उन पर काफी तनाव भी है और शायद तनाव में आकर ही उन्होंने इस तरह का ट्वीट कर दिया है।सीएम गहलोत ने कहा कि उनकी कोई नाराजगी नहीं है मेरी उनसे बात नहीं हुई है उन्हें बुलाकर उनसे बात करेंगे।

गौरतलब है कि खेल मंत्री अशोक चांदना ने देर रात ब्यूरोक्रेसी पर सवाल उठाते हुए ट्वीट किया था और “लिखा था कि मुख्यमंत्री जी मेरा आपसे व्यक्तिगत अनुरोध है कि मुझे इस जलालत भरे मंत्री पद से मुक्त कर मेरे सभी भागों का चार्ज कुलदीप राका को दे दिया जाए क्योंकि वैसे भी वही सभी भागों के मंत्री हैं”।

सोशल मीडिया के जरिए कांग्रेस नेताओं की छवि बिगड़ रही है बीजेपी

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आरोप लगाया कि बीजेपी सोशल मीडिया के जरिए कांग्रेस के महान नेताओं की छवि खराब करने का काम कर रही है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू को उनके विजन के चलते पूरी दुनिया में याद किया जाता है। उनके जन्मदिन को बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है लेकिन दुर्भाग्य से सत्ता में ऐसे लोग आ गए हैं जो सोशल मीडिया के जरिए कांग्रेस के नेताओं की छवि खराब करने का काम कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि पंडित जवाहरलाल नेहरू के लिए सोशल मीडिया पर किस तरह की अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया जाता है और झूठ प्रचारित किया जाता और उनकी छवि खराब कर की जाती है। इसी तरीके से बीजेपी आईटी सेल के लोग राहुल गांधी की छवि खराब करने का काम करते हैं।

मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि इसके लिए बकायदा टीमें बैठाई जाती है करोड़ों रुपए खर्च किए जाते हैं।सीएम गहलोत ने कहा कि विचारधारा के आधार पर आप नेताओं पर हमला कीजिए इस पर हमें कोई आपत्ति नहीं है लेकिन व्यक्तिगत आरोप नहीं लगाए जाने चाहिए।

उन्होंने कहा कि बीजेपी और मोदी सरकार सोशल मीडिया का दुरुपयोग कर रही है जो कि लोक लोकतांत्रिक व्यवस्था में सही नहीं है।

Sameer Ur Rehman
Editor - Dainik Reporters http://www.dainikreporters.com/