राजस्थान में भी ऑनलाइन गेमिंग के जरिए धर्म परिवर्तन,शादीशुदा हर्षिता को बनाया हानिया, कैसे हुआ खुलासा

Dr. CHETAN THATHERA
7 Min Read

जयपुर/ राजस्थान में भी अब उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद की तरह ऑनलाइन गेमिंग के जरिए धर्म परिवर्तन कराने का चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। प्रदेश के शेखावाटी अंचल में एक शादीशुदा महिला को ऑनलाइन गेमिंग के जरिए धर्म परिवर्तन करा कर मुस्लिम बना दिया गया जब यह खुलासा हुआ तो सभी चौक गए । अब इस मामले में पुलिस जांच पड़ताल कर रही है। विवाहिता को ऑनलाइन गेम के जरिए धर्म परिवर्तन कराने वाला भी अलीगढ़ का है और ऑनलाइन चैटिंग के दौरान ही उसका ब्रेनवाश कर उसका धर्म परिवर्तन कराया गया ।

घटना शेखावाटी अंचल के सीकर जिले के सदर थाना क्षेत्र की है यहां रहने वाली एक विवाहिता हर्षिता का पति विदेश में नौकरी करता है और वह कुछ दिनों से पीहर में रह रही थी। उसके हाव-भाव चाल चलन और घर में बुर्का मिलने पर उसके भाई और परिजनों को शंका होने पर जब उससे पूछताछ की और उसके मोबाइल को चेक किया तो सभी चौंक गए और परिजनों ने सदर थाना पुलिस में घटना की रिपोर्ट देते हुए सुरक्षा और कार्यवाही की मांग की ।

पुलिस सूत्रों के अनुसार पीड़िता ने थाने में दी रिपोर्ट में बताया कि उसके पति विदेश में नौकरी करते हैं और वहीं रहते हैं । समय पास करने के लिए उसने ऑनलाइन गेमिंग खेलने लगी । वह फ्री फायर गेम ऑनलाइन गेम खेलने लगी थी और इसी दौरान एक ग्रुप लव लाइफ से जुड़ गई।

इस ग्रुप में ही उसकी जान पहचान तैयब खान पठान से हुई जिसने अपने आपको अलीगढ़ का निवासी और कपड़े का व्यापारी बताया उससे दोस्ती होने पर वह उससे घंटों बातें करती थी। इसके बाद पठान उसके इंस्टाग्राम से जुड़ गया । इसी दौरान वह भी अपने पीहर आकर रहने लगी थी ।

पीड़िता ने बताया कि परिवार के बारे में तैयब खान पठान ने उसे सारी जानकारी लेकर उसे प्यार का झांसा दिया और कहा कि इस्लाम कबूल करो नमाज पढ़ो इसके बाद उसने धीरे-धीरे इस्लाम के बारे में बताना शुरू किया। मुझे उर्दू अरबी नहीं आने पर तैयब पठान ने नवाज दुआ पढ़ने के ऑनलाइन तरीके मुझे भिजवाए मैसेज भेज कर इनको फॉलो करने को कहा कई दिनों तक चले इस सिलसिले के बाद वह भी इसमें रूचि लेने लगी और नवाज तथा दुआ पढ़ने के तरीके सीखे और यही नहीं उसने पहनने के लिए बुर्के जैसे गाउन मंगवा लिए और उसने अपना नाम हर्षिता से हानिया रख लिया।

पीड़िता ने पुलिस को यह भी बताया कि तैयब खान पठान ने उसे धमकी दी थी कि अगर वह इस्लाम नहीं अपनाएगी तो वह आत्महत्या कर लेगा । यही नहीं उसका ब्रेनवाश कर उसका आधार कार्ड की फोटो कॉपी मांग ली और जब मैंने तैयब से उसके आधार कार्ड वह आईडी मांगी तो वह मना कर दिया। पीडिता ने बताया कि तैयब खान तैयब पठान डॉट ऑफिशल 07 नाम से आईडी चला रहा है।

उधर पीड़िता के भाई ने पुलिस को बताया कि कपड़ों के तौर पर बहन के पास पहनने के लिए बुर्के देखे तो उन्हें शक हुआ तथा बहन ने माथे पर बिंदिया लगाना और मांग भरना भी छोड़ दिया था अपने छोटे से बेटे के प्रति लापरवाह हो गई थी और धीरे-धीरे पूजा पाठ व मंदिर से दूरी बना ली इस पर उन्हें शक होने लगा और एक दिन उसका मोबाइल चेक किया तो।

उसमें इस्लाम से जुड़ी चीजें मिली जिसे देख हम सब चौंक गए और तब उससे इसके बारे में पूछा गया और समझाया गया तो उल्टा वह नाराज हो गई और पहले जैसी नहीं होने की उसने धमकी भी दी।

इस घटना के बाद उसकी सुरक्षा को देखते हुए परिजनों ने पुलिस अधीक्षक से मुलाकात कर धर्म परिवर्तन करने वाले तैयब खान पठान और उसके साथी साबिर के खिलाफ परिवाद दिया । पुलिस ने इस मामले में गंभीरता से जांच पड़ताल शुरू करते हुए आरोपी की गिरफ्तारी के कवायद शुरू कर दी है ।

विदित है की पिछले महीने ही उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में एक ऑनलाइन गेम के जरिए एक नाबालिक किशोर का धर्म परिवर्तन कराने का मामला सामने आया था इसके बाद पुलिस ने इसे गंभीरता से लेते हुए कार्रवाई करते हुए ऑनलाइन धर्म परिवर्तन कराने वाले गिरोह का खुलासा करते हुए सिंडीकेट के मुख्य आरोपी माने जाने वाले खान शहनवाज मकसूद को महाराष्ट्र के ठाणे जिले से गिरफ्तार किया था और शहनवाज सहित दो जनों को हिरासत में लिया गया था।

कैसे करते हैं ब्रेनवाश और धर्म परिवर्तन

1- फोर्टनाइट एप गेम ऑनलाइन गेम है इस गेम के जरिए गेम खिलाया जाता है और जीत हासिल करने के लिए उनसे कहते हैं कि अगर जीतना है तो कुरान की आयतें पढ़ो और उन्हें यह आयतें पढ़ना सिखाते हैं और फिर गेम खेलने वाले का विश्वास जीतने के लिए यह गिरोह हिंदू नामों से बनाई हुई अलग-अलग आईडी के जरिए इन्हीं के लोग होते हैं वह गेम खेलने वाले को गेम जिता देते हैं इससे उनका मुस्लिम धर्म पर विश्वास बढ़ना शुरू हो जाता है ।

2- जब गेम खेलने वाले नाबालिक लड़के लड़कियां और महिलाएं इन पर विश्वास करने लग जाती है या यूं कहें तो अतिशयोक्ति नहीं होगी इनके बस में हो जाती है तब यह गिरोह प्रतिबंधित इस्लामिक स्पीकर डॉक्टर जाकिर नायक और तारिक जमील की वीडियो दिखाते हैं जिसमें इनके अंदर इस्लाम की तरफ झुकाव हो जाए तथा इन वीडियो के जरिए इस्लामिक संस्कृति और रीति रिवाज के संबंध में सारी जानकारी भी उपलब्ध कराते हैं ।

3- जब नाबालिक किशोर किशोरियों तथा महिलाएं और युवक इस्लाम धर्म अपना लेते हैं तब यह उनका एफिडेविट अर्थात शपथ पत्र भी बनवा देते हैं ।

Share This Article
Follow:
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम