कांग्रेस सरकार को घेरने राजभवन पहुंची भाजपा

जयपुर प्रदेश में बिगड़ती कानून-व्यवस्था और दलित उत्पीडऩ को लेकर भाजपा ने कांग्रेस सरकार को घेरने के लिए मंगलवार को राजभवन का दरवाजा खटखटाया। नेता प्रतिपक्ष गुलाबचन्द कटारिया के नेतृत्व में भाजपा विधायक मंगलवार को पौने पांच बजे यहां पार्टी कार्यालय से रवाना होकर राजभवन पहुंचे और राज्यपाल कल्याण सिंह को ज्ञापन देकर  दखल का …

कांग्रेस सरकार को घेरने राजभवन पहुंची भाजपा Read More »

August 13, 2019 11:08 pm

जयपुर

प्रदेश में बिगड़ती कानून-व्यवस्था और दलित उत्पीडऩ को लेकर भाजपा ने कांग्रेस सरकार को घेरने के लिए मंगलवार को राजभवन का दरवाजा खटखटाया। नेता प्रतिपक्ष गुलाबचन्द कटारिया के नेतृत्व में भाजपा विधायक मंगलवार को पौने पांच बजे यहां पार्टी कार्यालय से रवाना होकर राजभवन पहुंचे और राज्यपाल कल्याण सिंह को ज्ञापन देकर  दखल का आग्रह किया। उन्होंने ज्ञापन में लिखा है कि कानून व्यवस्था फेल होने के कारण अपराधी बैखोफ  घूम रहे हैं। प्रदेश में सुनियोजित और श्रृंखलाबद्ध तरीके से अपराध हो रहे हैं। प्रदेश में अराजकता कि स्थिति पैदा हो गई है।

उन्होंने बताया कि 2018 के बाद अनुसूचित जाति के अपराधो में अप्रत्याशित बढ़ोतरी हुई है। इस कारण जून,2019 में 3121 संगीन अपराध दर्ज हुए है। भाजपा विधायकों ने मांग की है कि ऐसी घटनाओं की फास्ट ट्रैक में  निरन्तर सुनवाई हो और तीन माह में निस्तारण करें।

भाजपा ने एक जैसे मामलों पर  सरकार के भेदभाव पूर्ण रवैए पर भी निशाना साधा है। उन्होंने मांग की है कि थानागाजी दुष्कर्म जैसी घटना में क्षतिपूर्ति के मापदण्ड तय किए गए उसी अनुरूप शेष घटनाओं में भी पीडि़तों को सरकारी नौकरी और क्षतिपूर्ति तत्काल दी जाए। प्रतिनिधिमण्डल में भाजपा विधायक दल के उप नेता राजेन्द्र राठौड़, भाजपा प्रवक्ता सतीश पूनिया, विधायक कालीचरण सराफ, वासुदेव देवनानी, मोहन लाल गुप्ता, अशोक लाहोटी समेत अन्य विधायक और पार्टी पदाधिकारी मौजूद थे। ज्ञापन के दौरान भाजपा के दलित नेताओं को तवज्जो नहीं मिलने की भी चर्चा उठी।

कटारिया ने कहा कि ऐसी घटनाओं की बढ़ोतरी होने के बाद भी सरकार कुछ भी नहीं कर रही है। इसके लिए 16 से 21 अगस्त तक भाजपा के सभी जनप्रतिनिधि अपने-अपने जिलों में पत्रकार वार्ता करेंगे। इसमें पिछले 7- 8 माह में प्रदेश में हुए महिला एवं दलित अपराधों के बारे में जानकारी देंगे।  उन्होंने बताया कि  23 अगस्त को प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों में धरना देकर ज्ञापन दिया जाएगा। उसके बाद आगे का कार्यक्रम तय करेगे।

कटारिया ने कहा कि मुख्यमंत्री के पास ये विभाग होने के बाद भी प्रदेश का दुर्भाग्य है कि कानून व्यवस्था की हालात खराब है। जयपुर की घटना के सवाल पर कहा कि यहां प्रशासन फेल है। देश में 370 की घटना के बाद सभी राज्यों को अलर्ट कर रखा है। इसके कारण कोई ऐसी तैयारी करके कोई साम्प्रदायिक घटना न हो। यह दुर्भाग्य है कि राजस्थान में पुलिस मौके पर होते हुए भी कोई एक्शन नहीं कर पाई।

Prev Post

बेखौफ बजरी के ट्रेक्टरों से बचाओं साहब.......

Next Post

मनमोहन की जीत तय,भाजपा नहीं उतारेगी प्रत्याशी

Related Post

Latest News

Rural Olympic Games - Innovative brilliant initiative of Bhilwara Collector Modi
राजस्थान में PFI पर शिकंजा कसने के कलेक्टर व एस पी को दिए अधिकार, पदाधिकारी भूमिगत
गहलोत नही लडेंगे चुनाव, सिंह कल भरेंगे नामांकन,राजस्थान पर फैसला आज

Trending News

प्रिंसिपल डाॅ. खटीक पुनः बने जिलाध्यक्ष 
केंद्र सरकार ने कर्मचारियों को दीपावली का तोहफा बढ़ाया DA, राजस्थान मे भी अब..
राजस्थान में 4 बच्चों की डूबने से मौत
Ban on 8 affiliated organizations including PFI in the country, know

Top News

REET - 2022 का परीक्षा परिणाम घोषित 
राजस्थान में रहेगा गहलोत का ही राज, सचिन.. 
Rural Olympic Games - Innovative brilliant initiative of Bhilwara Collector Modi
राजस्थान में PFI पर शिकंजा कसने के कलेक्टर व एस पी को दिए अधिकार, पदाधिकारी भूमिगत
गहलोत नही लडेंगे चुनाव, सिंह कल भरेंगे नामांकन,राजस्थान पर फैसला आज
गहलोत नही लडेंगे चुनाव, सिंह कल भरेंगे नामांकन,राजस्थान पर फैसला आज
प्रिंसिपल डाॅ. खटीक पुनः बने जिलाध्यक्ष 
गहलोत कल मिलेंगे सोनिया से,राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए कल नहीं भरे जाऐंगे नामांकन, क्यों
देश को 9 माह बाद मिला नया CDS 
राजस्थान में भी CM गहलोत ने राज्य कर्मचारियों को दिवाली की सौगात बढ़ाया डीए खबर पर मोहर