शिक्षा विभाग – निदेशालय का फरमान,अगर नहीं हुआ तो संस्था प्रधान जिम्मेदार

Shiksh Vibhag - Directorate's decree, if it is not done then the head of the institution is responsible

बीकानेर/ शिक्षा विभाग (Shiksh Vibhag) द्वारा एक बार फिर 2 साल के बाद बोर्ड फार्मूले (board formulas) पर कक्षा 5 की परीक्षा आयोजित कराने की तैयारी चल रही है और बोर्ड के आवेदन भरने की समय अवधि को बढ़ाते हुए निदेशालय ने आदेश जारी किया है कि निर्धारित तय की गई।

समय अवधि के दौरान अगर कोई छात्र बोर्ड फॉर्म भरने से वंचित रह जाता है तो उसके लिए संस्था प्रधान जिम्मेदार होगा ।

[शिक्षिका निर्मला गिरफ्तार, जमानत खारिज ,जेल भेजा]

पांचवीं बोर्ड की परीक्षा के आवेदन भरने की अंतिम तिथि शनिवार 5 मार्च को थी लेकिन अंतिम तारीख तक अधिकांश विद्यार्थियों के आवेदन नहीं भरे जाने को लेकर विद्यार्थियों को राहत देते हुए निदेशालय ने पांचवीं बोर्ड परीक्षा आवेदन की तिथि बढ़ाकर 14 मार्च कर दी है ।

[REET – हाईकोर्ट नाराज, चीफ सेक्रेट्री, एसीएस गृह व एसीएस शिक्षा गोयल को नोटिस जारी]

शिक्षा निदेशक कानाराम (आईएएस) के दिशा निर्देश पर परीक्षा पंजीयक पालाराम मेवता ने इस संबंध में एक आदेश जारी किया है कि पांचवीं बोर्ड की परीक्षा के आवेदन पत्र की तिथि 14 मार्च तक बढ़ा दी जाती है और 14 मार्च के बाद भी ऑनलाइन फॉर्म भरने से कोई विद्यार्थी वंचित रह गया तो इसके लिए संस्था प्रधान ही जिम्मेदार होगा एक अनुमान के अनुसार पांचवी बोर्ड की परीक्षा में करीब 14 लाख विद्यार्थी पूरे प्रदेश में शामिल होंगे।