शिकायत लेकर पहुंचे ग्रामीणों को शक्करगढ़ थानेदार में डराया धमकाया, विधायक गोपीचंद का तीन दिन का अल्टीमेटम 

Villagers reached with complaint were threatened in Shakkargarh Thanedar, three days ultimatum of MLA Gopichand

जहाजपुर (आज़ाद नेब) उपखंड में वन क्षेत्र का दायरा सिमट रहा है। वन विभाग के अधिकारियों की उदासीनता के चलते वन भूमि अतिक्रमण की भेंट चढ़ रही है। ऐसा ही एक मामला आज उपखंड के अमरगढ़ में सामने आया है।

ग्रामीणों द्वारा वन क्षेत्र की भूमि पर अतिक्रमण कर निर्माण कार्य कर रहे लोगों को रोकने के लिए शक्करगढ़ थाने मे शिकायत लेकर पहुंचे तो उल्टा थानेदार ने ही ग्रामीणों को डरा धमका कर भेज दिया।

 

यह कहना है जहाजपुर विधायक गोपीचंद मीणा का, विधायक गोपीचंद मीणा ने मीडिया कर्मियों को जानकारी देते हुए बताया कि ग्राम पंचायत अमरगढ़ में अमरगढ़ से खजूरी रोड मेधा हाईवे पर मेघपुरा के कुछ दबंग लोगों एवं क्षेत्रीय अधिकारियों की मिली भगती से फॉरेस्ट की जमीन पर अतिक्रमण कर दुकानें बनाई जा रही है जिसकी शिकायत लेकर ग्रामीण शक्करगढ़ थाने पहुंचे थे।

थानेदार ने ग्रामीणों को डरा धमका कर उनका वीडियो बनाकर वापस भेज दिया। इस गूंगी बहरी सरकार मे आमजन की पीड़ा कोई सुनने वाला नहीं है जंगलराज व गुंडा राज हो गया कानून नाम की चीज नहीं है।

विधायक गोपीचंद मीणा ने जिला प्रशासन को 3 दिन का अल्टीमेटम देते हुए कहा कि फॉरेस्ट की जमीन से अतिक्रमण नहीं हटाया गया तो मैं अपने कार्यकर्ताओं के साथ इस अतिक्रमण को हटा दूंगा।

वन विभाग रेंजर चोखाराम का कहना है कि दुकानें किस लोकेशन में बन रही है मुझे जानकारी में नहीं है कल पता करके जानकारी दे पाऊंगा।