भीलवाड़ा

सीएम गहलोत की पहल, भीलवाड़ा का होगा विकास निवेशको ने किए 10 हजार करोड के निवेश के एमओयू, 25 हजार को रोजगार

भीलवाड़ा/ मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देशन एवं उद्योग विभाग राजस्थान जयपुर के मार्गदर्शन में राजस्थान इन्वेस्टमेंट सम्मिट 2021 का प्रारम्भ सम्पूर्ण प्रदेश में मेनचेस्टर के रूप से पहचान बना चुके भीलवाड़ा मे आज होटल ग्लोरिया इन में प्रदेश की पहली जिला स्तरीय इन्वेस्टमेंट समिट हुई। इस इन्वेस्टमेंट सम्मिट कार्यक्रम मे निवेशको ने 10 हजार करोड के निवेश पर एमओयू किए इससे भीलवाडा जिले के विकास की गंगा बहेगी साथ ही 25 हजार बेरोजगारो को रोजगार मिलेगा ।

सम्मिट कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि राजस्थान सरकार की उद्योग मंत्री श्रीमती शकुंतला रावत एवं भारत सरकार के टेक्सटाइल सचिव श्री यूपी सिंह वीसी के माध्यम से एवं कार्यक्रम स्थल पर उद्योग आयुक्त श्रीमती अर्चना सिंह,  संभागीय आयुक्त डॉ श्रीमती वीणा प्रधान, जिला कलेक्टर शिवप्रसाद एम नकाते, उद्योग विभाग के अतिरिक्त निदेशक एसएस  शाह, रीको के एडवाइजर इंफ्रा पुखराज सेन राजस्थान फाउंडेशन के प्रतिनिधि धीरज श्रीवास्तव,  एडीएम (प्रशासन) राजेश गोयल, एडीएम (सिटी) एन.के. राजोरा उपखण्ड अधिकारी भीलवाड़ा, शाहपुरा, माण्डलगढ, हमीरगढ, माण्ड़ल के साथ-साथ अन्य जिला स्तरीय अधिकारीगण उपस्थित थें।

700 से अधिक उद्यमियो ने लिया भाग

इस जिला स्तरीय सम्मिट में  700 से अधिक उद्यमियों ने प्रत्यक्ष रुप से भाग लिया, वहीं अमेरिका, दुबई, कतर, आस्ट्रेलिया, यूगाण्डा, इंगलैण्ड जापान आदि से प्रवासी भारतीयों के 26 संगठन ऑनलाइन भी इस सम्मिट से जुडे। भीलवाडा के टेक्सटाइल एवं अन्य उद्योगों के आधुनिकीकरण एवं विकास से प्रवासी भारतीय भी काफी प्रभावित हुए। दीप प्रज्वलन एवं स्वागत गीत के साथ सम्मिट कार्यक्रम प्रारंभ हुआ एवं सम्मिट में पधारे अतिथियों का बुके एवं मोमेंटो देकर स्वागत अभिनंदन किया गया ।

सम्मिट में ज़िलें के सम्पूर्ण उद्योग एवं वाणिज्य परिदृश्य को दर्शाती हुए टेक्सटाइल, एग्रो फ़ूड प्रोसेसिंग, मेडिकल, मिनरल्स व माइनिंग, बैंकिंग, फेडरेशन ऑफ़ इंडियन एक्सपोर्ट आर्गेनाइजेशन, एमएसएमई टेक्नोलॉजी सेंटर, ज़िला स्तरीय सिंगल विंडो वन स्टॉप शॉप, फड, वूडन व स्टोन कार्विंग की आकर्षक स्टॉल्स में उत्पादों का जीवंत प्रदर्शन किया गया।


सम्मिट में अतिथियों द्वारा उद्योग से जुड़ी जानकारियों के ब्रोशर का विमोचन किया गया एवं जिले में उद्योग की संभावनाओं की जानकारी शार्ट फिल्म द्वारा दी गई । यह कार्यक्रम राजस्थान के उद्योग विभाग एवं जिला प्रशासन के लिए बडा चौंलेज था राज्य स्तरीय इन्वेस्टमेन्ट सम्मिट की भीलवाड़ा से भव्य शुरुआत हुई।

कार्यक़म का केन्द्र बिन्दु् एमओयू सेरेमनी रही जहा सभी के क्षेत्रों के प्रमुख निवेशकों के साथ जिला कलक्टर नकाते ने एमओयू निष्पादित किये।

 

कार्यक्रम में 200 से ज्यादा निवेशकों द्वारा 10 हजार करोड से ज्यादा निवेश का किया समझौता

सम्मिट के दौरान राज्य सरकार की उद्योगों से जुडी जानकारी एवं सरकार द्वारा किये जा रहे सहयोग से उद्यमियों ने उत्साह दिखाया एवं कार्यक्रम के दौरान ही प्रदेश की प्रथम इनवेस्टमेन्ट सम्मिट कार्यक्रम में 10 हजार करोड़ से ज्यादा के निवेश हेतु एम.ओ.यू. हस्ताक्षर किये ।

लगभग 200 औद्योगिक इकाइयों एवं निवेशकों द्वारा टेक्सटाइल, एग्रो फूड प्रोसेसिंग, मेडिकल, टूरिज्म, मिनरल्स एंड केमिकल्स, फर्नीचर, सीमेंट प्रोडक्ट सहित अन्य विभिन्न क्षेत्रों में 10 हजार करोड से भी ज्यादा के निवेश करने पर समझौता हुआ । इसके अतिरिक्त राज्य सरकार की पहल से प्रदेश, देश एवं विदेश के उद्यमियो एवं प्रवासी उद्यमीगणों द्वारा भीलवाड़ा में निवेश हेतु रूचि ली जा रही हैं, भविष्य में ओर भी ज्यादा निवेश होने की संभावनाएं हैं।

राजस्थान में विकास व नये आयाम गहलोत की मंशा– रावत

राजस्थान सरकार की उद्योग मंत्री श्रीमती शकुंतला रावत ने जयपुर से वीसी के माध्यम से सम्मिट में आये अतिथियों एवं उद्यमियो को संबोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का विजन राजस्थान के प्रत्येक क्षेत्र में विकास करना व नए आयाम स्थापित करना है ।
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री गहलोत की मंशानुरूप राजस्थान देश का प्रथम राज्य बना जहां उद्योगों को बढ़ावा देने, निवेश का बेहतर वातावरण बनाने व रोजगार उपलब्ध कराने के उद्देश्य से इन्वेस्टर सम्मिट कार्यक्रम आयोजित किए जायेंगे एवं भीलवाड़ा से इसकी शुरुआत हुई है ।

उद्योग मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार उद्यमियों के सहयोग हेतु सदैव तत्पर है एवं राज्य सरकार द्वारा उद्योग क्षेत्र में कई योजनाएं चलाई जा रही है जिससे कि उद्योग क्षेत्र का विकास हो सके ।

कलेक्टर नकाते न की सराहना

राज्य सरकार के उद्योग विभाग के आयुक्त श्रीमती अर्चना सिंह ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान भीलवाड़ा जिले ने  चिकित्सा के क्षेत्र में भीलवाड़ा मॉडल के रूप में देश-विदेश में नई पहचान बनाई एवं मुख्यमंत्री गहलोत एवं राज्य सरकार की मंशा इंडस्ट्री के रूप में भी भीलवाड़ा को मॉडल बनाना है ।
आयुक्त श्रीमती अर्चना सिंह ने कहा कि प्रदेश स्तर पर इनवेस्टमेन्ट सम्मिट की चर्चा की गई तो भीलवाड़ा जिला कलक्टर ने सबसे पहले इस चेलेंज को स्वीकार किया । उन्होंने भीलवाड़ा जिले के उद्यमीगणों की स्किल्स की सराहना करते हुए कहा कि जिले के उद्यमियों मे नया संचार व उत्साह देखकर राज्य सरकार भी कदम से कदम मिलाने को कटिबद्ध है एवं यह जिला सम्मिट कार्यक्रम प्रदेश के अन्य जिलों के लिए भी प्रेरणास्पद रहेगा ।

25 हजार को मिलेगा रोजगार– कलेक्टर नकाते

भीलवाड़ा जिला कलेक्टर शिवप्रसाद एम नकाते ने सम्मिट में आए समस्त अतिथियों व उद्योजको का स्वागत करते हुए बताया कि भीलवाड़ा जिले में चम्बल के पानी, अनेकों राष्ट्रीय एवं राज्य मार्ग, रेलवे, एयरपोर्ट कनेक्टीविटी, नेसर्गिक खनिज सम्पदा, मेहनती एवं उद्यमशील उद्यमियों के साथ-साथ व्यवसाय हेतु अच्छा वातावरण हैं एवं राज्य सरकार की योजनाओं के कारण भीलवाड़ा जिले में निवेश का अच्छा माहौल हैं इसलिये जिला कलक्टर ने स्थानीय, प्रदेश एवं देश-विदेश के निवेशकों को भीलवाड़ा में निवेश हेतु आमंत्रित किया। उन्होंने कहा कि 10 हजार करोड का निवेश होने पर जिले में 25 हजार से ज्यादा लोगों को रोजगार मिलेगा ।

जिला कलक्टर ने राज्य सरकार एवं उद्योग विभाग को भीलवाड़ा को प्रदेश के प्रथम इनवेस्टमेन्ट सम्मिट कार्यक्रम आयोजन का अवसर देने पर आभार व्यक्त किया।

नकाते ने बताया कि मेवाड़ चेंबर ऑफ कॉमर्स, सिंथेटिक वीविंग मिल्स, भीलवाड़ा टैक्सटाइल ट्रेड फेडरेशन,  लघु उद्योग भारती सहित अन्य एसोसिएशन, समस्त विभागों के अधिकारियों एवं कार्मिको के योगदान से ही यह सम्मिट का आयोजन सफल रहा साथ ही कहा कि मानवीयता के दृष्टिकोण से जिले के उद्यमीगणों ने कोविड़ वैक्सीनेशन हेतु 07 करोड रुपए की राशि का सहयोग दिया ।

 

 

कार्यक्रम के दौरान भीलवाड़ा की पहली मेडिसिटी का प्रजेंटेशन

इस सम्मिट में यूआईटी की ओर से आजादनगर में प्रस्तावित मेडिसिटी योजना का प्रजेंटेशन दिया गया। इसमें सुपर स्पेशिएलिटी हॉस्पिटल, फॉर्मा कंपनियां, पार्क आदि सुविधाएं होगी। न्यास का यह ड्रीम प्रोजेक्ट है।

कार्यक्रम के अन्त में उद्योग आयुक्त एवं जिला कलक्टर ने सम्मिट में आये निवेशकों के साथ जिले में नये निवेश की सम्भावनाओं एवं उद्योगों से जुडे विषयों पर चर्चा की।

निवेशक बोले – उद्योगों के लिए सम्मिट करने जैसी सरकार की अच्छी पहल

कार्यक्रम के दौरान संगम इंडिया लिमिटेड के एमडी एसएन मोदानी ने कहा कि भीलवाड़ा में इंडस्ट्री फ्रेन्डली माहौल है। इसी तरह कंचन इंडिया के निदेशक दुर्गेश बांगड़ ने कहा कि भीलवाड़ा में आयोजित  इन्वेस्टमेंट सम्मिट से उद्योपतियों में नई ऊर्जा का संचार हुआ है एवं उद्योगों के लिए सम्मिट करने जैसी सरकार की अच्छी पहल हैं।

जिला उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक राहुलदेव सिंह ने जिला उद्योग केंद्र व विभाग की प्रगति की जानकारी से अवगत कराया एवं कहा कि  जिला उद्योग केंद्र कमिटेड एंड डिलीवर की थीम पर कार्य कर रहा है ।अन्त में रीको के वरिष्ठ उप महाप्रबंधक श
पी. आर. मीणा ने सम्मिट में आयें अथितियों, अधिकारियों, उद्यमीगणो एवं मीडियाकर्मियो ंसहित अन्य सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया एवं मंच संचालन सुमित जागेटिया एवं अदिति शर्मा ने किया ।

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम