गर्भवती महिलाएं और परिजन चाहते हैं 22 जनवरी को उनके घर में आए नन्हा मेहमान

Dr. CHETAN THATHERA
4 Min Read

भीलवाड़ा । भगवान श्री राम की नगरी अयोध्या में 22 जनवरी को रामलला की प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव के कार्यक्रम शुरू हो चुके हैं और रामलला की प्राण प्रतिष्ठा को लेकर देश ही नहीं दुनिया में आम जन में जबरदस्त उत्साह और हर्ष का वातावरण है।

यही नहीं इस दिन को लेकर उत्साह की स्थिति यह है कि गर्भवती महिलाएं और उनके परिजन की भावनाएं हैं कि उनके घर में आने वाला नया मेहमान 22 जनवरी के दिन ही आए ताकि वह सौभाग्यशाली हो और इस दिन डिलीवरी करने के लिए अस्पतालों में एडवांस बुकिंग तक हो रही है ।

गर्भवती महिलाएं और परिजन 22 जनवरी को ही डिलीवरी करने के लिए इतने उत्सुक है क्योंकि उस दिन जहां एक और देश ही नहीं दुनिया में रामलला के प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव का शुभ दिन है ।

वहीं दूसरी ओर इस दिन उस अवधि और शुभ मुहूर्त में पैदा होने वाला बच्चा ज्योतिष विद्वानों के अनुसार पराक्रमी होगा और इसी को लेकर गर्भवती महिलाओं और उनके परिजनों में होड़ मची हुई है ।

बताया जाता है कि राजस्थान में जिन गर्भवती महिलाओं की डिलीवरी 20 जनवरी से 30 जनवरी के मध्य चिकित्सकों द्वारा ड्यू डेट दी गई है ।

वह गर्भवती महिलाएं और उनके परिजन 22 जनवरी को सिजेरियन डिलीवरी अर्थात ऑपरेशन से बच्चा का जन्म करने की लेकर तैयारी कर रहे हैं और चिकित्सकों से सलाह ले रहे हैं। प्रदेश के कई निजी अस्पतालों में तो 22 जनवरी को डिलीवरी करने की मांग बढ़ गई है और एडवांस बुकिंग तक हो रही है यही स्थिति सरकारी अस्पतालों की भी है।

बताया जाता है कि गर्भवती महिलाओं और उनके परिजनों ने तो 22 जनवरी को जन्म उनके यहां जन्म लेने वाले बच्चे और बच्ची के नाम तक सोच लिए हैं । लड़का होगा तो श्री राम और जुड़वा लड़के होंगे तो श्री राम और लक्ष्मण तथा लड़की हुई तो सीता मैया यह जानकी रखेंगे।

इनकी जुबानी

मुझसे भी ऐसी गर्भवती महिलाओं और उनके परिजनों ने संपर्क किया है और 22 जनवरी को डिलीवरी करने के लिए कहा लेकिन उनकी तारीख को देखकर अभी तक मैंने दो प्रस्तूताओं की 22 जनवरी को डिलीवरी करने की सलाह देते हुए रजिस्ट्रेशन कर हां भारी है

। मां तथा बच्चे के स्वास्थ्य पर कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़े इसका ध्यान रखते हुए ही गर्भवती महिलाओं और उनके परिजनों की मांग पूरी करने की कोशिश की जा रही है तथा परिवार केवल मुहूर्त ही ना देखें यह भी जरूरी है की डिलीवरी सुरक्षित हो जच्चा बच्चा स्वस्थ रहें इसलिए जब बच्चा सही और समय पर डेवलपमेंट हो तभी डिलीवरी कारण सिजेरियन के बजाय सामान्य डिलीवरी को प्राथमिकता दें ।

डॉक्टर सौम्या सोमानी 

कंसलटेंट स्त्री,प्रसूति रोग विशेषज्ञ एवं लेप्रोस्कोपिक सर्जन अमेरिकन हॉस्पिटल उदयपुर

22 जनवरी को डिलीवरी करने के लिए लोगों में एक क्रेज हैं और गर्भवती महिलाएं और उनके परिजन उनसे संपर्क कर रहे हैं।

 डॉ सुरभि 

गायनोलॉजिस्ट रामसनेही हॉस्पिटल भीलवाड़ा

22 जनवरी को लेकर गर्भवती महिलाओं और उनके परिजनों में जबरदस्त क्रेज है और जिनकी डिलीवरी डेट 20 तारीख से लेकर 25 तारीख के बीच में आ रही है ऐसी गर्भवती महिलाएं और उनके परिजन हमसे संपर्क कर सिजेरियन की स्थिति में 22 जनवरी को सिजेरियन करने के लिए निवेदन कर रहे हैं और अब तक करीब 7 से 8 गर्भवती महिलाएं ऐसी उनके पास आ चुकी हैं जिनकी 22 जनवरी को डिलीवरी होने वाली है या हो सकती है हम उनके स्वास्थ्य जच्चा बच्चा दोनों को देखकर डिलीवरी या सिजेरियन से डिलीवरी करेंगे।

डॉक्टर नवीन भडाणा

कनिष्ठ स्त्री रोग विशेषज्ञ राजकीय महात्मा गांधी अस्पताल भीलवाड़ा

Share This Article
Follow:
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम