महज़ खानापूर्ति प्रशासन शहरों के संग अभियान, नहीं बना एक भी पट्टा

जहाजपुर (आज़ाद नेब) प्रशासन शहरों के संग अभियान महज खानापूर्ति बनकर रह गया है। अब तक चले शिविरों में 80 स्टेट ग्रांट की फाइलें आ चुकी है लेकिन एक भी जन को स्टेट ग्रांट का पट्टा नहीं मिला है। ताज्जुब की बात तो यह है कि नगर पालिका से जन्म मृत्यु प्रमाण पत्र लोगों को नहीं मिल पा रहे हैं।

तहसीलदार एवं कार्यवाहक ईओ इंद्रजीत सिंह ने बताया कि तकनीकी खराबी की वजह से आईडी मेप नही हो पा रही है। इसलिए जन्म मृत्यु प्रमाण पत्र नहीं मिल पा रहे हैं। अभियान के दौरान पांच नवीनीकरण पट्टों का निस्तारण किया गया है और दो पट्टों का नामांतरण किया जा चुका है।

नगर पालिका में पट्टे नहीं बनने की वास्तविक वजह कनिष्ठ अभियंता का पद खाली होना है। नगर पालिका में कनिष्ठ अभियंता की पोस्ट खाली होने से स्टेट ग्रांट पट्टे की प्रक्रिया आगे नहीं बढ़ पा रही है। दोहरी राजनीति के बीच फंसी जनता के लिए यह प्रशासन शहरों के संग अभियान महज एक खानापूर्ति ही साबित हो रहा है।

वार्ड नंबर दो से दस तक प्रशासन शहरों के संग अभियान लग चुका है लेकिन रिजल्ट ना के बराबर रहा। अब तक 80 स्टेट ग्रांट पट्टे की फाइलें अभियान के दौरान ली गई है। लेकिन अब तक किसी को भी नगरपालिका के द्वारा एक भी पट्टा जारी नहीं किया गया है। अभियान के दौरान पट्टे एवं अन्य कार्य नहीं होने से आमजन में भारी रोष व्याप्त है।