महंत के चुनावी ऐलान से भीलवाड़ा की राजनीति में मची खलबली,जिलेभर से मिल रहा समर्थन,भाजपा करें विचार तो हो सकता समाधान

Dr. CHETAN THATHERA
5 Min Read

भीलवाड़ा। भीलवाड़ा लोकसभा सीट पर प्रत्याशी को लेकर भाजपा और कांग्रेस में कशमकश के साथ ही पेच फंसने के हालात के बीच ही भीलवाड़ा जिले के सबसे बड़े धार्मिक स्थल और मेवाड़ में जन-जन की आस्था के केंद्र श्री पंचमुखी दरबार के महंत त्यागी लक्ष्मण दास जी महाराज द्वारा लोकसभा चुनाव लड़ने के संकेत देने के बाद भीलवाड़ा की राजनीति में खलबली मच गई है और दोनों ही प्रमुख दल भाजपा तथा कांग्रेस के नेताओं को सोचने पर विवश कर दिया है। वहीं दूसरी ओर महंत द्वारा चुनाव लड़ने के संकेत के बाद उनको जिले भर से जबरदस्त समर्थन मिल रहा है जबकि अभी तो उन्होंने नामांकन तक दाखिल नहीं किया है।

भीलवाड़ा लोकसभा सीट से भाजपा संघ समर्थित विचार परिवार तथा विचार परिवार का नेतृत्व कर रहे विचार परिवार से विधानसभा का निर्दलीय चुनाव जीते अशोक कोठारी द्वारा सुभाष बहेड़िया को वापस प्रत्याशी बनाए जाने की स्थिति में विधानसभा चुनाव की पुनरावृति की खुली चुनौती के बाद इस सीट पर भाजपा का केंद्र नेतृत्व अभी तक प्रत्याशी घोषित नहीं कर पाया है और दोनों ही गुटों में विवाद चल रहा है। दूसरी और कांग्रेस ने हालांकि बाहरी प्रत्याशी के तौर पर डॉक्टर दामोदर गुर्जर को अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया है ।

लेकिन अचानक बदले समीकरण से कांग्रेस गुर्जर के स्थान पर भीलवाड़ा सीट से किसी ब्राह्मण प्रत्याशी को चुनाव मैदान में उतरने का मानस बना रही है क्योंकि राजस्थान की 25 लोकसभा सीटों में से कांग्रेस ने एक भी ब्राह्मण प्रत्याशी नहीं बनाया जयपुर से संदीप शर्मा को प्रत्याशी बनाया था ।

S.C.G.C.I SCHOOL TONK

लेकिन उनके मैदान छोड़ने के बाद अब एक भी ब्राह्मण प्रत्याशी राजस्थान में लोकसभा चुनाव में नहीं है ऐसी स्थिति में ब्राह्मण मतदाताओं को रिझाने के लिए कांग्रेस भीलवाड़ा की सीट पर विचार कर रही है और यहां से पूर्व में लोकसभा चुनाव लड़ चुके नाथद्वारा निवासी डॉक्टर सीपी जोशी को मैदान में उतरने की कवायत चल रही है।

महंत जी से आमजन चुनाव लड़ने की कर रहे गुजारिश

इधर दूसरी और भीलवाड़ा जिले के सबसे बड़े धार्मिक स्थल और सब की जन-जन आस्था के केंद्र श्री पंचमुखी दरबार के महत्व के लक्ष्मण दास जी महाराज द्वारा गुरुवार को भीलवाड़ा सीट से चुनाव लड़ने के संकेत देने की खबर हमारे द्वारा सबसे पहले प्रसारित करने के बाद भीलवाड़ा की राजनीति में खलबली मच गई और दोनों ही प्रमुख राजनीतिक दल भाजपा तथा कांग्रेस के शीर्ष नेताओं को सोचने पर मजबूर कर दिया है।

इधर इस खबर के प्रसारित होने के बाद पूरे जिले पर से ही नहीं वरुण अन्य जिलों से भी महंत लक्ष्मण दास जी महाराज को जबरदस्त समर्थन मिल रहा है बड़ी संख्या में श्रद्धालु और भक्त श्री पंचमुखी दरबार पहुंचने लगे हैं और महंत जी को हर तरह से समर्थन और सहयोग का दृढ़ता से आश्वासन और साथ देने का वचन दे रहे हैं और महंत जी से वर्तमान हालात को देखते हुए चुनाव लड़ने की विनती और गुजारिश कर रहे हैं।

भाजपा करे विचार तो हो सकता समाधान

दूसरी और मेहंदी जी के चुनाव लड़ने की संकेत के बाद जिले भर में चर्चाओं का दौर शुरू हो गया है और प्रबुद्ध जन इस बात से सहमत है और उनका कहना है कि भीलवाड़ा में राजनीति में बना रहे वर्तमान हालात और विशेष कर भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में चल रही गुटबाजी को मध्य नजर रखते हुए।

अगर भारतीय जनता पार्टी इस विवाद को हमेशा हमेशा के लिए खत्म करना चाहती है तो महंत त्यागी लक्ष्मण दास जी महाराज को पार्टी की ओर से चुनाव मैदान में उतरना चाहिए ।इससे जहां सब एकमत होंगे वहीं भाजपा देश भर में सबसे बड़े अंतर के साथ इस सीट को जीत सकती है।

कुछ प्रबुद्ध जनों का तो यह तक कहना है कि अगर भाजपा महंत त्यागी लक्ष्मण दास जी को चुनाव मैदान में उतरती है तो संभावना है कि कांग्रेस अपना प्रत्याशी ही उनके सामने मैदान में न उतारे और निर्विरोध निर्वाचन हो सकता है ? क्योंकि उन्हें दोनों ही दलों के छोटे से लेकर बड़े नेता तक का समर्थन मिल सकता है क्योंकि धर्मस्थल और महंत जी के प्रति उनकी आस्था है ।

Share This Article
Follow:
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम