भीलवाड़ा

कोरोना की तीसरी लहर का खतरा, हर जुखाम ,बुखार कोरोना नही, रहे सर्तक, एमएमएस का करे उपयोग

Bhilwara News।कोरोनावायरस संक्रमण की तीसरी लहर का खतरा अब पूरी तरह से मंडराने लगा है और देश में एक बार फिर से पॉजिटिव रोगियों की संख्या मैं धीरे-धीरे इजाफा होने लगा है वर्तमान में जुखाम खांसी और बुखार के रोगियों की संख्या बढ़ने लगी है और अस्पतालों में भीड़ बढ़ने लगी है । चिकित्सकों के अनुसार हर खांसी जुखाम बुखार कोरोना नहीं हो सकता घबराए नहीं लेकिन जब तक रहे और चिकित्सक से सलाह लें ।

ढील और त्यौहार बन सकती खतरा

पिछले 24 घंटों के दौरान देश में कोरोना की कुल 46 हजार से अधिक मामले सामने आए हैं इनमें अकेले केरल में 31000 और महाराष्ट्र में 5000 से अधिक मामले सामने आए हैं । विशेषज्ञों के अनुसार केरल में कोरोना पॉजिटिव की संख्या में बढ़ोतरी का कारण ओणम महोत्सव के बाद एकदम संक्रमण बड़ा है इसी तरह देशभर में भी प्रदेश की सरकारों द्वारा दी जा रही लगातार ऑटो डील आगामी दिनों में तीसरी लहर के रूप में खतरा बन सकती है ।

देश में कोरोना की स्थिति

24 घंटे में नए मामले 46,227
कुल सक्रिय मामले 3,27,684
24 घंटे में टीकाकरण 79.43 लाख
कुल टीकाकरण 60.28 करोड़
कुल मामले 3,25,57,729
मौतें (24 घंटे में) 605
कुल मौतें 4,36,396
ठीक होने की दर 97.67 फीसदी
मृत्यु दर 1.34 फीसदी
पाजिटिविटी दर 2.10 फीसदी
सा.पाजिटिविटी दर 1.92 फीसदी
(आंकड़े कोविड-19इंडिया.ओआरजी के अनुसार)

एक्सपर्ट क्या कहते

वर्तमान में खांसी जुखाम बुखार का दौर चल रहा है और किसी व्यक्ति को बुखार जुखाम खांसी होती तो वह घबराए नहीं चिकित्सक से सलाह ले ले यह 4 से 5 दिन में ठीक हो जाता है तथा खांसी जुकाम बुखार होने पर भी वह रोगी एक दूसरे मैं संपन्न बनना फिल्म इसलिए सावधानी रखें तथा अपना टेस्ट कराएं और 5 दिन के बाद भी सर्दी जुखाम बुखार आती रहती है तो करो ना का टेस्ट कराएं और चिकित्सक से सलाह लें ।

कोरोना संक्रमण की तीसरी संभावित लहर से बचाव के लिए हर आमजन एमएमएस अर्थात (माॅस्क,सेनेटाइजर, सोशल डिस्टैंसिंग) रखें और नित्य योगासन और प्राणायाम करें तथा पौष्टिक आहार लें पौष्टिक आहार में विटामिन संयुक्त भोजन ग्रहण करें जैसे अमरूद आंवला नारंगी नींबू का रस सेवन करें तथा तरल पदार्थों का अधिक उपयोग करें और ठंडी चीज है काम में ना लें।

डाॅ. डी एल काष्ट
वरिष्ठ फिजिशियन
भीलवाड़ा

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम