सीएमएचओ डाॅ.गोस्वामी द्वारा सोनोग्राफी सेंटरों का निरीक्षण संदेह के दायरे में ?

Dr. CHETAN THATHERA
3 Min Read

भीलवाड़ा। मुख्य चिकित्साएं स्वास्थ्य अधिकारी सीएमएचओ डाॅ. सी पी गोस्वामी सरकार के आदेशों की मात्र खानापूर्ति कर शहर के सोनोग्राफी सेंटरो और निजी अस्पतालों में संचालित सोनोग्राफी केदो का निरीक्षण कर रहे हैं ? इसका आकलन उनके द्वारा किए जा रहे निरीक्षक और जारी प्रेस नोट से प्रतीत होता है ।

राज्य समुचित प्राधिकारी पीसीपीएनडीटी एवं मिशन निदेशक एनएचएम राजस्थान जयपुर के निर्देश है की सभी सीएमएचओ अपने-अपने जिलों में सभी निजी सोनोग्राफी सेंटर और निजी अस्पताल में संचालित सोनोग्राफी केंद्रो की आकस्मिक जांच करें और कार्रवाई करें।

नियम देखें 

उच्च अधिकारियों किस दिशा निर्देश पर भीलवाड़ा सीएमएचओ डॉक्टर सीपी गोस्वामी निजी सोनोग्राफी सेंटर और निजी अस्पताल में संचालित सोनोग्राफी केदो का निरीक्षण तो कर रहे हैं लेकिन इन सेंटरों और केदो पर सरकार द्वारा और पीसीपीएनडीटी एक्ट के तहत नियमों की पालना और नियमों में क्या कमियां पाई गई है।

इसको लेकर आज दिन तक उनके द्वारा जारी प्रेस नोट में कहीं उल्लेख नहीं किया जाता है कि इस सोनोग्राफी सेंटर पर यह कमियां पाई गई। नियम में यह है कि जहां कमी पाई जाती है।

उसके खिलाफ सीधी सीधी कार्रवाई होती है और कार्रवाई में केंद्र को बंद करने जैसे भी नियम है। (नियमों का एक पूरा लिंक हम नीचे खबर में देंगे)।

लेकिन आज दिन तक सीएमएचओ ने भीलवाड़ा जिले में किसी भी केंद्र के बारे में अपने सरकारी प्रेस नोट में यह उल्लेख नहीं किया कि यहां यह कमियां है और इसके खिलाफ यह कार्यवाही की गई उनका सरकारी प्रेस नोट सिर्फ रटे हुए तोते की तरह आता है कि निरीक्षण किया और इनको पाबंद किया जबकि नियमों में पाबंद करने जैसा कुछ भी उल्लेख नहीं है ।

इस संबंध में जब आज सीएमएचओ डॉक्टर सी पी गोस्वामी से दूरभाष पर यह जानकारी चाहिए कि आज आपने आठ सोनोग्राफी सेंटरों और केदो का अपने निरीक्षण किया उनमें क्या कमियां थी पहले तो वह इस बात को टालते रहे फिर बाद में उन्होंने कहा कि आनंद डायग्नोस्टिक केंद्र पर रेट लिस्ट नहीं थी तब हमने उनसे पूछा कि और किन-किन सेंटर पर क्या कमियां थी तो वह बताने से टाल गए।

उनसे दो-तीन बार पूछा गया की और सेंटरों पर क्या कमियां पाई गई बताएं लेकिन वह बताने से टालम टोल करते रहे। सीएमएचओ डॉक्टर सी पी गोस्वामी का टालम टोल वाला यह रवैया इंगित करता है कि वह या तो कुछ मीडिया से छुपा रहे हैं ? या फिर वह सोनोग्राफी सेंटर से कोई …. आप समझदार हैं समझ गए होंगे।

Share This Article
Follow:
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम