भीलवाड़ा में रिश्तेदारों ने ही घर में डाला डाका, कोतवाली पुलिस ने किया खुलासा,एक महिला सहित 4 गिरफ्तार

Dr. CHETAN THATHERA
4 Min Read

भीलवाड़ा। लालच इंसान को किस कदर अंधा बना देता है कि वह अपने रिश्तो को ही भूल जाता है ऐसा ही कुछ घटित हुआ भीलवाड़ा शहर के कोतवाली थाना क्षेत्र जहां 10 दिन पर घर के ही रिश्तेदारों ने मिलकर ढाका अर्थात चोरी करते हुए 90 लाख से अधिक रुपए चुरा लिए इसका कोतवाली पुलिस ने खुलासा करते हुए एक महिला सहित चार जनों को गिरफ्तार किया है ।

पुलिस अधीक्षक राजन दुष्यंत ने यह जानकारी देते हुए बताया कि शहर कोतवाली थाना क्षेत्र में स्थित हरणीकला में देवनारायण मंदिर के निकट रहने वाले बक्षु लाल जाट पुत्र स्वर्गीय ओंकार लाल जाट ने 15 जून को कोतवाली थाना में एक रिपोर्ट दी थी कि मेरे घर में स्थित लॉकर में जमीन बेचने से प्राप्त हुए 90 लाख 50000 रुपए रखे हुए थे जो चोरी हो गए।

घर से इतनी बड़ी चोरी होने की सूचना मिलने पर कोतवाली पुलिस और उच्च अधिकारियों ने मौके पर जाकर घटनास्थल का बारीकी से निरीक्षण करते हुए जांच पड़ताल की। जांच पड़ताल में यह सामने आया कि लाॅकर को चाबी से खोलकर चोरी करने के बाद वापस लाॅकर को लॉक किया गया और चाबी वही रख दी गई। यह जांच में आने के बाद परिवार के ही लोगों पर शंका हुई ।

इस पर शहर कोतवाल और टीम ने परिवार के सदस्यों को शंका के दायरे में रखते हुए जांच पड़ताल शुरू की और परिवार के सदस्यों तथा जानकार लोगों से तकनीकी और फोन कॉल डिटेल के आधार पर अलग-अलग पूछताछ शुरू की तो सामने आया कि बक्षु जाट के रिश्ते में ही लगने वाली उसकी पोती श्रीमती पूजा चौधरी पत्नी कैलाश चंद्र चौधरी निवासी भैंसा कुंडल हमीरगढ़ अधिक संदेह के दायरे में आई।

इस पर उसे थाने लाकर सख्ती से की गई पूछताछ में उसने अपना जुर्म स्वीकार करते हुए पुलिस को बताया कि वह हरणी कला गांव अपने दादा बक्षु के आई हुई थी और जमीन बेचने से मिले रूपयों की राशि का उसे पता था और कहां रखी गई थी तथा चाबी उनके घर की दादी के पास है इसकी उसे भनक थी इस पर उसने योजना बनाते हुए ।

रात को जब दादी सो गई तो उसकी कनकती से लाॅकर की चाबी धीरे से निकाल कर लाॅकर खोलकर रुपए निकाल लिए और अपनी इस योजना में उसने अपने ही रिश्तेदार सुरेश जाट पिता देवीलाल और हंसराज उर्फ सोनू पुत्र रामलाल जाट दोनों ही निवासी भोली थाना मांगरोप तथा नारायण जाट पुत्र रामचंद्र जाट निवासी चंद्रशेखर आजाद नगर को शामिल कर लिया और रुपए निकाल कर उसने उनको दे दिए और वह वापस घर पर चुपचाप सो गई ।

पुलिस अधीक्षक दुष्यंत ने बताया कि इस खुलासे के बाद सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है और उनसे 82 लाख रूपए नकद तथा डेढ़ लाख रुपए में खरीदी गई कर और चोरी की वारदात में उपयोग मिली गई मोटरसाइकिल बरामद कर ली है इन चारों से पूछताछ की जा रही है।

Share This Article
Follow:
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम