Deepawali pr grhan kab kare pooja kab annkut grhan ka kya padega prbhav
भीलवाड़ा राजस्थान

दिपावली पर ग्रहण, कब करें पूजा, कब अन्नकूट, ग्रहण का क्या पड़ेगा प्रभाव जानें

भीलवाडा/ इस बार दीपावली पर ब्रह्मांड में सूर्य ग्रहण होने और दो अमावस्या होने के कारण जहां दीपावली 9 को लेकर संशय है तो वही अंकूट कब होगा इसको लेकर भी ऊहापोह और की स्थिति आमजन में है।

इसी को लेकर ज्योतिष नगरी कारोई स्थित वेद गायत्री ज्योतिष अनुसंधान केंद्र के ज्योतिष डॉक्टर पंडित गोपाल पुत्र नानूराम उपाध्याय ने ने शास्त्रों और पंचांग के अनुसार स्पष्ट किया है कि दीपावली किस दिन बनेगी ।

धनतेरस की पूजा का मुहूर्त क्या है दीपावली की पूजा का मुहूर्त क्या है और अंकुर कब मनाया जाएगा तथा ग्रहण के कारण क्या प्रभाव पड़ेगा यह सब बताया है दैनिक रिपोर्टर्स डॉट कॉम को आइए जानते हैं।

धन तेरस कब और पूजा व खरीददारी कब करे

धनतेरस रविवार 23 अक्टूबर को मनाई जाएगी धनतेरस पर पूजा व दीपदान का मुहूर्त साइकल प्रदोष विला में 5:59 से रात 8:32 तक रहेगा तथा खरीददारी के लिए प्रातः 9:15 से 12:00 तक लाभ अमृत वेला में और दिन में 1:30 से 3:00 बजे तक सुपेला में खरीदारी कर सकते हैं।

दीपावली कब और पूजा के मुहूर्त

इस वर्ष दीपावली 24 अक्टूबर सोमवार को मनाई जाएगी इस दिन भी अमावस्या है और 25 अक्टूबर को भी सवेरे अमावस्या है।

लेकिन इस दिन सूर्य ग्रहण है 24 अक्टूबर सोमवार को दीपावली की स्थापना कलम दवा सवारने एवं पूजा के मुहूर्त किस प्रकार हैं।

प्रातः 6:45 से 7:30 तक अमृतवेला

दिन में 9:33 से 10:55 शुभ वेला

दिन में 11:59 से 12:44 अभिजीत वेला

दिन में 1:46 से 3:10 चंचल बेला

दिन में 3:10 से 5:58 लाभ अमृत वेला

सांय 5:58 से रात 8:32 तक गोदलीवेला

रात 7:14 से 9:11 तक वृषभ लग्न स्थिर संज्ञक

अर्ध रात्रि सिंह लग्न 1:42 से 3:57 तक रहेगा जो लक्ष्मी पूजन के लिए श्रेष्ठ होगा।

अन्नकूट कब और सूर्य ग्रहण

दीपावली पर्व के अगले दिन 25 अक्टूबर मंगलवार को गोवर्धन पूजा और अंकुर मनाया जाता है लेकिन इस साल 25 अक्टूबर को सूर्य ग्रहण भी है जिसका सूतक भारतीय समय के अनुसार प्रातः(अलवेला) मे 4:31 पर शुरू होगा ।

ग्रहण का स्पर्श शाम को 4:30 पर होगा तथा मध्य 5:14 पर और ग्रहण का मोक्ष 5:57 पर होगा अर्थात सूर्य ग्रहण कल शाम 4:30 से शुरू होगा और 5:57 तक सूर्य ग्रहण रहेगा इस सूतक और ग्रहण अवधि के दौरान मंदिर के पट बंद रहेंगे और अंकूट का पर्व सूर्य ग्रहण की समाप्ति के बाद मनाया जाएगा।

ग्रहण कहां-कहां दिखेगा

यह सूर्य ग्रहण भारत सहित ग्रीनलैंड आइसलैंड स्वीडन नार्वे आईलैंड फ्रांस जर्मनी स्पेन लीबिया सूडान यमन ओमान सऊदी अरेबिया इटली इंग्लैंड बेलारूस पोलैंड रोमानिया इराक ईरान सीरिया पाकिस्तान अफगानिस्तान कजाकिस्तान श्रीलंका चीन मास्को रूस नेपाल भूटान आदि जगह खंडग्रास के रूप में देखा जा सकेगा।

ग्रहण का प्रभाव राशियों पर असर

सूर्य ग्रहण का प्रभाव भारत सहित पूरी दुनिया में उथल-पुथल लाएगा विश्व के अनेक देशों में मंदी की मार पड़ेगी और महंगाई बढ़ेगी तथा अनेक देशों में सत्ता पक्ष विपक्ष में बंद होंगे और कुछ देशों में सत्ता परिवर्तन या तख्तापलट तक भी होगा।

जबकि कुछ देश युद्ध नमाज को लेकर तत्पर रहेंगे इस ग्रहण के कारण विश्व में किसी बड़े राजनेता की अपमृत्यु योग भी बन रहे हैं ।

इस ग्रहण का प्रभाव भारत में भी देखने को मिलेगा केंद्र सरकार मैं नरेंद्र मोदी के खिलाफ विपक्ष एकमत होने की कोशिश करेंगे कुछ हद तक विपक्ष इसमें सफलता भी हासिल करेंगे लेकिन फिर भी वह मोदी को सत्ता पाने से नहीं रोक पाएंगे।

इस ग्रहण से अनेक प्राकृतिक आपदाएं देखने को मिलेगी जिसमें भूकंप शीतलहर व बर्फबारी रिकॉर्ड तोड़ होगी इस ग्रहण का अमुक अमुक राशियों पर भी इस तरह प्रभाव होगा।

मेष सामान्य ,वृषभ शुभ सुखद, मिथुन सामान्य, कर्क नेष्ट, अशुभ ,

सिंह , शुभ , कन्या सामान्य 

तुला अशुभ , वृश्चिक अशुभ ,धनु,शुभ

 धनु शुभ, मकर शुभ, कुंभ सामान्य 

मीन अशुभ प्रभाव देखने को मिलेंगे ।

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम