Politics on East Rajasthan: BJP is searching for lost land, saving Congress stronghold
भीलवाड़ा

भीलवाड़ा सहाडा विस उपचुनाव- कांग्रेस से ब्राह्मण और भाजपा से जाट होगे आमने-सामने, लेकिन क्या होगा , पढ़े पूरी ख़बर

भीलवाड़ा/ जिले की रायपुर सहाड़ा विधानसभा क्षेत्र में होने वाले उपचुनाव को लेकर प्रत्याशी चयन को लिखकर भाजपा और कांग्रेस दोनों ही दलों में मंथन का दौर और टिकट चाहने वालों की जोर आजमाइश जारी है हालांकि निर्वाचन आयोग ने अभी चुनाव की घोषणा नहीं की है लेकिन दोनों ही राजनीतिक दल चुनाव की तैयारी में युद्ध स्तर पर जुट चुके हैं भाजपा जहां इस खोई हुई सीट को वापस हथियाना चाहती है तो वहीं दूसरी ओर कांग्रेश इस सीट पर अपना कब्जा बरकरार रखना चाहने के साथ ही कांग्रेश की प्रतिष्ठा भी इस सीट पर दांव पर लगी है कांग्रेश जहां सहानुभूति की लहर को ध्यान में रखते हुए दिवंगत कांग्रेसी के विधायक कैलाश त्रिवेदी के परिजनों में से किसी एक को टिकट देने पर मंथन कर रही है

 

टिकट के दावेदार कौन-कौन

 

कांग्रेस — कांग्रेस से दिवगंत विधायक कैलाश त्रिवेदी के परिवार से उनकी पत्नी गायत्री देवी बडा पुत्र संदीप , मझला रणदीप और सबसे छोटा जयदीप तथा स्वर्गीय कैलाश जी का छोटा भाई राजेन्द्र त्रिवेदी इनके अलावा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री रहे दिवगंत रामपाल उपाध्याय के छोटे भाई नारायण उपाध्याय की पत्नी ज्योति और कांग्रेस के जमीनी तथा वरिष्ठ नेता श्याम पुरोहित है ।

भाजपा– पूर्व विधानसभा का चुनाव हारे रूप लाल जाट , पूर्व मंत्री और बीज निगम के पूर्व अध्यक्ष डाॅ रतन लाल जाट तथा समाज सेवी तथा निर्दलीय विधानसभा का चुनाव लड भाजपा प्रत्याशी रूप लाल जाट को हराने मे महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले और हाल ही मे भाजपा मे शिमिल हुए लादू लाल पितलिया

क्या है समीकरण और गणित व आतंरिक रिपोर्ट

 

कांग्रेस मे दिवगंत विधायक त्रिवेदी के परिवार मे टिकट को लेकर एकमत नही है स्वर्गीय कैलाश जी की पत्नी चाहती है की उनके बेटो मे से किसी एक को टिकट मिले भाई राजेन्द्र को नही । दूसरी और पार्टी की रिपोर्ट तथा सरकारी स्तर पर आतंरिक रिपोर्ट के अनुसार जो आलाकमान तक पहुंची है उसके अनुसार अगर दिवगंत त्रिवेदी परिवार को सहानुभूति की लहर के आधार पर टिकट दिया जाता है तो कांग्रेस पार्टी यह सीट गंवा सकती है । अब विकल्प के रूप मे किसी ब्राह्मण को टिकट देना है तो नारायण उपाध्याय की पत्नी ज्योति और जमीनी कार्यकर्ता श्याम पुरोहित है नारायण उपाध्याय की बात की जाय तो पिछले लंबे समय से पार्टी मे उनकी सक्रियता कम हुई है और पुरोहित लगातार सक्रिय है अपनी पकड बनाए हुए है ऐसे मे भाजपा को कांटे की टक्कर दी जा सकती है ।

भाजपा मे बात की जाए तो भाजपा ज्तिगत समीकरण को ध्यान मे रखते हुए किसी जाट को ही टिकट देगी ऐसे मे पूर्व मंत्री डॉ रतन लाल जाट।तथा पिछला विस चुनाव10 हजार से कम अंतर से चुनाव हारे रूप लाल जाट है इन दोनो जाट बंधुओ मे से वर्तमान ह्लात के मद्देनजर रूपलाल जाट सट निकालने या कांग्रेस को टक्कर देनै मे अधिक सशख्त है ।

रायपुर- सहाडा विधानसभा मे कितने मतदाता और किस जाति के कितने

कुल मतदाता–2 लाख 46 800

ब्राह्मण–35500
जाट–32000
गाडरी– 23000
भील–16000
कुमावत–12000
बैरवा–9000

माली -14000
महाजन-8000
साल्वी–5500
कालबेलिया–5000
रावणा(दरोगा)5500
राजपूत– 4000
लौहार–2000
सुथार– 2200
तेली– 4000
रेगर–3000
खटीक– 4000
जीनगर–1500
दर्जी–1000

मुस्लिम –14000

कलाल– 1000
हरिजन–1500
बंजारा–2500
सुनार–500
रेबारी–1500
वैष्णव–1500
अन्य–5800

नोट– जातिगत मतदाता की संख्या अनुमानित है । कृपया इस खबर की कापी न करे अन्यथा नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी कष्ट के लिए क्षमा ।

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम