भीलवाड़ा

भीलवाड़ा में बालिका वधु मानसी ने नकारा बाल विवाह, कोर्ट की ली शरण, पति को समन जारी, डाॅ कृति भारती की पहल

भीलवाड़ा/ तकरीबन ग्यारह साल पहले महज सात साल की अबोध उम्र में बाल विवाह के बेडियों में जकड़ी भीलवाड़ा जिले की बालिका वधु मानसी ने जोधपुर के सारथी ट्रस्ट की मैनेजिंग ट्रस्टी व पुनर्वास मनोवैज्ञानिक डाॅ.कृति भारती का संबल पाकर बाल विवाह को नकारने का हौंसला दिखाया है। वहीं बालिका वधु ने सारथी ट्रस्ट की मदद से भीलवाड़ा के पारिवारिक न्यायालय में दस्तक देकर बाल विवाह निरस्त के लिए वाद पेश किया। जिस पर पारिवारिक न्यायालय के न्यायाधीश मुकेश भार्गव ने संवेदनशीलता दिखाकर प्रकरण दर्ज कर मानसी के तथाकथित पति को समन जारी किया है।

बाल विवाह कतई नहीं मंजूर

 

देश में पहला बाल विवाह निरस्त करवाकर रिकाॅर्ड कायम करने और अब तक 41 बाल विवाह निरस्त करवाने के लिए विख्यात जोधपुर के सारथी ट्रस्ट की मैनेजिंग ट्रस्टी एवं पुनर्वास मनोवैज्ञानिक डाॅ.कृति भारती ने बताया कि मूल रूप से भीलवाडा जिले के पालडी निवासी अठारह वर्षीय मानसी का बाल विवाह महज सात साल का उम्र में वर्ष 2009 में बनेडा तहसील निवासी युवक के साथ हुआ था। अब मानसी ने बाल विवाह निरस्त के लिए आवाज बुलंद की है।

न्यायालय में वाद दायर, समन जारी

मानसी को डाॅ.कृति भारती की बाल विवाह निरस्त की मुहिम के बारे में जानकारी मिलने के बाद उनसे बाल विवाह निरस्त के लिए सम्पर्क किया। जिस पर डाॅ.कृति ने जोधपुर से भीलवाडा आकर पारिवारिक न्यायालय में मानसी के बाल विवाह निरस्त का वाद दायर किया। पारिवारिक न्यायालय के न्यायाधीश मुकेश भार्गव ने बाल विवाह निरस्त के मामले में संवेदनशीलता दिखाकर मानसी के तथाकथित पति को समन जारी किया।

बाल विवाह निरस्त में सिरमौर

 

विदित है कि सारथी ट्रस्ट की डाॅ.कृति भारती ने ही देष का पहला बाल विवाह निरस्त करवाया था। सारथी ट्रस्ट ने अब तक 41 जोडों के बाल विवाह निरस्त करवा दिए हैं। वहीं करीब 1400 से अधिक बाल विवाह रूकवाएं हैं। डाॅ.कृति भारती ने 2015 में तीन दिन में दो बाल विवाह निरस्त करवाकर वर्ल्ड रिकार्ड्स इंडिया और लिम्का बुक आॅफ रिकाॅर्ड सहित कई रिकाॅर्ड्स में नाम दर्ज करवाया था। सीबीएसई ने भी कक्षा 11 के पाठ्यक्रम में सारथी की मुहिम को शामिल किया था। कृति भारती को टैफेड मैग्जीन के वर्ल्ड टॉप टेन एक्टिविस्ट सूची, बीबीसी हिंदी की 100 प्रभावशाली महिलाओं की सूची, मारवाड व मेवाड रत्न के अलावा कई राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय सम्मानों से नवाजा जा चुका है।

इनकी जुबानी

मुझे बाल विवाह मंजूर नहीं है। डाॅ.कृति दीदी की मदद से बाल विवाह निरस्त का वाद दायर किया है। अब मुझे जल्दी ही बाल विवाह से मुक्ति मिलने की उम्मीद बंधी है। मैं आगे भविष्य संवारकर पढ लिखकर शिक्षिका बनना चाहती हूं।
 मानसी, बाल विवाह पीडिता

इनकी जुबानी

 

मानसी के बाल विवाह निरस्त के लिए पारिवारिक न्यायालय भीलवाडा में वाद पेश किया गया है। न्यायाधीश महोदय ने तथाकथित पति को समन जारी किया है। अब बालिका वधु को बाल विवाह से जल्दी ही मुक्ति मिलने की उम्मीद जगी है। साथ ही बालिका वधु के बेहतर पुनर्वास के लिए प्रयास किए जा रहे हैं।
– डाॅ.कृति भारती, पुनर्वास मनोवैज्ञानिक, मैनेजिंग ट्रस्टी, सारथी ट्रस्ट, जोधपुर।

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम