बालिका वधू मानसी को सारथी की कृति ने कराया बंधन मुक्त

Bhilwara News।महज सात साल की अबोध उम्र में ब्याही भीलवाडा जिले की 19 वर्षीय बालिका वधु मानसी को आखिरकार 12 साल बाद जोधपुर के सारथी ट्रस्ट की मैनेजिंग ट्रस्टी व पुनर्वास मनोवैज्ञानिक डॉ.कृति भारती के संबल से बाल विवाह के वनवास से मुक्ति मिल गई। बालिका वधु मानसी ने सारथी ट्रस्ट की मदद से भीलवाडा …

बालिका वधू मानसी को सारथी की कृति ने कराया बंधन मुक्त Read More »

September 4, 2021 1:36 pm
बालिका वधू मानसी को सारथी की कृति ने कराया बंधन मुक्त%%title%% %%sep%% %%sitename%%

Bhilwara News।महज सात साल की अबोध उम्र में ब्याही भीलवाडा जिले की 19 वर्षीय बालिका वधु मानसी को आखिरकार 12 साल बाद जोधपुर के सारथी ट्रस्ट की मैनेजिंग ट्रस्टी व पुनर्वास मनोवैज्ञानिक डॉ.कृति भारती के संबल से बाल विवाह के वनवास से मुक्ति मिल गई। बालिका वधु मानसी ने सारथी ट्रस्ट की मदद से भीलवाडा के पारिवारिक न्यायालय में दस्तक देकर बाल विवाह निरस्त की गुहार लगाई थी। जिस पर पारिवारिक न्यायालय के न्यायाधीश हरिवल्लभ खत्री ने संवेदनशीलता दिखाकर मानसी के बाल विवाह निरस्त का ऐतिहासिक फैसला सुनाकर बाल विवाह के खिलाफ कडा संदेश दिया।

सात साल की उम्र में ब्याही थी मानसी

देश में बाल विवाह निरस्त मुहिम की प्रणेता और अब तक 43 बाल विवाह निरस्त करवाने के लिए विख्यात जोधपुर के सारथी ट्रस्ट की मैनेजिंग ट्रस्टी एवं पुनर्वास मनोवैज्ञानिक डॉ.कृति भारती ने बताया कि मूल रूप से भीलवाडा जिले के पालडी निवासी उन्नीस वर्षीय मानसी का बाल विवाह महज सात साल का उम्र में वर्ष 2009 में बनेडा तहसील निवासी युवक के साथ हुआ था। करीब 12 साल तक बाल विवाह का दंश झेला। इस दौरान जाति पंचों व अन्य की ओर से लगातार गौना करवाने के लिए दबाव बनाया जाता रहा। वहीं कई धमकियां भी मिलती रही।

सारथी के संबल से न्यायालय में दस्तक

इस बीच मानसी को डॉ.कृति भारती की बाल विवाह निरस्त की मुहिम के बारे में जानकारी मिलने के बाद उनसे बाल विवाह निरस्त के लिए सम्पर्क किया। डॉकृति ने इसी साल मार्च माह में जोधपुर से भीलवाडा आकर पारिवारिक न्यायालय में मानसी के बाल विवाह निरस्त का वाद दायर किया।

पारिवारिक न्यायालय भीलवाडा में मानसी के साथ डॉ.कृति भारती ने पेश होकर न्यायालय को बाल विवाह संबंधी तथ्यों से अवगत करवा पैरवी की। जिसके बाद पारिवारिक न्यायालय के न्यायाधीश हरिवल्लभ खत्री ने बालिका वधु मानसी के 12 साल पहले महज सात साल की उम्र में हुए बाल विवाह को निरस्त करने का ऐतिहासिक फैसला सुनाया।

जिससे मानसी को बाल विवाह के वनवास से मुक्ति मिल गई। न्यायाधीश खत्री ने बाल विवाह के खिलाफ समाज को कडा संदेश देते हुए कहा कि बाल विवाह के बंधन से मासूमों का वर्तममान व भविष्य दोनों खराब होता है। वहीं सारथी ट्रस्ट की डॉ.कृति भारती के बाल विवाह निरस्त की साहसिक मुहिम की मुक्तकंठ सराहना की।

43 बालिका वधू को विवाह से किया मुक्त और….

जोधपुर के सारथी ट्रस्ट की डॉ.कृति भारती ने देश का पहला बाल विवाह निरस्त करवाया था। डॉ कृति ने अब तक राजस्थान में 43 जोड़ों के बाल विवाह निरस्त करवाने के अलावा 1500 से अधिक बाल विवाह रूकवाने के लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड, वर्ल्ड रिकॉर्ड इंडिया सहित आधा दर्जन से अधिक रिकॉर्ड कायम कर रखा है।

डॉ.कृति की साहसिक मुहिम को सीबीएसई पाठ्यक्रम में भी शामिल किया गया। डॉ.कृति भारती का नाम वर्ल्ड टॉप टेन एक्टिविस्ट, बीबीसी 100 वुमन सूची में शुमार है। वहीं मारवाड व मेवाड रत्न सहित कई राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय सम्मानों से नवाजा जा चुका है।

अब भविष्य की उडान भरूंगी

मुझे डॉ.कृति दीदी की मदद से बाल विवाह के वनवास से मुक्ति मिल चुुकी है। मैं बीए द्वितीय वर्ष में पढ रही हूं, अब आगे पढ लिखकर शिक्षिका बनना चाहती हूं।

मानसी, बाल विवाह पीडिता

इनका जुबानी

मानसी के बाल विवाह निरस्त का पारिवारिक न्यायालय भीलवाडा ने ऐतिहासिक फैसला सुनाया। न्यायाधीश महोदय हरिवल्लभ खत्री ने बाल विवाह के मुद्दे पर संवेदनशीलता दिखाकर बाल विवाह निरस्त कर दिया। हम अब बालिका वधु मानसी के बेहतरीन पुनर्वास के लिए प्रयासरत हैं।

डॉ.कृति भारती, पुनर्वास मनोवैज्ञानिक, मैनेजिंग ट्रस्टी, सारथी ट्रस्ट, जोधपुर।

Prev Post

​​TVS Apache RR 310 launched in India, features

Next Post

Child bride married at 7 years, now after 12 years Saarthi Trust freed her from the exile of child marriage

Related Post

Latest News

सचिन पायलट के विधायक जोड़ो अभियान को धक्का, जिन विधायकों से संपर्क किया वो सीएम के पास पहुंचे 
पटवारी 20 हजार रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथों अरेस्ट
राजकुमार शर्मा को ब्रेन हेमरेज

Trending News

वसुंधरा राजे के बाद अब सतीश पूनिया ने भी की भी त्रिपुरा सुंदरी मंदिर में पूजा-अर्चना
कांग्रेस के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष होंगे खड़गे,8 अक्टूबर को हो सकती घोषणा
राजस्थान के मंत्रियो व कांग्रेस विधायको को चेतावनी
NPS कार्मिक 01 अप्रैल 2022 के पश्चात NPS आहरण की राशि को पुनः 31 दिसंबर 2022 तक एकमुश्त अथवा अधिकतम 4 किस्तों में जमा करानी होगी

Top News

सचिन पायलट के विधायक जोड़ो अभियान को धक्का, जिन विधायकों से संपर्क किया वो सीएम के पास पहुंचे 
टोंक शांति एवं सद्भावना समिति की बैठक आयोजित
जयपुर को मिली एबीवीपी के राष्ट्रीय अधिवेशन की मेजबानी, अमित शाह करेंगे उद्घाटन सत्र में शिरकत
विजयादशमी पर  जयपुर में 29 स्थानों पर संघ का पथ संचलन, शस्त्र पूजन व शारीरिक प्रदर्शन भी होंगे
वसुंधरा राजे के बाद अब सतीश पूनिया ने भी की भी त्रिपुरा सुंदरी मंदिर में पूजा-अर्चना
टोंक जिला स्तरीय राजीव गांधी युवा मित्र प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित%%page%% %%sep%% %%sitename%%
Upload state insurance and GPF passbook in new version of SIPF
मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना से सुमन, रिजवाना बानो एवं दिनेश को मिली राहत
पटवारी 20 हजार रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथों अरेस्ट
राजकुमार शर्मा को ब्रेन हेमरेज