Bhilwara / होलिका दहन के लिए माधव गौशाला उपलब्ध कराएगी गोबर के कण्डे व गोकास्ट


वैदिक होलिका दहन के लिए करेंगे जागरूक

Bhilwara news (मूलचन्द पेसवानी )- भीलवाड़ा में वैदिक होलिका दहन के लिए माधव गौशाला गोबर के कण्डे, गोकास्ट व बड़बुलिए उपलब्ध कराएगी। शहर सहित जिलेभर में गोबर के कण्डों की होली दहन हो इसके लिए गौशाला में लाखों की तादाद में कण्डे व गोकस्ट तैयार किए जा रहे है।

साथ ही बड़बुलियों की मालाएं भी बड़ी संख्या में तैयार की जा रही है। आयोजन समितियां माधव गौशाला में सम्पर्क कर होलिका दहन के लिए आवश्यकतानुसार कण्डे, कास्ट व बड़बुलिए प्राप्त कर सकते है। परम पूज्य माधव गौ विज्ञान अनुसंधान संस्थान के अध्यक्ष डीपी अग्रवाल व सचिव सत्यप्रकाश गग्गड़ ने बताया कि संस्थान होलिका दहन के लिए कण्डे उपलब्ध कराने के साथ ही वैज्ञानिक पद्धति से होलिका दहन करने के लिए जागरूकता भी फैलाएगा।

उन्होंने बताया कि विदेशों में हुए अनुसंधान से निष्कर्ष निकला कि एक ही तिथि व समय में सार्वजनिक रूप से 111 प्रकार की दिव्य औषधियों व गोबर के कण्डों से वैदिक पद्धति द्वारा होलिका दहन की जाए तो उसकी गैस से और आहुति पश्चात अग्नि प्रदक्षिणा करे तो शरीर में बढे कफ दोश का शमन होता है और संक्रामक रोगो से बचा जा सकता है।

वैदिक होलिका दहन के लिए जड़ी बुटियां गायत्री परिवार व पंतजलि केन्द्र से प्राप्त की जा सकती है। पर्यावरण संरक्षण को लेकर की गई इस पहल के तहत होलिका दहन आयोजन समितियों को कण्डे उपलब्ध कराकर उनसे पेड़ो की कटाई नही करने व जहां तक हो सके गोबर के कण्डे व बड़बुलियों का प्रयोग करने का आग्रह किया जाएगा।

गौरतलब है कि होलिका दहन के लिए प्रतिवर्ष सैकड़ो पेड़ो की कटाई होती है। इसे रोकने के लिए संस्थान ने इस बार पेड़ो की कटाई नही करने के आग्रह के साथ गोबर के कण्डे सशुल्क कराने की व्यवस्था शुरू करने की योजना बनाई है।