Bhilwara / भीलवाड़ा नगर परिषद मे हंगामे के बीच

  • 295 करोड का बजट पारित
  • बजट शहर के विकास और जनता को समर्पित-श्रीमती चेचाणी
  • अब शहर की जनता को कम्यूनिटी हाल किराए मे राहत

Bhilwara News (चेतन ठठेरा ) :  नगर परिषद की आज साधारण सभा की बैठक मे हंगामे के बीच सभापति मंजू चेचाणी ने 2 अरब 95 करोड रूपये का बजट पेश किया जिसे ध्वनिमत से पारित किया गया है । दो बिन्दूओ को लेकर पार्षदो ने हंगामा जरूर किया लेकिन सभापति व आयुक्त द्वारा उनकी मांग मान लेने पर वह शांत हो गए । बैठक मे बजट सहात 24 बिन्दुओं के ऐंजेडे मे से 2 बिन्दुओं को छोडकर सभी पर सर्वसम्मति बनी और ध्वनिमत से पारित हुए ।

नगर परिषद सभागार मे आज सभापति मंजू चेचाणी की अध्यक्षता मे तथा नगर परिषद आयुक्त नारायण लाल मीणा व उप सभापति मुकेश शर्मा की उपस्थिति मे परिषद की बोर्ड व बजट बैठक आहूत की गई । बैठक मे 2020-2021 के लिए 295 करोड का बजट पारित किया गया । शहर भे सडके ,नालियां सहित विभिन्न मदों मे 203 करोड 3 लाख रूपये खर्च प्रस्तावित किए गए ।।बजट मे 91 करोड 97लाख50 हजार रूपये अंथिम शेष रहने का अनुमान लगाया गया । बजट पिछले साल की तुलना मे इस बार 16 प्रतिशत अधिक है ।

सभापति श्रीमती चेचाणी ने बैठक शुरू होते ही जैसे ही बजट पढना शुरू किया की पार्षदा श्रीमती अनिता राजावत और पूर्व सभापति मंजू पोखरणा ने निर्माण कार्यो के टेंडरों मे पूल को लेकर सभापति पर भष्ट्राचार के आलोप लगाए राजावत ने कहा पहले वाली चैयरमैन(ललिता समदानी) और आप मे क्या फर्क है इस बात का पूर्व सभापति मंजू पोखरणा ने भी समर्थन किया तो कांग्रेस पार्षद आसिफ ने भी समर्थन मे खडे हो बोलने लगे लेकिन सभापति चेचाणी द्वारा यह कहा की मैने टेंडर निरस्त कर दिए है और पारदर्शिता से पुन टेंडर होंगे थब आसिफ तो बैठ गए लेकिन पोखरणा और राजावत बोलती रही इसे नजर अंदाज करते हुए चेयरमेन चेचाणी ने बजट भाषण पढती रही जिसे सदन के अन्य पार्षदो ने ध्वनिमत से पारित कर दिया । पार्षद कैलाश कृपलानी, मनोज पालीवाल, प्रहलाद त्रिपाठी, मनीष, फजले रऊफ(लुत्फी) ने कहा की जब टेंडर ही निरस्त हो गए तो अब बोलने का औचित्य क्या केवल फोटो खिंचवाने की राजनीति हो रही है ।

पदच्युत सभापति समदानी नही आई

बैठक मे दो पूर्व सभापति दीपिका कंवर और मंजू पोखरणा मौजूद थी लेकिन अविश्वास प्रस्ताव से हटाई गई तत्कालीन सभापति ललिता समदानी बैठक मे नही आई । बैठक के बाद चर्चा थी की समदानी अपनी हंसी बैने और हीनभावना के कारण बैठक मे नही आई ।

आजाद चौक, चित्रकूट धाम ग्राउंड फ्री मिलेगा

नगर परिषद के पीछे स्थित चित्रकूट धाम मैदान, आजाद चौक मैदान व हरणी महादेव मेला ग्राउंड को विभिन्न धार्मिक एवं सामाजिक कार्यों के लिए निशुल्क आवंटित करेगी। यह आवंटन चैरिटेबल संस्थाओं, केंद्र एवं राज्य सरकार, जिला प्रशासन द्वारा आयोजित कार्यक्रमों के लिए ही दिया जाएगा। इसका अधिकार चेयरमैन को दिया गया। इससे जनता को राहत मिलेगी ।

निशुल्क टेंट पर कमिश्नर का इनकार

भाजपा पार्षद शंकर जाट ने कहा कि सामाजिक, धार्मिक व खेलकूद आयोजन के लिए नगर परिषद द्वारा निशुल्क टेंट की व्यवस्था करवाई जाए। इस पर कमिश्नर नारायण लाल मीणा ने कहा की निजी व्यक्ति या संस्थाओं के आयोजन में निशुल्क टेंट व्यवस्था का नियमों में कोई प्रावधान नहीं होना बताते हुए साफ इनकार कर दिया। इस पर विश्वबंधु सिंह राठौड़ व मनीष पालीवाल ने कहा कि पहले भी ऐसा होता रहा है। उप सभापति शर्मा ने भी इसका समर्थन किया। पर कमिश्नर ने कहा कि सदन ने यदि नियम विपरीत ऐसा प्रस्ताव पास किया तो उनकी असहमति होगी।

अब कम्यूनिटी हॉल का किराया घटाया, 3 हजार रूपये मे ही मिलेगा

नगर परिषद ने अपने छह कम्यूनिटी हॉल मालोला रोड का किराया 15 हजार 695 रुपए, धर्मतलाई पुर का 11 हजार 220 रुपए, नया जाटों का खेड़ा पुर का 10 हजार 523 रुपए, जुलाहा कच्ची बस्ती का 6617 रुपए, बाबाधाम के सामने का 20 हजार 200 रुपए तथा कीरखेड़ा कम्यूनिटी हॉल का किराया 14 हजार 65 रुपए प्रतिदिन का प्रस्ताव रखा। इसका प्रहलाद त्रिपाठी सहित अन्य पार्षदों ने विरोध करते हुए कहा कि कम्यूनिटी हॉल गरीबों के लिए हैं। इस लिए 3 हजार रुपए रखा जाए इस प्रस्ताव का सभी पार्षदो ने समर्थन किया। इस पर सदन ने सहमति दे दी।

अब नही मिलेगी,स्ट्रिप ऑफ लैंड, विरोध तो प्रस्ताव खारिज

बैठक में केदारमल जागेटिया तथा उनके पुत्र सुनीत जागेटिया को शाम की सब्जी मंडी में स्ट्रिप ऑफ लैंड बेचने का प्रस्ताव आया। इसका नवीन सभनानी सहित कुछ पार्षदों ने विरोध किया। वहीं नागेंद्र राव ने चंद्रप्रकाश व्यास को अजमेर रोड पर आईओसी पेट्रोल पंप के पीछे स्ट्रिप ऑफ लैंड देने के विरोध करते हुए नीलामी से बेचने की बात कही। पार्षदों के विरोध को देखते हुए चेयरमैन ने ये प्रस्ताव निरस्त कर दिए गए।

अवैध कॉम्पलेक्स का भी मुद्दा छाया

पार्षद नवीन सभनानी ने शहर में अवैध कॉम्पलेक्सों के निर्माण पर सवाल उठाए। उन्होंने सवाल किया कि उन पर क्या कार्रवाई होगी? लेकिन इसका जबाव न तो आयुक्त और न ही सभापति दे पाई । पार्षद मनोज पालीवाल ने इंदिरा मार्केट में स्थित परिषद के भूखंड संख्या 106 जिसकी कीमत करीब 2.50 करोड़ है उक्त भूखंड का केस परिषद द्वारा जीतने के बावजूद अब तक कब्जा नहीं लेने पर नाराजगी जताई। तब चेयरमैन चेचाणी ने कार्रवाई का भरोसा दिलाया। विश्वबंधु सिंह राठौड़ ने उनके वार्ड में कम्यूनिटी हॉल पर हो रहे अतिक्रमण हटाने की मांग की। मनीष पालीवाल ने यूआईटी द्वारा परिषद क्षेत्र में लगाए विज्ञापन यूनिपोल का मुद्दा उठाया। विजय लढ़़ा ने भूखंड विक्रय के बदले यूआईटी से मिलने वाली 15 प्रतिशत राशि के बकाया 40 करोड़ रुपए की वसूली पर जोर दिया।

बजट शहर के विकास और जनता को समर्पित

सभापति मंजे चेचाणी ने बजट बैठक के बाद मीडिया से बातचीत मे कहा की यह बजट शहर के विकास और जनता को समर्पित है मै सभी पार्षदो के साथ मिलकर इस बजट से शहर का विकास और आमजन को मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने का पूरा प्रयास करूंगी ।

बोर्ड बैठक में ये भी हुए महत्वपूर्ण निर्णय

– राजमाता विजयाराजे सिंधिया राजकीय मेडिकल कॉलेज को सांगानेर में 31 बीघा अतिरिक्त भूमि तथा जिला एवं सत्र न्यायालय को सांगानेर में 50 बीघा भूमि निशुल्क आवंटन का प्रस्ताव पास।
– सफाई व्यवस्था को और बेहतर बनाने के लिए नगर परिषद 2.६१ करोड़ रुपए की लागत से 2 जेसीबी, 2 लोडर, 2 डंपर तथा 20 ऑटो टिपर खरीदे जाएंगे।
– नगर परिषद में एक जनवरी 2004 के बाद नियुक्त 652 कर्मचारियों के लिए 2-2 लाख रुपए की मेडिक्लेम पॉलिसी ली जाएगी। पार्षद विजय लढ़ा ने तीन लाख का बीमा कराने का प्रस्ताव रखा।

– परिषद परिसर में महाराणा प्रताप की प्रतिमा लगाई जाएगी।
– आरके कॉलोनी कम्यूनिटी हॉल का नवनिर्माण कराया जाएगा।
– मृत मवेशी डालने के लिए कलेक्टर से भूमि आवंटित करवाई जाएगी।
– सामाजिक व धार्मिक कार्यों में चल शौचालय निशुल्क उपलब्ध करवाए जाएंगे।
– सभी महिला स्नानघरों में सोलर गीजर लगाए जाएंगे।
– नगर परिषद द्वारा लाइट, माइक, जनरेटर उपलब्ध कराए जाने का प्रस्ताव पास।
– 2 करोड़ रुपए की लागत से 4 नए अग्निशमन वाहन खरीदे जाएंगे। वाहनों को चलाने के लिए 110 ड्राइवर लिए जाएंगे। 2020-21 में इस पर सवा करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है।

– वार्षिक टेंट व्यवस्था के लिए 50 लाख रुपए के व्यय की स्वीकृति।
– हरणी महादेव में भरने वाले महाशिवरात्रि मेले पर 25 लाख खर्च की स्वीकृति दी।
– पशु रोगी वाहन क्रय करने में 13.80 लाख रुपए व्यय का अनुमोदन।
– शहर में विभिन्न स्थानों पर वाटर कूलर एवं आरओ लगवाए जाएंगे।
– नगर परिषद के 14 कर्मचारियों का परिवीक्षाकाल पूरा होने पर स्थायी करने का निर्णय।

– 23 निर्माण कार्यों की एकल निविदा को स्वीकृति।
– स्वच्छ भारत मिशन के तहत शहर के 621 मकानों में व्यक्तिगत घरेलू शौचालय निर्माण करवाया जाएगा। इस पर 1.50 करोड़ रुपए खर्च होंगे। इसमें से 76 लाख 38 हजार 300 रुपए परिषद वहन करेगी। शेष पैसा केंद्र सरकार से मिलेगा।
– शहर के 80 परिवारों को बीपीएल सूची में जोड़ा जाएगा।
– नगर परिषद के काइन हाउस को संचालन के लिए संस्थाओं को दिया जाएगा।