भीलवाड़ा मे आपराधिक मुकदमों के आरोपियों के बीच अफसर कर रहे हैं सरकारी आयोजनों में मंच साझा

विधानसभा मे जहाजपुर विधायक मीणा ने उठाया मामला

Bhilwara News (चेतन ठठेरा ) – भीलवाड़ा जिले के कई जिला स्तरीय और ब्लॉक स्तरीय अधिकारी विभिन्न आपराधिक मुकदमों के आरोपियों के बीच सरकारी आयोजनों में बेखुबी अपनी भुमिका निभा रहे है ।


इससे सरकार की छवि धूमिल हो रही है। जहाजपुर विधायक गोपीचंद मीणा ने विशेष उल्लेख प्रस्ताव के द्वारा इस मामले को विधानसभा में उठाया है जिसमें विधायक मीणा ने बताया कि विभिन्न पुलिस थानों में इतिहास पंजिका/ जरायम पंजिका में गंभीर धाराओं में दर्ज आपराधिक मुकदमों के अपराधियों के बीच जिले के अधिकारी आरोपियों के साथ सरकारी कार्यक्रमों में मंच साझा कर रहे हैं जिससे क्षेत्र में भय का माहौल व्याप्त है जिन अपराधियों को जिला पुलिस द्वारा चिन्हित करते हुए पासा एक्ट के तहत गिरफ्तार कर सलाखो के पीछे भेजा जाना चाहिए वो अपराधी सरकारी आयोजनों में अपनी भूमिका को बखूबी अंजाम दे रहे हैं ।


विधायक मीणा ने बताया कि ओरोपी कोटडी पुलिस थाने में दर्ज मुकदमा संख्या 104 / 2010 एवं 145 / 2015 में जुर्म प्रमाणित होने के उपरांत भी राजनीतिक प्रभाव से राजकीय आयोजनों में सम्मिलित होकर संवेदनशील और पारदर्शी सरकार को कलंकित कर रहे हैं जिसकी बानगी हाल ही 11 फरवरी 2020 को पारोली के कस्तूरबा गांधी बालिका छात्रावास में किशोरी बाल मेले के दौरान आयोजित कार्यक्रम मे देखने को मिली है।


जिसमे पुलिस थानों में दर्ज मामले के एक आरोपी को अतिथि के रूप में आमंत्रित किया गया जिसमें मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी, जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक, समसा एडीपीसी, और अतिरिक्त समसा एडीपीसी सहित कोटडी और जहाजपुर मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी ने मंच साझा किया है ।


शिक्षा विभाग के अधिकारियों के इस मामले को लेकर अभिभावकों में आक्रोश है तथा अपनी बालिकाओं का छात्रावास से नामांकन रद्द कराने के मामले को लेकर अवगत कराया है विधायक ने आपराधिक प्रवृत्ति के व्यक्तियों को सरकारी आयोजनों में प्रवेश निषेध कर संवेदनशील सरकार का एहसास करवाए जाने की बात कही है