To prevent villages from migrating to the city by developing the axis of development - Dr. Subhash Garg
भरतपुर राजनीति

गाँवों को विकास की धुरी बनाकर शहर की ओर पलायन रोका जाए – डॉ सुभाष गर्ग

 

 “गाँव की बात : मेरा गाँव मेरा गौरव” कार्यक्रम आयोजित

 

 

भरतपुर । ग्राम पंचायत जाटौली रथभान पंचायत मुख्यालय पर आयोजित “गाँव की बात : मेरा गाँव मेरा गौरव” कार्यक्रम के मुख्य अतिथि माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष डॉ सुभाष गर्ग ने उपस्थित जनप्रतिनिधियों व प्रतिष्ठित नागरिकों को संबोधित करते हुए कहा कि गाँव भारत की आत्मा हैं और यहां से शहरों की तरफ पलायन में तेजी आने का कारण यहां की गिरती हुई अर्थव्यवस्था, किसानों की दुर्दशा और आवश्यक संसाधनों का अभाव है ।

बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से गाँवों को नजरअंदाज करके परियोजनाओं को तैयार किया जा रहा है जिससे ग्रामीण क्षेत्रों का विकास तो दूर बल्कि वे और पीछे की ओर धकेले जा रहे हैं । शिक्षा व स्वास्थ्य जैसी सुविधाएं भी उनसे छीन ली गयी हैं । अनेक विद्यालयों को बंद करके और ग्रामीण क्षेत्रों में डॉक्टरों के पद खाली करके यहाँ के निवासियों को भगवान भरोसे छोड़ दिया गया है ।

किसान और आमजन पानी और बिजली के लिये तरस रहे हैं और रोजगार के अभाव में शहरों की तरफ जाने को मजबूर हैं । ऐसे में सिर्फ एक ही कारण लोगों को पलायन से रोक सकता है वो है गाँवों का सुनियोजित विकास । जिसमें हर पंचायत मुख्यालय पर स्वास्थ्य केंद्र होना, सरकारी स्कूलों के सभी रिक्त पद भरे जाना, बिजली की निरंतर आपूर्ति, सिंचाई व पीने के पानी की पर्याप्त उपलब्धता, पक्की सड़कों व नालियों का निर्माण प्रमुख हैं ।

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे कांग्रेस सेवर ब्लॉक अध्यक्ष सतीश सोगरवाल ने अपने उद्बोधन में कहा कि प्रदेश की जनता ने वर्तमान सरकार को उखाड़ने का मन बना लिया है और इस क्षेत्र में विकास के मार्ग खोलने के लिए जरूरी है कि भरतपुर से कांग्रेस का ही प्रतिनिधि चुन कर भेजा जाये ।

इस अवसर पर रणधीर सिंह, सुभाष सिंह, कल्याण सिंह, हरि सिंह, रॉकी जाटौली, बंटू जाटौली, धर्मेंद्र सिंह, ओमपाल पंडित, देशराज, हरिकिशन वर्मा , कोमल कारौठ आदि अनेक लोगों ने अपने उद्बोधन में बिजली के फीडर कनेक्शन के आधार पर खोलने, जाटौली रथभान से कोलीपुरा की सड़क का निर्माण, चम्बल के पानी की आपूर्ति, स्कूल के डीपी को बदलना, आंगनबाड़ी केंद्र की डीपी का स्थान परिवर्तन, जाटव बस्ती में डीपी लगना, मंदिर पर हैंडपंप लगना, हर पंचायत स्तर पर खेल के मैदान की व्यवस्था, डेयरी की स्थापना, स्नातक महाविद्यालय खोला जाना, सरसों की सरकारी खरीद का शीघ्र भुगतान होने जैसे बिंदुओं को रेखांकित करते हुए यह आशा व्यक्त की कि इन समस्याओं का निस्तारण शीघ्र किया जाएगा ।

कार्यक्रम में कारौठ, बागई, कोलीपुरा, नगला अठेरा, जाटौली रथभान आदि गावों के पांच बूथों के मोहकम सिंह बोहरेजी, गिल्लन सिंह बोहरेजी, पूर्व सरपंच बहादुर सिंह, मिठ्ठू पंच, देशराज पंच, संगम पहलवान, मूल सिंह ठाकुर, कोमल सिंह कारौठ, प्रताप सिंह बागई, गोपाल पंडित कोलीपुरा, खेमचंद शर्मा कोलीपुरा, पूर्व सरपंच तुहीराम, राजाराम, लोहरे बघेल, रंजीत सिंह ठाकुर, राजू पटेल, केशव जाटौली, सुरेंद्र मास्टर, फतेह सिंह, तेज सिंह, माने, वीरेंद्र ठाकुर, झम्मन सिंह सहित अनेक जनप्रतिनिधियों व सम्मानित लोगों ने सक्रिय भूमिका निभाई । संचालन रणधीर सिंह ने किया ।

liyaquat Ali
Sub Editor @dainikreporters.com, Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *