भरतपुर

जिले के प्रभारी मंत्री ने जाने घायलों के हाल एवं मृतकों के परिवारों को बंधाया ढांढस 

भरतपुर(राजेन्द्रजती)चिकित्सा विभाग एवं जिले के प्रभारी मंत्री कालीचरण सर्राफ ने जिले में 2 मई की सांय आये भीषण तूफान से हुई क्षति का आंकलन एवं समीक्षा की तथा उन्होंने इस तूफान में घायलों की आरबीएम अस्पताल में पहुंचकर कुशलक्षेम जानी तथा मृतकों के शोक संतप्त परिवारों को ढ़ांढ़स बंधाया।

जिले के प्रभारी मंत्री सर्राफ ने भीषण तूफान में हुए घायलों की कुशलक्षेम पूछते हुए चिकित्सकों से उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली। उन्होंने चिकित्सकों को निर्देश दिये कि वे घायलों का निःशुल्क एवं बेहतर तरीके से उपचार करें। उन्होंने राज्य सरकार द्वारा दी जाने वाली सहायता राशि भी शीघ्र ही दिलाने का आश्वासन दिया।

इससे पूर्व जिला प्रभारी मंत्री सर्राफ ने विभागीय अधिकारियों की बैठक लेकर तूफान के पश्चात् आमजन को होने वाली परेशानी से तत्काल राहत दिलाने के निर्देश दिये तथा तूफान से हुई क्षति की मरम्मत का कार्य युद्ध स्तर पर चलाकर पुनः पूर्व की भांति व्यवस्थित किये जाने की बात कही।

जिला कलक्टर डाॅ. एन के गुप्ता ने बताया कि बुधवार की सांय आये भीषण तूफान में जिले के विभिन्न क्षेत्रों में हुई दुर्घटनाओं में 19 व्यक्तियों की मृत्यु एवं 138 व्यक्ति घायल हुए हैं जिनका शहर के विभिन्न चिकित्सालयों में निःशुल्क उपचार किया जा रहा है। जिनमें आरबीएम चिकित्सालय भरतपुर में 16, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र नगर में 17, डीग मंे 21, बयाना में 7, भुसावर में 5, पुन्छरी में 1, रूदावल 2, कुम्हेर में 8, नदबई के 2, सीकरी के 1 तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र रूपवास में 3 घायलों से कुल 83 व्यक्तियों का तथा जिन्दल चिकित्सालय भरतपुर में 16, एमजे. चिकित्सालय में 6, विजय हाॅस्पिटल में 14, प्रदीप हाॅस्पिटल में 15 तथा सोलंकी हाॅस्पिटल में 4 लोगों का उपचार चल रहा है। जिनमें से 23 घायलों को उच्च चिकित्सा के लिये रैफर किया गया है। उन्होंने बताया कि मृतकों, घायलों एवं विभिन्न प्रकार की हुई क्षति की पूर्ति के लिए शीघ्र ही राज्य सरकार के नियमानुसार सहायता राशि उपलब्ध करायी जायेगी। उन्होंने बताया कि इस तूफान के मृतक 19 लोगों में तहसील भरतपुर के ग्राम बहनेरा के मृतक सुन्दर जाटव पुत्र सुखी, भरतपुर निवासी मृतक बिल्ला पत्नी मुन्ना खां, चकचैबा निवासी मृतक शोभाराम पुत्र खजुआ, मालौनी निवासी मृतक गिर्राज सिंह पुत्र राजहंस, भरतपुर निवासी मृतक रोही कुमार पुत्र अशोक, जती बंजारा निवासी चक एक्टा निवासी मृतका कुमारी अनुष्का पुत्री चरण सिंह, जनूथर निवासी मृतक चन्द्रवीर पुत्र लक्ष्मण, तेजवीर पुत्र रविन्द्र, संजय पुत्र विजेन्द्र, बडेसरा निवासी चंपालाल पुत्र गिर्राज, खेडा ब्राह्मण निवासी घंसी पुत्र लीला, अटावली निवासी हरबज्जी पुत्र जुगल, नदबई निवासी मृतक रामस्वरूप पुत्र रामदयाल, दीवली निवासी मृतक कृपा पुत्र बच्चू सिंह, आलमशाल निवासी मृतक श्याम सिंह पुत्र भीम सिंह, उडकीदल्ला निवासी मृतका अशरफी पत्नी जोरमल, खखावली निवासी मृतका अर्चना पुत्री रघुवीर, बनैनीचंदा निवासी मृतक फज्जर पुत्र शिमरू, मिल्सवां छोटी डिडवार निवासी मृतक पूजा पुत्री भगवान शामिल हैं। उन्होंने बताया कि अंधड़ में लगभग 15 पशुओं की क्षति एवं 85 पशु घायल हुये हैं एवं लगभग 70-80 मकान भी क्षतिग्रस्त हुये हैं। उन्होंने बताया कि विद्युत विभाग के तंत्र में जिले में 365 ट्रांसफार्मर 3 हजार 950 विद्युत पोल 60 डीपी. एक टावर व 33 केवी के 3 जीएसएस भी क्षतिग्रस्त हुये हैं जिनसे जिलेभर में विद्युत आपूर्ति की व्यवस्था चरमरा गई है इसके साथ ही पेयजल व्यवस्था के तहत भरतपुर खण्ड के 12 आरओ. प्लान्ट, डीग के 20, बयाना के 6 आरओ. प्लान्ट क्षतिग्रस्त हुये हैं।

डाॅ. गुप्ता ने बताया कि बुधवार को आये भीषण तूफान के पश्चात जिला प्रशासन, पुलिस, सिविल डिफेन्स सहित अन्य स्वयंसेवी संस्थाओं ने तत्काल राहत एवं बचाव के कार्य प्रारंभ किये जिससे जनहानि काफी हद तक कम हुई है। उन्होंने बताया कि आपदा प्रबन्धन के तहत प्रत्येक मृतक को सहायता राशि उपलब्ध कराई जायेगी।

Sameer Ur Rehman
Editor - Dainik Reporters http://www.dainikreporters.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *