भरतपुर

मेवात क्षेत्र में गौतस्करों के हौंसले बुलन्द

 

भरतपुर  (राजेन्द्र जती)। मेवात क्षेत्र में गौतस्करों के हौंसले बुलन्द हैं।
अभी भी गौतस्करी को रोकने पर पुलिस के साथ फायरिंग की घटनायें जारी हैं।रात्रि को कामां, घाटा क्षेत्र में गौतस्करी को सुचना मिलने पर रोकने के लिये गई पुलिस टीम पर एक इनामी बदमाश सहित कुछ लोेगों ने पुलिस पर फायरिंेग कर दी। जबाब में पुलिस ने भी फायरिंग की जिसमें घाटा चैकी इंचार्ज रामरतनसिंह सहित दो पुलिसकर्मी घायल हो गये जिसमें रामरतनसिंह को आरबीएम हाॅस्पीटल में भर्ती कराया गया है जिसके बंांये हाथ में गोली लगना बताया गया है। इस मामले में पुलिस ने इनामी बदमाश काडा मेव सहित दो जनों को गिरफ्तार कर लिया है। अस्पताल में भर्ती एएसआई रामरतनसिंह के परिजनों एवं ग्राम पंचायत कुरका के सरपंच प्रकाश का आरोप है कि पुलिस अधिकारियो ंने घायल रामरतनसिंह के साथ हमदर्दी नहीं दिखाई। इस पुलिसकर्मी को कामां से भरतपुर तक मोटरसाइकिल पर बैठाकर लाया गया है और आरबीएम हाॅस्पीटल में कोई भी पुलिस अधिकारी उसके हालचाल जानने नहीं पहुंचा। जिला पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार टांक ने बताया कि सोमवार को फरार चल रहे 5000 रूपये के अन्तर्राज्यीय गोतस्कर काडा उर्फ हासम पुत्र दीनू उर्फ दीनमौहम्मद जाति मेव उम्र 37 साल निवासी कनवाडी थाना पहाडी व एक अन्य साथी सौकत पुत्र जसमाल जाति मेव निवासी जमालगढ थाना पुन्हाना हरियाणा को गिरफतार करने के में सफलता हासिल की है। बदमाश काडा उर्फ कासम एक अन्तर्राज्यीय गौतस्कर है। बदमाश पुलिस के सामने आते ही फायर करने का आदी
है जो हमेशा हथियारों से लेस रहता है। इस बदमाश के विरूद्ध काफी प्रकरण दर्ज हैं। जो अलवर, दौसा, भरतपुर के अलावा हरियाणा के भी विभिन्न मामलांे में वांछित चल रहा है। इसका साथी अब्बास पुत्र नसरू भी कुख्यात गौतस्कर है। जिसके विरूद्ध भी गोतस्करी के करीब 8 प्रकरण दर्ज हैं।
उन्होंने बताया कि आज सुबह समय करीब 12.46 ए0एम0 पर पुलिस को उक्त बदमाश के अपने साथियों सहित दौसा की तरफ से गोकसी हेतु गाय लाने की सूचना प्राप्त हुई थी। जिस पर थानाधिकारी थाना कामां श्री नेकीराम पु0नि0 मय जाप्ता द्वारा कार्यवाही करते हुए दोनांे बदमाशों को गिरफतार कर उनके  कब्जे से दो अवैध 315 बोर कट्टा, 11 जिन्दा कारतूस, 21 गाय, एक कार व केन्ट्रा बरामद की है। सूचना पर कार्यवाही करते हुए बदमाशों ने पुलिस नाकाबन्दी कर रहे पुलिस बल पर हथियारों से जानलेवा हमला कर दिया जिस पर
पुलिस ने भी जबावी कार्यवाही करते हुए आत्मरक्षार्थ 4 राउन्ड फायर किये तथा बदमाशों ने कुल 6 राउन्ड फायर किये। जिनमें से दो पुलिस कर्मी एएसआई रामरतन व बनैसिंह हैड कानि0 घायल हो गये जिनका उपचार जारी है। इस घटना में बनैसिंह हैड कानि0 व राजेश हैड कानि0 द्वारा दोनांे बदमाशों को पकडने में मुख्य भूमिका रही। उन्होंने बताया कि गोतस्करी की वारदातों को गम्भीरता से लेते हुए अति0 पुलिस अधीक्षक डीग महेश मीणा के निर्देशन में वृताधिकारी कामां देवीसहाय मीणा के नेतृत्व में विशेष टीम का गठन किया गया। टीम में एसआई नेकीराम कामां, एएसआई रामरतन कांमा, हैड कांस्टेबिल राजेश एवं बनैसिंह को शामिल किया गया था। उन्होंने बताया कि गौतस्करी के कार्य में लिप्त दोनों बदमाश राजस्थान के विभिन्न जिलों से गाय लाकर गौकसी हेतु हरियाणा में पहुचाने का कार्य करते हैंै। गठित टीम द्वारा इसके मोबाईल नम्बर से इसके आने-जाने वाले रूट का विश्लेषण कर आने-जाने की सूचना पर डीग-कामां मार्ग पर नाकाबन्दी की गई जिन्होंने प्रारम्भिक पूछताछ में गोतस्करी में लिप्त होना बताया तथा बदमाश काडा ने गत वर्ष अगस्त माह में दोहरे हत्याकाण्ड को अपने गांव कनवाडी में अन्जाम देना स्वीकर किया है।

liyaquat Ali
Sub Editor @dainikreporters.com, Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *