भरतपुर

एसपी ने आश्वासन के साथ तुडवाया अनशन, बाजार खुलने के साथ लौटी रौनक-उपखण्ड

अनशन कर्त्ताओं एवं पुलिस प्रशासन के बीच काफी जद्दोजहद भी देखने को मिली

 

 

भरतपुर(राजेन्द्र जती)। डीग के कस्बा जनूथर में 22जुलाई की रात्रि को दो मकान मालिकों के घरों में हुई चोरी की वारदात के खुलासे को लेकर भ्रष्टाचारी विरोधी मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष चन्द्रभान गुप्ता,पीडित परिजन कन्हैया सेठ एवं ब्रजमोहन खण्डेलवाल द्वारा सोमवार से जारी अनिश्चितकालीन आमरण अनशन आखिर बुधवार देर रात9.30 बजे एसपी केशर सिंह शेखावत के शीघ्र वारदात के खुलासे के आश्वासन के बाद समाप्त हो गया।एसपी ने जूस पिला अनशन तुडवाया।

हालांकि इस दौरान अनशन कर्त्ताओं एवं पुलिस प्रशासन के बीच काफी जद्दोजहद भी देखने को मिली जिस पर अन्ततोगत्वा सहमति बन गई।

वहाँ मौजूद व्यापारिक मण्डल ने भी प्रतिष्ठानों को खोलने की घोषणा कर दी।देर रात 8बजकर 50 मिनट पर एसपी केशर सिंह शेखावत पुलिस लवाजमे के साथ अनशन स्थल पहुँचे जहाँ उन्होंने मौजूद लोगों से कस्बे में चोरी की वारदात के खुलासा करने के साथ कस्बे में नफरी बढाने एवं रात्रि गश्त करने की बात को कस्बेवासियों की जायज माँग करार देते नफरी के साथ गश्त कराने की बात कही।

उन्होंने सैंकडों की संख्या में मौजूद लोगों से पुलिस का सहयोग करने के साथ ऐसे लोगों की जो चोरी नकबजनी की वारदातों में संलग्न हैं पुलिस को सूचित करने का आह्वान किया।

कस्बे में सक्षम लोगों के द्वारा सीसी कैमरा लगवाने के साथ निजी सहयोग से पहरेदार नियुक्त करने की बात कही जो पुलिस के साथ मददगार साबित हो सके।एसपी केसर सिंह शेखावत रात्रि 10बजे पीडितों के घर पर भी पहुँचे जहाँ वारदात स्थल का जायजा लिया।

साथ में मौजूद सीओ अनिल कुमार मीणा कोतवाल सत्यप्रकाश विश्नोई एस आई केसर सिंह चौकी इंचार्ज सूर्यवीर सिंह,बद्रीप्रसाद को वारदात के खुलासे को लेकर कडी हिदायत दी और कहीं किसी की भी प्रकार की लापरवाही सामने आयेगी तो उसे बख्सा नहीं जायेगा।

इस दौरान किसान नेता नैंम सिंह फौजदार,सतीश बंसल उप सरपंच मंगू सेठ भवानी शंकर शर्मा सहित कस्बे के स्थानीय लोगों के साथ आसपास से आये दर्जनों गाँव के सैंकडों लोगों के साथ महिलाऐं भी मौजूद थी।

अनशन समाप्ति से पुलिस ने जहाँ राहत महशूस की वहींं चोरी का खुलासा करना उसके समक्ष अभी भी चुनौती है।अनशन समाप्ति के साथ कस्बे का गुरुवार अलसुबह बाजार खुल गया जिसमें लोगों की रौनक देखने को मिली।लोग आम रोजमर्रा की वस्तुओं खरीदते नजर आये।

आमजनजीवन जो बाजार बंद रहने से थम सा गया आमजन ने जहाँ राहत महशूस की मगर पीडितों के जहन में अभी भी चोरी का रहस्य दिल को सता रहा रहा है जिसका पुलिस द्वारा पर्दाफाश होने पर शमन होगा।

liyaquat Ali
Sub Editor @dainikreporters.com, Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *