भरतपुर

राजस्थान में दिन दहाडे घर में घुस फायरिंग ,पिता-पुत्र को गोलियों से भूना

भरतपुर/राजेन्द्र शर्मा जती।  शहर के कोतवाली थाना क्षेत्र स्थित सुभाष नगर कॉलोनी में आपसी विवाद में दो भाइयों ने पड़ोस में रहने वाले बाप-बेटे की गोली मारकर हत्या कर देने के मामले में सनसनी फैल गई।

मृतक में डहरा का पूर्व सरपंच सुरेन्द्रसिंह व उसका पुत्र सचिन है घटना की सूचना मिलने के बाद महानिरीक्षक पुलिस रेंज प्रसन्न कुमार खमेसरा, जिला कलक्टर हिमांशु गुप्ता एवं एसपी देवेन्द्र कुमार विश्नोई ने भी घटना स्थल का मौका मुआयना किया।

एफ.एस.एल. टीम से घटना स्थल का बारीकी से निरीक्षण करवाया गया। इस मामले को लेकर परिजनों व अन्य लोगों ने अस्पताल में शव लेने से पहले आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग की ।

इस मामलें में एसपी देवेन्द्र कुमार विश्नोई ने एक आदेश जारी कर लापरवही बरतने पर रात्रि चेतक प्रभारी सहायक उपनिरीक्षक विजयपाल व
कोतवाली रात्रि एचएम मानसिंह हैड कानिस्टेबल को निलम्ब्ति कर दिया गया।

फिलहाल पुलिस घटना के अनुसंद्यान में जुटी हुई है। इस मामले में राज्य के स्वास्थ्य राज्य मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने भी घटना पर दुख व्यक्त करते हुए घटना में फायरिंग में दो लोगों की हुई मौत की
घटना पर नाराजगी जाहिर करते हुये उन्होंने पुलिस महानिरीक्षक एवं जिला पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिये हैं कि पुलिस को सूचना मिलने के बाद भी
कोई उचित कार्यवाही नहीं की संभवतया इसी कारण यह घटना घटित हुई ।

उन्होंने इस घटना में पुलिस प्रशासन की लापरवाही मानते हुये दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्यवाही करने के निर्देश दिये।

पुलिस ने मृतकों के शवों का जिला अस्पताल मोर्चरी में मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करा कर शव परिजनों को सौंपा है। वहीं इस घटना को
लेकर पुलिस ने एक व्यक्ति कोे हिरासत में भी लिया है। फिलहाल पुलिस घटना के अनुसंद्यान में जुटी हुई है। पुलिस ने इस मामले में लापरवही बरतने पर
रात्रि चेतक प्रभारी सहायक उपनिरीक्षक विजयपाल व कोतवाली रात्रि एचएम मानसिंह हैड काँिन्सटेबिल को निलम्ब्ति किया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार डहरा के पूर्व सरपंच सुरेंद्र का सुभाष कॉलोनी में घर है। उसका बेटा सचिन भरतपुर में एनडीए की तैयारी कर रहा था। मृतक के भाई चंदन ने बताया कि शनिवार देर शाम सुरेंद्र के घर उनके रिश्तेदार का बेटा आया हुआ था।

इस बीच शाम को रिश्तेदार के बेटे और
सुरेंद्र के पड़ोस में रहने वाले लाखन के बीच किसी बात को लेकर कहा-सुनी हो गई। इस पर रिश्तेदार के बेटे ने लाखन को थप्पड़ मार दिया और वहां से
फरार हो गया। घटना के कुछ देर बाद लाखन सुरेंद्र के घर के बाहर आया और हवाई फायरिंग कर दी। जिस पर दोनों बाप-बेटे घर से नहीं निकले। इसके बाद रविवार सुबह दोनों पक्षों के बीच राजीनामा को लेकर सुरेंद्र के घर बातचीत चल रही थी। इसमें लाखन और उसका भाई दिलावर भी मौजूद थे। राजीनामा के दौरान फिर से बहस हो गई। सुरेंद्र का बेटा सचिन दूध लेने बाहर गया था।

जब वह लौटा तो लाखन ने उसके पिता पर पिस्तौल से फायर कर दिया। बीच-बचाव में
सचिन आया तो उसके भी पैर में गोली मार दी। गोली चलने की आवाज सुन आस-पास
के लोग मौके पर पहुंचे। दोनों बाप बेटे घायल पड़े हुए थे।

लोगों ने दोनों को अस्पताल पहुंचाया, जहां दोनों को मृत घोषित कर दिया। जिनके शवों का
पुलिस ने जिला अस्पताल की मोर्चरी में पोस्टमार्टम करा कर शव परिजनों को सौंप दिया। वहीं इस घटना में घायल हुए दिलावर को आरबीएम अस्पताल में भर्ती किया गया है, जहां उसका इलाज जारी है।

अस्पताल पहुंचे एसपी देवेंद्र विश्नोई के निर्देश के बाद दिलावर को अस्पताल के जेल वार्ड में
शिफ्ट कर दिया। फिलहाल पुलिस पोस्टमार्टम की कार्रवाई कर रही है। वही घटना की सूचना मिलने पर जिला कलक्टर हिमान्शु गुप्ता, आईजी प्रसन्न कुमार खमेसरा, एसपी देवेन्द्र कुमार विश्नोई घटना की जानकारी लेने के लिए घटना
स्थल पर पंहुचे।

पुलिस के द्वारा एफएसएल की टीम को भी मौके पर बुला कर साक्ष्य जुटाए गए। इस घटना के चलते सुभाष नगर कॉलोनी में हडकम्प मच गया।
दिनदहाडे फायरिंग की घटना को लेकर लोग दहशत में नजर आए।

जिला पुलिस अधीक्षक देवेन्द्र कुमार विश्नोई ने बताया कि सुबह करीब साढे नौ बजे दिलावर शर्मा निवासी सुभाष नगर ने मोबाइल पर पुलिस को सूचना देकर बताया कि मेरे पैर में सुरेन्द्र पक्ष के लोगों ने गोली मार दी है।

इस सूचना पर कोतवाली थाना अधिकारी रामकिशन यादव मय जाप्ता के तुरन्त ही घटना स्थल पर पहुंच गए। जहां सुरेन्द्र सिंह जाट के मकान मे अंदर सुरेन्द्र सिंह व उसके लडके सचिन के गोली मारी गई थी। मकान के अंदर काफी मात्रा मे खून फैला हुआ था। घायलो को पुलिस पहुचने से पहले ही आरबीएम अस्पताल ले जा चुके थे। डाक्टरो ने सुरेन्द्र सिंह पुत्र हरी राम व सचिन पुत्र सुरेन्द निवासी एसबीएम स्कूल के पास सुभाष नगर को मृत घोषित कर दिया।

इसके साथ ही आरोपी दिलावर शर्मा व कंचन शर्मा निवासी एसबीएम स्कूल सुभाष नगर भी पैर
में गोली लगने से आरबीएम अस्पताल मे भर्ती हुये थे। जिनसे घटना के बारे मे जानकारी ली तथा सुरक्षा की दृष्टि से दिलावर शर्मा को जेल वार्ड मे
भर्ती किया गया।

महानिरीक्षक पुलिस रेंज प्रसन्न कुमार खमेसरा, जिला कलक्टर हिमांशु गुप्ता आईएएस ने भी घटना स्थल का मौका मुआयना किया।

एफ.एस.एल. टीम से घटना स्थल का बारीकी से निरीक्षण करावाया गया। पुलिस को मौके से 6 खाली कारतूस, बुलेट कारतूस से निकला हुआ व उसके 2 टुकडे मिले हैं। घटना स्थल को सुरक्षित करवा दिया गया है मृतको के शवों को मेडिकल
बोर्ड से पोस्टमार्टम करा कर शव परिजनों को सौंपा गया।

जिला पुलिस अधीक्षक देवेन्द्र कुमार विश्नोई ने बताया कि घटना के बारे मे पता किया तो मालूम चला कि 6 नवम्बर 21 को रा़ित्र करीब 8 बजे पर लखन शर्मा पुत्र कंचन शर्मा निवासी सुभाष नगर व सुरेन्द्र सिंह जाट पुत्र हरी राम जाट निवासी सुभाष नगर के मध्य आपसी कहासुनी हो गई थी। जिसमे सुरेन्द्र सिंह जाट पक्ष ने लखन शर्मा को शराब के नशे में थप्पड मार दिया।

इससे उनके मध्य कुछ झगडा हुआ इस झगडे की सूचना मिलने पर थाना कोतवाली से सहायक
उपनिरीक्षक विजय सिंह मय जाप्ता मौके पर पहुचे तथा दोनो पक्षो को समझाइश की गई। 7 नवम्बर 2021 को सुबह इनके मध्य आपसी सुलह की बात सुरेन्द्र सिंह जाट के घर पर चल रही थी। तब ही इनके मध्य गोलियां चल गई जिसमे सुरेन्द्र
सिंह व सचिन के घायल होने पर आरबीएम अस्पताल भरतपुर मे मौत हो गई व दूसरे
पक्ष के दिलावर शर्मा के पैर मे गोली लगने से घायल हो गया।

मौके एवं आरबीएम अस्पताल मंे पुलिस जाप्ता लगा हुआ है।

Reporters Dainik Reporters
[email protected], Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.