राजस्थान के इस जिले से एक समुदाय के लोग गांव से कर रहे पलायन, पुलिस पर दबंगों से मिलने का लगाया आरोप

14 अप्रैल को गांव में पहली बार बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की रैली निकाली गई थी। रैली निकालने से पहले गांव के दबंगों से रैली निकालने से मना किया था। लेकिन समुदाय के लोगों ने महापुरुषों के सम्मान में रैली निकाली इस दौरान गांव के दबंगों ने रैली पर पथराव कर रैली में शामिल लोगों पर हमला कर दिया जिसमें 9 लोग घायल हुए

April 19, 2022 11:56 am
राजस्थान के इस जिले से एक समुदाय के लोग गांव से कर रहे पलायन, पुलिस पर दबंगों से मिलने का लगाया आरोप, अंबेडकर की जयंती पर हुआ था दो समुदाय में झगड़ा

भरतपुर/राजेन्द्र शर्मा जती। भरतपुर जिले के कुम्हेर थाना इलाके के सैह गांव में बाबा भीमराव अंबेडकर की जयंती पर रैली के दौरान दो पक्षों में में हुए झगड़े के बाद एक समुदाय एक लोग अब गांव से पलायन कर रहे हैं। लोगों का कहना है की रैली पर पथराव के बाद भी अभी तक आरोपियों की गिरफ़्तारी नहीं हुई है। अब उन्हें गांव के दबंगों से डर सता रहा है जिसकी वजह से करीब 100 परिवार गांव से निकल चुके हैं।

भीमराव अंबेडकर की जयंती के दौरान हुआ था झगड़ा

एक समुदाय के लोगों का कहना है की 14 अप्रैल को गांव में पहली बार बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की रैली निकाली गई थी। रैली निकालने से पहले गांव के दबंगों से रैली निकालने से मना किया था। लेकिन समुदाय के लोगों ने महापुरुषों के सम्मान में रैली निकाली इस दौरान गांव के दबंगों ने रैली पर पथराव कर रैली में शामिल लोगों पर हमला कर दिया जिसमें 9 लोग घायल हुए थे। इसके खिलाफ कुम्हेर थाने में मामला दर्ज करवाया गया। लेकिन अभी तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

दूसरा पक्ष बोला रैली निकाल रहे लोगों ने किया पथराव

वहीं दूसरे समुदाय के लोगों का कहना है की रैली में शामिल लोग तेज-तेज गाना बजा रहे थे। सभी ने शराब पी रखी थी। वह जैसे ही लाखन पूर्व सरपंच के घर के बाहर पहुंचे तो रैली में शामिल लोगों ने लाखन के घर पर पथराव कर दिया। जिसमें लाखन के घर में खड़ी में कार के कांच भी टूट गए। साथ ही रैली में शामिल लोग घर से अनाज लूट कर ले गए।

दूसरे पक्ष ने रैली में शामिल 29 लोगों के खिलाफ करवाया मामला दर्ज

एक समाज का आरोप है गांव के दबंग पूर्व सरपंच रह चुके हैं और उनकी राजनीति में अच्छी जान पहचान है। इसलिए उन्होंने समाज के 29 लोगों के खिलाफ मारपीट और तोड़फोड़ का मामला दर्ज करवा दिया है।

Rajasthan are migrating from the village, the police were accused of meeting the bullies, there was a fight between the two communities on the birth anniversary of Ambedkar

जिसके बाद समाज के लोगों का प्रशासन से भरोसा उठ गया है। अब समाज के लोग गांव में दबंगों के सामने अपने आप को सुरक्षित महसूस नहीं कर रहे। दबंग पुलिस और प्रशासन से मिलकर समाज के लोगों को झूठा फंसा रहे हैं जिससे वह आने वाले समय में इस तरह का आयोजन नहीं कर सकें।

Prev Post

पंचायत उप चुनावों की तारीखों का ऐलानः आचार संहिता लागू, 25 अप्रेल से शुरू होंगे नामांकन

Next Post

How Aman Gupta's marketing strategy turned Boat into 1500 crore company

Related Post

Latest News

पटवारी 20 हजार रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथों अरेस्ट
राजकुमार शर्मा को ब्रेन हेमरेज
बीसलपुर की लाइन टूटी, 15 दिन बाद भी नही हुई ठीक

Trending News

कांग्रेस के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष होंगे खड़गे,8 अक्टूबर को हो सकती घोषणा
राजस्थान के मंत्रियो व कांग्रेस विधायको को चेतावनी
NPS कार्मिक 01 अप्रैल 2022 के पश्चात NPS आहरण की राशि को पुनः 31 दिसंबर 2022 तक एकमुश्त अथवा अधिकतम 4 किस्तों में जमा करानी होगी
चिरंजीवी योजना में सहायता के लिए फोन 01482-232643 पर करे घंटी 2 घंटे में समाधान

Top News

टोंक जिला स्तरीय राजीव गांधी युवा मित्र प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित%%page%% %%sep%% %%sitename%%
Upload state insurance and GPF passbook in new version of SIPF
मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना से सुमन, रिजवाना बानो एवं दिनेश को मिली राहत
पटवारी 20 हजार रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथों अरेस्ट
राजकुमार शर्मा को ब्रेन हेमरेज
बीसलपुर की लाइन टूटी, 15 दिन बाद भी नही हुई ठीक
Tonk: आवारा श्वान ने 7 लोगों को काटा, अस्पताल गए तो वहां भी नही हुई सार संभाल ,VIDEO 
IAS अतहर और डाॅ. महरीन आज बंधे शादी के बंधन में ,VIDEO
राजस्थान के सरकारी स्कूलों में मूल निवास प्रमाण पत्र बनवाने की जिम्मेदारी संस्था प्रधान की
पूर्व मंत्री और NCP नेता भुजबल का दुबई कनेक्शन का आरोप, FIR दर्ज