परिक्रमा मार्ग के समन्वयक विकास के लिए भामाशाहों को करें प्रेरित – बेरवाल

भरतपुर/ राजेन्द्र शर्मा जती।  संभागीय आयुक्त प्रेमचंद बेरवाल की अध्यक्षता में मंगलवार को श्री गिरिराज गोवर्धन जी तीर्थ विकास परिषद की त्रैमासिक बैठक
संभागीय आयुक्त कार्यालय के सभागार में आयोजित की गई।

बैठक में संभागीय आयुक्त बेरवाल ने गोवर्धन तीर्थ स्थल के विकास के लिए गठित कोष में बढोतरी के लिए क्षेत्र में व्यापक प्रचार-प्रसार कराने केनिर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये। जिससे परिक्रमार्थियों को दान के
लिए प्रेरित किया जा सके साथ ही स्थानीय भामाशाहों, दानदाताओं एवं उद्योगपतियों के सीआरएस फण्ड से परिषद के कोष में दान राशि बढाने के लिए
प्रोत्साहित करें।

उन्होंने विकास अधिकारी डीग को निर्देश दिये कि वे
परिक्रमा मार्ग की उचित सफाई व्यवस्था बनाये रखने के लिए समय-समय पर भ्रमण करें साथ ही परिक्रमार्थियों को भी सफाई व्यवस्था में सहयोग देने के लिए सदृश्य स्थलों पर सूचना पट्ट लगायें। उन्होंने पर्यटन विभाग के
अधिकारी को निर्देश दिये कि वे सप्तकोसी परिक्रमा मार्ग के समन्वित विकास एवं परिक्रमार्थियों को मूलभूत सुविधा उपलब्ध कराने के लिए 1 करोड़ 50 लाख
की डीपीआर को स्वीकृत कराने के लिए उनके माध्यम से भी पत्र भिजवायें।

बैठक का संचालन करते हुए अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रशासन श्रीमती बीना महावर ने बताया कि सम्बन्धित विभागों के आपसी समन्वय के माध्यम से सप्तकोसी परिक्रमा मार्ग के परिक्रमार्थियों को मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने के साथ ही एनजीटी के दिशा-निर्देशों की भी शत-प्रतिशत पालना भी सुनिश्चित की जा रही है।

बैठक में उपखण्ड अधिकारी डीग हेमन्त कुमार, विकास अधिकारी डीग डाॅ अरविन्द चैधरी, क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी सतीश कुमार, सहायक आयुक्त देवस्थान के.के खण्डेलवाल, अधीक्षण अभियंता पीएचईडी हेमन्त कुमार, जेवीवीएनएल संजय शर्मा, अतिरिक्त कोषाधिकारी आशा मौर्य सहित अन्य सम्बन्धित विभागों के अधिकारी मौजूद थे।