Bharatpur News: भरतपुर में पुलिस कांस्टेबल परीक्षा का पेपर उपलब्ध कराने को लेकर झांसा देकर धोखाधड़ी करने के मामले में 5 लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

Bharatpur news: Police arrested 5 people in Bharatpur on charges of forgery

भरतपुर (Bharatpur) / राजेन्द्र शर्मा जती।  डीएसटी टीम की सूचना पर मथुरा गेट पुलिस टीम ने पुलिस कांस्टेबल परीक्षा का पेपर उपलब्ध कराने को लेकर झांसा देकर धोखाधड़ी करने के मामले में 5 लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, एसपी श्याम सिंह ने  दी जानकारी। पुलिस ने एक कार भी की बरामद।

पुलिस ने कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में प्रथम पारी की परीक्षा से पहले पेपर उपलब्ध कराने का झांसा देकर लाखों रुपए की धोखाधड़ी करने वाले गिरोह का खुलासा किया है। गिरोह करीब दो दर्जन से अधिक अभ्यर्थियों के संपर्क में था। आशंका है कि गिरोह ने कुछ अभ्यर्थियों से लाखों रुपए ले भी लिए थे, लेकिन पेपर उपलब्ध नहीं करा पाने के कारण गिरोह के पांचों बदमाश फंस गए। पुलिस ने पांचों बदमाशों को गिरफ्तार किया है।

Bharatpur News

जिला पुलिस अधीक्षक श्याम सिंह के अनुसार 16 मई 2022 कसे डीएसटी टीम की सूचना पर थाना मथुरागेट की ओर से एक गाडी एसेंट कार को रुकवाकर जांच पड़ताल की गई। इसमें गोविन्द पुत्र धर्मसिंह गुर्जर (28) निवासी सोनोटी थाना उच्चैन, शुभम पुत्र सुरेंदर सिंह जाट निवासी कुरका थाना उच्चैन, रवि पुत्र सुरेन्द्र जाट (22) निवासी कुरका थाना उच्चैन, देवेन्द्र सिह पुत्र सियाराम निवासी कुंदेर थाना उच्चैन, राजासिंह पुत्र राजेन्द्र सिह (24) साल निवासी सोनोठी थाना उच्चैन को हिरासत में लेकर पूछताछ करने पर पाया कि शकील, देवेन्द्र, लालसिंह व हेमन्त की ओर से गिरोह बनाकर परीक्षार्थियों को झूठे प्रलोभन देकर परीक्षा से पूर्व पेपर उपलब्ध कराने की धोखाधड़ी कर पैसे ऐंठने का काम किया जा रहा है।

परीक्षार्थी शुभम की ओर से पुलिस भर्ती परीक्षा 2022 की दिनांक 13 मई 2022 का प्रथम पारी का पेपर प्राप्त करने के लिए शकील गद्दी निवासी कुन्देर को दो लाख रुपए दिए, लेकिन शकील की ओर से किए गए वादे अनुसार परीक्षा से पूर्व पेपर उपलब्ध नहीं कराने पर शुभम ने दुबारा शकील से संपर्क किया तो शकील ने कांस्टेबल भर्ती परीक्षा 2022 के फर्जी पेपर भेजकर अन्य लोगों को बेचकर पैसे कमाने का कहा, लेकिन सही पेपर नहीं होने के कारण पैसे नहीं मिले।

इस पर शकील, लालसिंह, हेमंत, देवेन्द्र, शुभम, राजा, रवि, गोविन्द व हेमन्त की ओर से परीक्षा से पूर्व परीक्षार्थियों के साथ धोखाधड़ी कर रुपए कमाने के आशय से फर्जी पेपर उपलब्ध कराए गए। हिरासत में लिए गए आरोपियों के मोबाइल में इससे संबंधित पेपर के नमूने व चैट मिलने से आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर आरोपी देवेन्द्र, शुभम, राजा, रवि व गोविन्द से अनुसंधान किया जा रहा।