महाराजा सूरजमल बृज विश्वविद्यालय का 10 मार्च को दीक्षांत समारोह

भरतपुर/राजेन्द्र शर्मा जती। राजस्थान में भरतपुर के महाराजा सूरजमल बृज विश्वविद्यालय की ओर से 10 मार्च को आयोजित किए जाने वाले दीक्षांत समारोह की तैयारियां हुई पूरी। बुधवार सुबह 11.30 बजे ग्लोबल कैंपस आगरा रोड पर होने बाले इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि होंगे आईआईएम लखनऊ, एमडीआई गुरुगांव के पूर्व निदेशक और फ्लेम विश्वविद्यालय पुणे के पूर्व कुलपतिगांव भरतपुर के गाव सिनसिनी निवासी प्रख्यात प्रबंध शास्त्री एवं अध्येता प्रो. देवीसिंह। कुलाधिपति कलराज मिश्र वर्चुअल रूप में करेंगे कार्यक्रम की अध्यक्षता। बताया गया है कि समारोह में कुल 79 मैडल वितरित किए जाएंगे। इसमें 60 मेडल बेटियों को मिलेंगे। 2019 को चांसलर मैडल एमए हाेम साइंस की स्टूडेंट आकांक्षा खंडेलवाल और 2020 का चांसलर मैडल एमए ड्राइंग एंड पेटिंग की छात्रा मोनिका ओझा को दिया जाएगा। इसके अलावा विशिष्ट मेडल में भी लड़कियां का दबदबा है। 2019 का काका भगवंत राय मेडल एलएलएम के मुकेश कुमार डूडी, जगवंत राय बंसल मेडल एमकाम की प्रियंका अग्रवाल तथा सुफलमाला बंसल मेडल बीएड स्टूडेंट तनु भारद्वाज और हिमांशी जाट काे संयुक्त रूप दिया जाएगा। 2020 का काका भगवंत राय मेडल एलएलएम के दीपक जोशी और प्रज्ञा पूर्वा, जगवंत राय बंसल मेडल एमकाम की कीर्ति शर्मा तथा सुफलमाला बंसल मेडल होम साइंस स्टूडेंट पूजा जांगिड़ काे दिया जाएगा। पिछले साल कोरोना के कारण नहीं हो पाया था दीक्षांत समारोह इसलिए बुधवार को आयोजित दीक्षांत समारोह में 2019 और 2020 के विद्यार्थियों को बांटी जाएंगी मेडल और डिग्रियां। इस दौरान 9 मेडल कुलाधिपति की वर्चुअल उपस्थिति के दौरान उनके हाथों से प्रतीकात्मक दिलवाए जाएंगे। इसमें चांसलर मेडल 2 तथा विशिष्ट मेडल 7 दिलवाए जाएंगे। बाकी अन्य मेडल अतिथियों से दिलवाए जाएंगे। प्राप्त जानकारी के अनुसार दीक्षांत समारोह में दिए जाएंगे 79 मेडल जिनमे 59 होंगे गोल्ड मेडल। 44 मेडल मिलेंगे छात्राओं को जबकि 15 छात्रों को। वर्ष 2019 में कुल 42 मेडल दिए जाएंगे। इसमें 32 स्वर्ण पदक, 5 रजत, 4 एंडोमेंट तथा एक चांसलर पदक दिया जाएगा। इसमें छात्राओं को 26 स्वर्ण पदक, 5 रजत, 3 एंडोमेंट तथा एक चांसलर पदक मिलेगा। 2020 में 35 पदकों में से 27 स्वर्ण, 5 रजत, 4 एंडोमेंट और एक चांसलर पदक दिया जाएगा। इसमें छात्राओं को 18 स्वर्ण, 3 रजत, 3 एंडोमेंट और एक चांसलर पदक दिया जाएगा। सभी मैडल होंगे चांदी के लेकिन इनमेंं से गोल्ड मेडल पर 0.3 मिलीग्राम का सोने का चढ़ा होगा मुलम्मा। चांसलर मैडल 30-30 ग्राम के होंगे जबकि शेष मैडल है 20-20 ग्राम चांदी के।