भरतपुर

प्रियंका गांधी के हिरासत में लेने के विरोध में भरतपुर में कांग्रेस पार्टी के द्वारा यूपी के आगरा-भरतपुर बॉर्डर पर मोदी – योगी का पुतला जलाया

Bharatpur News / राजेंद्र शर्मा जती ।भरतपुर में कांग्रेस पार्टी(Congress party in Bharatpur) के द्वारा यूपी के आगरा-भरतपुर बॉर्डर स्थित ऊंचा नगला पर लखीमपुर की घटना एवं कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi,)को हिरासत में लेने की घटना के विरोध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पुतला फूंक कर प्रदर्शन किया।

हालांकि उत्तरप्रदेश प्रशासन की सक्रियता को देखते हुए कांग्रेसियों के द्वारा राजस्थान बॉर्डर के अन्दर ही पुतला दहन किया गया।


कांग्रेसियों के द्वारा लखीमपुर खेरी तक पैदल मार्च करने का प्लान था। लेकिन राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी को रिहा कर दिया गया एवं पीडित
परिवार से मिलने दिया। जिसे लेकर कांग्रेसियों ने लखीमपुर खेरी जाने का निर्णय टाल दिया।

अभी कुछ दिनों पहले उत्तप्रदेश में किसानों पर कार चढाने को लेकर हर ओर विरोध प्रदर्शन चल रहा है। यह विरोध तब और बढ गया जब पीडित किसान परिवार से मिलने जा रही कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी को पुलिस ने हिरासत में ले लिया।

इस घटना के विरोध कांग्रेस के द्वारा जमकर विरोध
किया जा रहा है। किसानों पर कार चढाने की घटना एवं कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी को पुलिस ने हिरासत में लेने के विरोध में कांग्रेस के द्वारा विशाल प्रदर्शन भरतपुर के यूपी बोर्डर स्थित ऊंचा नगला पर किया गया।

इस प्रदर्शन में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गोविन्द
सिंह डोटासरा, जिला प्रभारी मंत्री महेश जोशी, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्य मंत्री डा. सुभाष गर्ग, गृह रक्षा राज्य मंत्री भजन लाल जाटव, पूर्व केबिनेट मंत्री विश्वेन्द्र सिंह, विधायक वाजिब अली, विधायक
जोगिन्दर सिंह अवाना, विधायक जाहिदा खान, विधायक वेदप्रकाश सोलन्की के नेतृत्व में हजारों कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने विरोध जताया।

प्रदेश अध्यक्ष गोविन्द सिंह डोटासरा ने सभा को संबांधित करते हुए कहा कि भाजपा सरकार किसानों के प्रति कितनी असंवेदन शील है इसका पता इसी से चल जाता है।

कि लखीमपुर में शान्तिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे किसानों पर कार चढाने से  तीन किसानों की मौत हो गई लेकिन अभी तक पुलिस ने आरोपियों को गिरफतार नहीं किया है।

जबकि पीडित किसान परिवार से मिलने जा रही कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव को पीडित परिवार से मिलने नहीं दिया गया उन्है हिरासत में ले लिया गया।

जिसके चलते सभी में आक्रोश है। उन्होने कहा कि भाजपा सरकार के द्वारा किसानों के हित में ना होने के बावजूद कृषि कानून को रदद नहीं किया जा रहा है।

जबकि किसान काफी समय से इन कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहै है। प्रदर्शन से पूर्व आयोजित सभा को प्रदेश अध्यक्ष गोविन्द सिंह डोटासरा, जिला प्रभारी मंत्री महेश जोशी, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्य मंत्री डा. सुभाष गर्ग, गृह रक्षा राज्य मंत्री भजन लाल जाटव, पूर्व कैबिनेट मंत्री विश्वेन्द्र सिंह, विधायक वाजिब अली, विधायक
जोगिन्दर सिंह अवाना, विधायक जाहिदा खान, विधायक वेदप्रकाश सोलन्की सहित
अन्य कांग्रेसी नेताओं ने सम्बोधित किया।

Reporters Dainik Reporters
[email protected], Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.