होलिका दहन करते समय चार युवक आग की तेज़ लपटों की चपेट में आने से झुलसे

Bharatpur/राजेन्द्र शर्मा जती। भरतपुर के निकटवर्ती उत्तरप्रदेश के कस्वा गोवर्धन में होलिका दहन के बाद उस समय रंग में भंग पड़ गया, जब आग की तेज लपटों की चपेट में आने से चार युवक झुलस गए।

इनमें से एक युवक ने आग को तेज करने के लिए होलिका की अग्नि में ज्वलनशील पदार्थ डाल दिया था, जिससे अचानक लपटें तेजी से उठी और चारों युवकों को लपेटे में ले लिया।

घटना देर रात की मेवाती मोहल्ले की बताई जाती है। होलिका दहन तो शाम को ही हो गया था, लेकिन वे शगुन के लिए होलिका की अग्नि लेने के लिए देर रात वहां पहुंचे थे। जब वे वहां पहुंचे तो होलिका की अग्नि लगभग ठंडी पड़ चुकी थी।

उन्होंंने उस ठंडी पड़ती अग्नि की मामूली चिंगारी को तेज करने के लिए ज्वलनशील पदार्थ का प्रयोग किया और उसमें डाल दिया।

जैसे ही ऐसा किया गया, अंदर की ओर धधक रही आग ने बड़ा रूप ले लिया और आग की लपटों से चारों युवक झुलस गए। घटना के दौरान तुरंत ही स्थानीय लोगों ने आग बुझाने का प्रयास किया। हालांकि तब तक वे काफी झुलस गए थे।

इनमें दो की हालत गंभीर है, जिन्हें भरतपुर के अस्पताल ले जाया गया, जबकि दो का इलाज गोवर्धन के अस्पताल में चल रहा है। घटना मे गोवर्धन के पंकज मित्तल व डीग के उमेशचंद अग्रवाल सहित दो अन्य युवक झुलसे। सूचना पर थाना प्रभारी निरीक्षक प्रदीप कुमार घटनास्थल पर पहुंचे। उन्होंने आसपास के सीसीटीवी निकलवाए हैं, जिसके आधार पर जानकारी जुटाई जा रही है।