हैवानियत : विरोध करने पर नाबालिग की हत्या कर सूखे कुएं में डाला

प्रतीकात्मक चित्र

Bharatpur /राजेन्द्र शर्मा जती।  भरतपुर के नदबई में हैवानियत की हदों को पार करते हुए कक्षा 3 में पढ़ने बाली 10 वर्ष की एक मासूम बेटी के साथ दुष्कर्म करने के बाद उसकी हत्या कर शव को एक सूखे कुए में फेंक दिए जाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। पुलिस अधीक्षक देवेंद्र कुमार बिश्नोई ने मामले के खुलासे के लिए सख्त हिदायत के साथ पुलिस की जिस टीम का गठन किया ।

उसने सनसनी फैलाने बाली घटना का मात्र 10 घण्टे में खुलासा कर मुल्जिम को गिरफ्तार कर लिया। बिश्नोई ने बताया कि हैवानियत की शिकार ये मासूम 24 मार्च को रात को करीब 7.30 बजे दुकान पर सौदा लेने गई थी जहां से 30 वर्षीय राजेश पुत्र कलुआ जाटव निवास खेडी देवीसिह थाना नदबई हाल महाराज सिह तेल मील के पास डहरा रोड ने उसका कर लिया ।

अपहरण और कोल्डड्रिंक पिलाने के बहाने उसे महाराज सिंह ऑयल मिल के पीछे ले गया जहा उसने मासूम के साथ दुष्कर्म कर विरोध करने पर गला घोटकर हत्या कर दी और नाबालिग के शव को पास ही हीरालाल के बोरिंग में डाल ऊपर से डाल दिये।

ईंट ब पत्थर।डहरा नदबई रोड पर स्थित एसएस ऑयल मिल में लगे सीसीटीवी कैमरा से खुला इस हैवानियत का राज। पुलिस ने एसडीआरएफ टीम की मदद से लाश को कुए से निकलवाया बाहर।

थानाधिकारी सेवर अरूण कुमार एवं थानाधिकारी नदबई श्रवण पाठक के साथ थाना नदबई स्टाफ की भूमिका रही सराहनीय।