घूंघट प्रथा उन्मूलन पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया

भरतपुर/राजेन्द्र शर्मा जती । महिला अधिकारिता विभाग एवं एस.के. शिक्षण एवं सामाजिक विकास संस्थान, चिचाना के द्वारा महिला सुरक्षा एवं सलाह केन्द्र भरतपुरएवं घूंघट प्रथा उन्मूलन पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया।

जिसमें मुख्य अतिथि अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक वंदिता राणा थी। जिनका स्वागत गुलदस्ता भेट कर किया गया तथा अन्य अतिथियों का माला पहनाकर स्वागात किया
गया।

कार्यशाला की अध्यक्षता रारह ग्राम पंचायत की सरपंच कुसुम मोहन रारह ने की, विशिष्ट अतिथि कांग्रेस के वरिष्ट नेता सुबोध चंसोरिया, महिला अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक अमित गुप्ता रहे।

इस अवसर पर एएसपी वंदिता राणा ने महिला सुरक्षा एवं सलाह केन्द्र के कार्यो की सरहाना की तथा महिला सुरक्षा एवं उसके अधिकारों पर विस्तार से जानकारी दी तथा घूघट कुप्रथा, दहेज उत्पीडन एवं घरेलू हिसा सहित समाज में महिलाओं विरूद्व अपराधों पर प्रकाश डाला उन्होने कहा कि पुरूष प्रधान समाज में महिलाएं बदलाब के लिए वडे स्तर पर संधर्ष कर रही है समस्या बडी है समाधान भी समय लेकर होगा।

इसके बाद महिला सुरक्षा एवं सलाह केन्द्र की काउंसलर उमा जैमिनी ने महिला सुरक्षा एवं सलाह केन्द्र के कार्यो पर
प्रकाश डाला उन्होने बताया कि केन्द्र पर अब तक 180 परिवाद प्राप्त हुए है जिनमें से 160 में राजीनामा के निस्तारण किया गया है, तथा 20 को विधिक
प्रक्रिया के लिए भेजा गया है।

इस प्रकार महिला सुरक्षा एवं सलाह केन्द्र महिलाओें के हित के लिए अच्छा कार्य कर रहा है। कार्यक्रम में कुसुम मोहन रारह संरपच ने घूॅघट कुप्रथा को रोकने के लिए पंचायत स्तर पर जन जागरण की जरूरत बताई।

महिला अधिकारिता के उपनिदेशक अमित गुप्ता ने विभागीय योजनाओं की जानकारी दी तथा महिला संरक्षण अधिकारी राजेश चैधरी ने वन स्टाॅप सेन्टर के बारे
में विस्तार से जानकारी दी तथा बताया कि वन स्टाॅप सेन्टर पर महिला सुरक्षा एवं सलाह केन्द्र की तर्ज पर कार्य करता है। यहा भी पीडित शोषित महिलाएं सहायता प्राप्त कर सकती है।

महिला थाना भरतपुर के एसएचओं रामसिंह यादव ने महिला सुरक्षा एवं सलाह केन्द्र के कार्यो की सराहना की उन्होने बताया कि महिला सुरक्षा एवं सलाह केन्द्र के माध्यम से थाना पर आये परिवादों में बहुत मदद मिलती है। क्योकि केन्द्र पर काउंसलिग कराकर परिवादियों का राजीनामा बहुत अच्छे तरीके से कराया जाता है। भरतपुर बार एसोशियन के पूर्व महासचिव राजस्थान उच्च न्यायालय के अधिवक्ता सुबोध चंद चंसौरिया ने बाल विवाह अधिनियम व घरेलू हिसा अधिनियम की जानकारी विस्तार से दी।

तथा कार्यक्रम का संचालन संस्थान अध्यक्ष सुरेन्द्र कुमार ने किया इस अवसर पर जगराम सिंह कमलेश कुमारी नीता कुमारी, शीतल कुमारी तथा 50 प्रतिभागी मौजूद थे।