भरतपुर

भरतपुर के बयाना में सांसद रनजीता के घर फायरिंग एंव धमकी भरा पत्र

Bharatpur News/राजेंद्र शर्मा जती। भरतपुर के बयाना में सांसद रनजीता के घर फायरिंग एंव धमकी भरा पत्र मिलने पर सांसद रनजीता कोली की तबियत बिगडने पर सांसद रंजीता कोली को इलाज के लिए जिला आरबीएम अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

जिला कलक्टर हिमांशु गुप्ता एवं जिला पुलिस अधीक्षक देवेन्द्र कुमार विश्नोई भी सांसद की कुशलक्षेम पूछने जिला अस्पताल पंहुचे।

भरतपुर सांसद रंजीता के आवास पर देर रात कुछ अज्ञात बदमाशों ने फायरिंग कर दी थी जिसके बाद तबियत बिगडने पर उन्है इलाज के लिए बयाना के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर भर्ती कराया गया था। हालत में सुधार ना
होते देख।

सांसद रनजीता कोली को बुधवार सुबह जिला आरबीएम अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बदमाशों ने सांसद रनजीता कोली के निवास पर उनके पोस्टर पर क्रॉस का निशान लगाया और उस पर एक जिंदा कारतूस चिपकाया साथ ही जान से मारने का एक धमकी भरा लेटर भी छोड़ गए।

इस घटना के बाद सांसद और उनका परिवार दहशत में हैं। जब सांसद रनजीता कोली ने धमकी भरे लैटर को पढा
तो उनकी तबीयत बिगड़ने लगी। सांसद को बयाना के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर भर्ती करवाया गया। सांसद रनजीता कोली ने बताया कि कल साढ़े 9 बजे के करीब वह भरतपुर से आई थीं। खाना खाकर साढ़े 11 बजे या 12 बजे के करीब सभी सोने की तैयारी करने लगे तभी नीचे से आवाज आई।

आवाज बहुत तेज जैसे किसी ने फायर किया हो। नीचे के हिस्से में सांसद की जेठानी रहती हैं, वह घर पर नहीं थीं, इसलिए वह खुद ही नीचे देखने के लिए चली गईं।

जैसे उन्होंने घर का गेट खोला तो सामने ही उनका पोस्टर लगा हुआ था, जिस पर गोलियां चिपकी हुई थीं। उसे देख सांसद की तबीयत बिगड़ गई। जब यह घटना
हुई तो सांसद के दोनों गनमैन उनके घर पर नहीं थे, जिसके बाद उनके निजी सचिव ने उनकी अनुपस्थिति डाल दी है।

सांसद रंजीता कोली की सिक्योरिटी के लिए 2 गनमैन 24 घंटे उनकी सुरक्षा के लिए रहते हैं, लेकिन घटना के समय
दोनों का कोई अता पता ही नहीं था। बदमाशों ने घटना के बाद सांसद के घर एक धमकी भरा लेटर छोड़ा, जिसमें लिखा हुआ था कि दलित है, दलित बनकर रह। सारी
सांसद गिरी निकाल देंगे। पहले तो एक छोड़ दिया तो नहीं मानी।

औकात में रह, तेरे को न तो अंबेडकर बाबा साहब बचाएगा और न मोदी और शाह। यह तो सिर्फ एक
ट्रेलर है। अगली बार तेरे अंदर गोलियां भर देंगे। सांसद रंजीता कोली केभाई दीपक कुमार ने बताया की सांसद कुछ जनहित के मुद्दे उठा रही हैं। इसकोलेकर कई लोगों के अवैध कारोबार बंद हो जाएंगे। अंदाजा लगाया जा रहा है कि उन्हीं लोगों ने यह काम किया है। इस मामले में तफ्तीश की जा रही है।

पुलिस ने अपनी तरफ से एक मामला दर्ज किया है। आरोपियों का पता लगाया जा रहा है। 5 महीने भी सांसद रंजीता कोली की गाड़ी पर कुछ बदमाशों ने हमला
किया था। सांसद रात के समय अस्पतालों का निरीक्षण करने जा रही तो उनकी गाड़ी पर कुछ बदमाशों ने हमला कर दिया था। यह मामला उन्होंने हलैना थाने में दर्ज करवाया था।

पांच महीने बीत जाने के बाद भी उन आरोपियों का अभी
तक कुछ पता नहीं लग पाया है। फिलहाल हालत में सुधार ना होने पर सांसद रनजीता कोली को इलाज के लिए जिला आरबीएम अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
सांसद की सूचना मिलते ही जिला कलक्टर हिमान्शु गुप्ता एवं पुलिस अधीक्षक देवेन्द्र कुमार विश्नोई भी जिला अस्पताल पंहुचे। जिला पुलिस अधीक्षक देवेन्द्र कुमार विश्नोई ने बताया कि इस घटना को लेकर मामला दर्ज कर लिया गया है। फिलहाल पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी हुई है।

Reporters Dainik Reporters
[email protected], Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.