सीआरपीएफ के जवान भूपेंद्र का मंगलवार को राजस्थान में भरतपुर के पथैना गांव में अंतिम संस्कार हुआ

भरतपुर/ राजेन्द्र शर्मा जती । जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में अवंतीपोरा इलाके के लेथपोरा में अपनी सर्विस राइफल से खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर लेने बाले सीआरपीएफ (CRPF) के जवान भूपेंद्र का मंगलवार को राजस्थान में भरतपुर के पथैना गांव में अंतिम संस्कार कर दिया गया। जबान के पैतृक गांव में हुए इस अंतिम संस्कार में राज्य मंत्री भजन लाल जाटव सहित पुलिस ब प्रशासन के कई अधिकारी भी मौजूद रहे।

बताया जा रहा है कि बे पारिवारिक क्लेश की वजह से वह काफी दिनों से परेशान चल रहे थे। जिससे तंग आकर उन्होंने 6 नवंबर की देर रात अपनी सर्विस राइफल से खुद को गोली मार ली। सोमवार सुबह जब भूपेंद्र की मौत की खबर लगी तो पूरे गांव में शोक की लहर दौड़ गई।

देर रात जवान का शव पैतृक गांव पथैना लाया गया जहां मंगलवार सुबह उसको अंतिम विदाई दी गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार भूपेंद्र ने खुदकुशी से पहले सुसाइड नोट भी लिखा। इसके बाद उन्होंने स्थानीय पुलिस को फोन कर बताया कि वह सुसाइड करने वाले हैं। इस पर पुलिस ने कंट्रोल रूम में इसकी सूचना दी। जब तक पुलिस और सीआरपीएफ के जवान उसके पास पहुंचे तब उसने आत्महत्या कर ली।

बताया गया है कि भूपेंद्र का एक छोटा भाई जितेंद्र एसएसबी फोर्स में तैनात है। भूपेंद्र के दो बच्चे हैं। इनमें लड़की की उम्र 13 साल है और लड़के की उम्र 10 साल है। भूपेंद्र के पिता का करीब 1 साल पहले निधन हो चुका है। भूपेंद्र की पत्नी और उसके छोटे भाई की पत्नी दोनों सगी बहनें हैं। घर में भूपेंद्र की मां भी रहती है।