भरतपुर विधानसभा क्षेत्र में चम्बल पेयजल योजना प्रगति समीक्षा बैठक आयोजित

भरतपुर/राजेन्द्र शर्मा जती। तकनीकी एवं संस्कृत शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने बुधवार को भरतपुर विधानसभा क्षेत्र में पेयजल एवं चम्बल परियोजना की प्रगति समीक्षा बैठक लेकर अधिकारियों को निर्देश दिये कि शेष रहे कार्यों को समय पर पूरा करें ताकि लोगों को समय पर पेयजल मुहैया हो सके। उन्होंने अवैध नल कनेक्शन करने …

भरतपुर विधानसभा क्षेत्र में चम्बल पेयजल योजना प्रगति समीक्षा बैठक आयोजित Read More »

October 27, 2021 3:03 pm

भरतपुर/राजेन्द्र शर्मा जती। तकनीकी एवं संस्कृत शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने बुधवार को भरतपुर विधानसभा क्षेत्र में पेयजल एवं चम्बल परियोजना की प्रगति समीक्षा बैठक लेकर अधिकारियों को निर्देश दिये कि शेष रहे कार्यों को समय पर पूरा करें ताकि लोगों को समय पर पेयजल मुहैया हो सके। उन्होंने अवैध नल कनेक्शन करने वालों के खिलाफ पुलिस में एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश भी दिए।

डॉ. गर्ग ने चम्बल पेयजल योजना की प्रगति समीक्षा बैठक में परियोजना के अधीक्षण अभियंता एच के अग्रवाल को निर्देश दिए कि जो संवेदक समय पर कार्य शुरू नही कर रहे हैं उन्हें नोटिस देकर ब्लैक लिस्ट करने की कार्यवाही प्रारम्भ करें तथा पूर्व में कार्य कर रही कम्पनी द्वारा पाईप एवं अन्य सामान उपलब्ध नहीं कराने पर उसके स्टोर का नियमानुसार ताला खोलकर कम्पनी के संचालक के खिलाफ पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराएं। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि जिन 34 गॉवों में चम्बल की पाईप लाईन डाली जा चुकी हैं उनमें सडकों की मरम्मत के कार्य प्रारम्भ कराएं ताकि लोगों को आवागमन में कोई परेशानी नहीं हो।

तकनीकी एवं संस्कृत शिक्षा राज्य मंत्री ने निर्देश दिए कि जिन छोटे गॉवों में पेयजल उपलब्धता के लिये कोई संसाधन अथवा स्रोत नही हो उनमें सोलर पंप लगाकर पेयजल सप्लाई करें। उन्होंने शहर की विजयनगर कॉलोनी वर्षा जल निकासी के बाद नया ट्यूवेल लगाने का कार्य प्रारम्भ करें।

उन्होंने जल-जीवन योजना के तहत ग्रामीणों द्वारा कनेक्शन लेने के लिये गॉवों में विशेष शिविर लगाने के निर्देश देते हुए कहा कि जिन गॉवों में चम्बल परियोजना की पाईप लाईन बिछाई जा चुकी है उनमें जल-जीवन योजना के तहत किए जाने वाले कार्यों को प्रारम्भ कराएं।

बैठक में चम्बल परियोजना के अधीक्षण अभियंता ने बताया कि भरतपुर विधानसभा क्षेत्र के 34 गॉवों में पाईप लाईन डालने के बाद पेयजल सप्लाई प्रारम्भ कर दी है और हथेनी, बिलौठी, नगला बिलौठी व धौरमुई में कार्य प्रगति पर है तथा पीपला सहित 10 गॉवों में कार्य शीघ्र प्रारम्भ हो जायेगा।

उन्होंने बताया कि नई 154 किलोमीटर लम्बी पाईप लाईन के आदेश जारी कर दिए हैं जिसकी आपूर्ति शीघ्र प्राप्त हो जाएगी। उन्होंने फतेहपुर-सीकरी रोड़ पर बसी कॉलोनियों में चम्बल पाईप लाईन डालने के लिये राष्ट्रीय राजमार्ग को पार करने के लिये राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण से स्वीकृति प्राप्त की जा रही है। इसी प्रकार बहनेरा एवं बरसो गॉव में भी स्वीकृति के बाद कार्य प्रारम्भ हो सकेगा।

इस बैठक में नगर निगम के मेयर अभिजीत कुमार, चम्बल परियोजना के अधीक्षण अभियंता एच के अग्रवाल , जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अधीक्षण अभियंता हेमन्त कुमार , अधिशाषी अभियंता रविन्द्र सिंह, सहायक अभियंता मनोज पाराशर एवं सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित थे।

Prev Post

कोटा कलेक्टर उज्जवल राठौड की सराहनीय पहल

Next Post

अब स्कूलों में अनुपस्थित रहने वाले शिक्षको का कटेगा वेतन और रूकेगी वेतनवृद्धि

Related Post

Latest News

गहलोत कल मिलेंगे सोनिया से,राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए कल नहीं भरे जाऐंगे नामांकन, क्यों
देश को 9 माह बाद मिला नया CDS 
राजस्थान में भी CM गहलोत ने राज्य कर्मचारियों को दिवाली की सौगात बढ़ाया डीए खबर पर मोहर

Trending News

प्रिंसिपल डाॅ. खटीक पुनः बने जिलाध्यक्ष 
केंद्र सरकार ने कर्मचारियों को दीपावली का तोहफा बढ़ाया DA, राजस्थान मे भी अब..
राजस्थान में 4 बच्चों की डूबने से मौत
Ban on 8 affiliated organizations including PFI in the country, know

Top News

प्रिंसिपल डाॅ. खटीक पुनः बने जिलाध्यक्ष 
गहलोत कल मिलेंगे सोनिया से,राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए कल नहीं भरे जाऐंगे नामांकन, क्यों
देश को 9 माह बाद मिला नया CDS 
राजस्थान में भी CM गहलोत ने राज्य कर्मचारियों को दिवाली की सौगात बढ़ाया डीए खबर पर मोहर
बच्चियों को कहा मत दो वोट,पाकिस्तान चली जाओ -IAS हरजोत कौर
राजस्थान शिक्षा विभाग- घोटालेबाज बाबू डेढ माह से नही आ रहा ड्यूटी पर लापता, DEO बचा रहे है या... ?
राजस्थान शिक्षा विभाग- लाखों का घोटाला फिर भी अब तक दोषी प्रिंसिपल पर कार्यवाही क्यो ?
केंद्र सरकार ने कर्मचारियों को दीपावली का तोहफा बढ़ाया DA, राजस्थान मे भी अब..
राजस्थान में 4 बच्चों की डूबने से मौत
Ban on 8 affiliated organizations including PFI in the country, know