बेटियों के संरक्षण, संस्कार और सम्मान के लिए हर व्यक्ति संकल्प ले- हंसरामजी

  • लाड़ली बिटिया अभियान के बैज व स्टीकर का विमोचन

Bhilwara News (मूलचन्द पेसवानी ) – बेटियों के संरक्षण, संस्कार और सम्मान के लिए हर व्यक्ति को संकल्प लेना होगा। इस सेवा भाव के लिए युवा पीढ़ी को संस्कार देने की जरूरत है। यह विचार हरिशेवा धाम के महंत महामंडलेश्वर हंसराम जी उदासीन ने आज लाड़ली बिटिया अभियान के स्टीकर व बैज का विमोचन करने के बाद आयोजित समारोह में व्यक्त किए। महामंडलेश्वर हंसराम जी के साथ ही सात बेटियों ने भी बैज व स्टीकर का विमोचन किया।

महामंडलेश्वर हंसराम जी ने कहा कि बेटियों के संरक्षण, संस्कार और सम्मान के लिए यह सेवा का काम अनुकरणीय है। कार्यक्रम में महामंडलेश्वर हंसराम जी ने प्रदेश स्तरीय सात दिवसीय स्काउट-गाइड शिविर में भाग लेने आए एसटीसी कॉलेज स्टूडेंट्स को संकल्प दिलाया गया कि वे बेटियों के संरक्षण, संस्कार व सम्मान के लिए अपने-अपने क्षेत्र में कार्य करेंगे। संस्थापक संयोजक ललित ओझा ने बताया कि आज बेटियों को बेटों से कमतर आंका जाता है।

इन हालात को बदलने के लिए लाड़ली बिटिया अभियान का पहला मकसद है बेटियों के पिता को अपने घर में बेटी होने के गर्व का अहसास करवाना है। फिर इनके संरक्षण, संस्कार व सम्मान के लिए काम करना। कार्यक्रम में हरिशेवा धाम के संत मयारामजी, रवि जाजू, अभियान के सदस्य अतुल शर्मा, महेश पारीक, पवन अजमेरा, संजय झा, सुरेंद्र जैन, केएल गिल्होत्रा, मनीष बहेडिया, रामस्वरूप सेन, राजनारायण पाठक, रामानुज सारस्वत, प्रदीप व्यास, कन्हैयालाल स्वर्णकार, लोकेश तिवारी, नरेश उपाध्याय आदि उपस्थित थे।