बंगले में चल रहे सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, 11 युवतियों व दलाल दंपती सहित 17 गिरफ्तार

Bhilwara News ( मूलचन्द पेसवानी) – भीलवाड़ा शहर में लंबे समय बाद मंगलवार को पुलिस ने देह व्यापार के कारोबार पर कार्रवाई की है। देह का यह धंधा अजमेर रोड पर एक पॉश कॉलोनी के एक मकान में पिछले 3 माह से चल रहा था। पुलिस ने 11 लड़कियों, एक दंपती और 4 दलालों सहित कुल 17 लोगों को गिरफ्तार किया है। पकड़ी गई युवतियों में उत्तरप्रदेश, दिल्ली, नेपाल के साथ ही एक युवती भीलवाड़ा की शामिल हैं। पुलिस ने मकान से 74 किलो गांजा, 15 मोबाइल, दो कारें भी जब्त की है। उधर, इस कार्रवाई के बाद इस तरह के कारोबार में लिप्त महिलाओं व दलालों में खलबली मच गई। कई लोग भूमिगत हो चुके हैं। पुलिस ने गांजा जब्त होने की अलग से मामला पंजीबद्व कर कार्रवाई प्रारंभ की है।

पुलिस अधीक्षक हरेंद्र महावर ने प्रेसवार्ता में मामले का खुलासा किया। महावर ने बताया कि पुलिस की स्पेशल टीम को सूचना मिली कि नेपाल, दिल्ली, असम आदि इलाकों से अवैध रूप से लाई गई युवतियों व महिलाओं से अजमेर रोड पर बड़लियास हाउस के नजदीक स्थित समन्वय रिवर व्यू कॉलोनी के बंगला नंबर 87 विला में देह व्यापार करवाया जा रहा है। सूचना पर पुलिस ने इस बंगले पर निगाह रखी। इसके बाद आज एएसपी राजेश मीणा के नेतृत्व में चार थानों की पुलिस ने एक साथ इस बंगले को घेरने के बाद दबिश दी। मौके पर 11 युवतियां, दलाल दंपती के साथ ही 4 दलालों को पुलिस ने पकड़ा।

बंगले की तलाशी में 15 मोबाइल, 74 किलो गांजा, बीयर की बोतलें, कंडोम आदि सामग्री मिली, जिसे पुलिस ने जब्त कर सभी 17 आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। पकड़ी गई युवतियों में नेपाल, दिल्ली, उत्तरप्रदेश व भीलवाड़ा जिले के एक कस्बे की युवती शामिल है। इसके अलावा पुलिस ने युवतियों को लाने-ले जाने के काम ली जाने वाली दो लग्जरी कारें एस-क्रॉस व आई-20 भी जब्त की है।

ये दलाल चढ़े हत्थे-इस गिरोह का मुख्य सरगना तिलकनगर निवासी दुर्गालाल पुत्र धन्नालाल गुर्जर, सीता नायक, सतलाना, जौधपुर निवासी ओमप्रकाश पुत्र मांगीलाल पटेल, देवीलाल पुत्र उदयलाल गुर्जर भड़किया कोटड़ी, ईश्वर पुत्र नारायण सालवी (बलाई) बी सेक्टर आजादनगर, प्रमेश्वर पुत्र रामदयाल खटीक निवासी बामणिया शामिल हैं।
दस साल से चला रहे थे कारोबार-मुख्य आरोपित दुर्गालाल गुर्जर ने पुलिस पूछताछ में कबूल किया कि उसके द्वारा वैश्यावृत्ति का यह कारोबार विगत दस साल से अलग-अलग जगह किराये के मकान लेकर चला रहे थे।

इस धंधे में उसकी पत्नी सीता नायक का भी बराबर की सहयोगी थी। दिल्ली के दलालों से था संपर्क-आरोपित दुर्गालाल ने कबूल किया कि इस कार्य के लिए वह देश की राजधानी दिल्ली और प्रदेश की राजधानी जयपुर के मुख्य दलालों के संपर्क में था। उनसे संपर्क कर वह भीलवाड़ा और अन्य जगहों पर इन स्थानों से लड़कियों को बुलाता था।

सोशल मीडिया का लेते सहारा-मुख्य दलाल दुर्गालाल ने कबूल किया किवह इस धंधे के लिए सोशल मीडिया वाट्सएप्प का सहारा लेता था। वह वाट्सएप्प पर ग्राहकों को लड़कियों की फोटो भेजा करता था। इसके बाद वह लड़कियों को होटलों व अन्य स्थानों पर ग्राहकों की चॉइस के मुताबिक भिजवाता था। इसके बदले वह मोटी रकम वसूलता था।

दो बार पहले पकड़ा गया-एसपी हरेंद्र महावर ने बताया कि दलाल दुर्गालाल पूर्व में दो बार दलाली करता पकड़ा गया था। यह कार्रवाई सुभाषनगर ओर प्रताप नगर पुलिस ने की थी।

होटलों में होती थी सप्लाई-पुलिस र्कारवाई के बाद यह बात सामने आई कि मकान में वेश्यावृत्ति का धंधा होता ही था, लेकिन पंडेर, नेपाल व उत्तरप्रदेश से आने वाली युवतियों को यहां ठहराने के साथ ही उन्हें शहर की होटलों व रिसोर्टों में मांग के अनुरूप सप्लाई किया जाता था। शहर की कई अच्छी होटलों में भी इन युवतियों की सप्लाई होती थी।

छह दिन से पुलिस कर रही थी रैकी-एएसपी राजेश मीणा ने बताया कि पुलिस छह दिन से इस स्थान की रैकी कर रही थी। आज सभी लोगों के मकान में जमा होने की सूचना पर चार थानों की पुलिस ने मकान को घेरा और दबिश देकर इस कार्रवाई को अंजाम दिया। मकान में एक प्रेस लिखी मोटरसाइकिल भी मिली हैं।

मकान में लंबे समय से चल रहा था सेक्स रैकेट-पड़ोसियों ने बताया कि यह मकान कुछ साल पहले बिका था। उससे पूर्व यहां देह व्यापार खुलेआम होता था। मकान बिकने के बाद यहां देह व्यापार चलाने की भनक तक पड़ोसियों को नहीं लगी। आज जब कार्यवाही के बाद उन्हें यह जानकारी मिली तो वे भी अचंभित रह गए।

मकान मालिक पर भी होगी कार्रवाई-पुलिस अधीक्षक महावर ने बताया कि जिस मकान में यह रैकेट और मादक पदार्थ पकड़ा गया। उसके मालिक के खिलाफ भी कार्रवाई की जायेगी। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है। साथ ही यह भी जांच चल रही है कि गांजा कब और किसने रखा और गांजा लाने और रखने के पीछे मकसद क्या था।
लड़कियों को धंधे में धकेलने में गिरोह का हाथ तो नही?
पुलिस अधीक्षक ने कहा कि देह व्यापार के इस कारोबार में लिप्त पाई गई लड़कियों के घरों की तस्दीक की जायेगी। साथ ही यह भी जांच की जायेगी कि इन लड़कियों को इस धंधे में कि सी संगठित गिरोह द्वारा तो नहीं धकेला गया। अगर किसी गिरोह की लिप्तता सामने आती है तो उस पर भी पुलिस कार्रवाई करेगी।

शहर के कई बड़े लोग हो सकते हैं शामिल

सूत्रों का कहना है कि दलालों और महिलाओं के पुलिस ने 15 मोबाइल जब्त किये हैं। चर्चा है कि इस गिरोह के संपर्क में शहर के कई बड़े सफेद पॉश लोग, जिनमें कुछ होटल व्यवसायी, उद्यमी आदि भी शामिल हैं। इस गिरोह का भंडाफोड़ होने के साथ ही जब खबरें बाजार में आई तो कई बड़े लोग जानकारों को फोन कर जानकारी लेते रहे।

Previous articleक्रिकेट पर खाईवाली करते तीन जने गिरफ्तार, 34 हज़ार 300 रुपए की राशि बरामद
Next articleपायलट ने फिर साधा निशाना, कहा जिम्मेदारी तय करनी पड़ेगी
Firoz Usmani Tonk : परिचय- पत्रकारिता के क्षेत्र में पिछले 15 वर्षो से संवाददाता के रूप में कार्यरत हुंॅ, 9 साल से राजस्थान पत्रिका ग्रुप के सांयकालीन संस्करण (न्यूज़ टुडे) में जिला संवाददाता के रूप से कार्य कर रहा हंू। राजस्थान पत्रिका न्यूज़ चैनल में भी अपनी सेवाएं देता रहा हूं। एवन न्यूज चैनल में भी संवाददाता के रूप में कार्य किया है। अपने पिता स्व. श्री मुश्ताक उस्मानी के सानिध्य में पत्रकारिता की क्षीणता के गुण सीखें। मेरे पिता स्व.श्री मुश्ताक उस्मानी ने भी 40 वर्षो तक पत्रकारिता के क्षैत्र में कार्य किया है। देश के कई बड़े न्यूज़ पेपर से जुड़े रहे। 10 वर्ष दैनिक भास्कर में ब्यूरों चीफ रहें।